AtalHind
क्राइमगोवाटॉप न्यूज़

बेटे की ‘कातिल’ Suchana Seth शव के साथ रहना चाहती थी

बेटे की ‘कातिल’ Suchana Seth शव के साथ रहना चाहती थी

Son’s ‘murderer’ Suchana Seth wanted to stay with the dead body

Suchana Seth गोवा :सूचना सेठ का मामला लगातार सुर्खियों में है. बेंगलुरु की इस महिला पर अपने चार साल के बेटे की हत्या का आरोप है. लोगों के जेहन में यह सवाल लगातार कौंध रहा है कि आखिर एक मां अपने बच्चे को कैसे मार सकती है? बेटे की हत्या करने की आरोपी सूचना सेठ को लेकर कई नई बातें सामने आ रही हैं. इस बीच पुलिस ने इस मामले में नए खुलासे किए हैं.

4 साल के बेटे की हत्या करने वाली सूचना सेठ से गोवा पुलिस लगातार पूछताछ कर रही है। उसके रिमांड की अवधि 5 दिन के लिए बढ़ा दी गई है। वहीं गोवा के कैलंगुट पुलिस थाने के इंस्पेक्टर परेश नाइक और उनकी टीम पिछले 6 दिन से पुलिस सूचना सेठ के दिमाग में झांकने, उसकी जुबान खुलवाने की कोशिश कर रही है, लकिन वह सहयोग नहीं कर रही। हालांकि उससे पूछताछ में कई बातें सामने आई हैं, लेकिन वह बार-बार बयान बदल रही है और बेटे की हत्या से इनकार कर रही है, फिर भी उसने जो कुछ बताया, उसकी जांच पड़ताल की जा रही है।Son’s ‘murderer’ Suchana Seth wanted to stay with the dead body

बेटे की लाश लेकर बेंगलुरु क्यों जा रही थी?
पुलिस सूत्रों के अनुसार, सूचना सेठ बेटे को मारने के बाद 22 घंटे तक कमरे में शव के साथ रही। फिर बेटे के शव उसके कपड़ों-खिलौनों के साथ सूटकेस में पैक किया और उसे लेकर बेंगलुरु के लिए निकल गई। वह शव को अपने बेंगलुरु वाले घर में रखती और तब तक उसे संभालती, जब तक सच का खुलासा नहीं हो जाता।

Advertisement

सूचना सेठ की जिद थी कि मरने के बाद भी वह बेटे को साथ रखेगी। इस खुलासे ने पुलिस को इतना परेशान किया कि अब सूचना से मनोचिकित्सक की मौजूदगी में पूछताछ की जा रही है, लेकिन पुलिस को अभी तक यह पता नहीं चला कि आखिर वह शव के साथ क्या करती?

सूचना सेठ को पति से नफरत क्यों थी?
पुलिस सूत्रों ने बताया कि सूचना सेठ की अपने पति से रोज लड़ाई होती थी। वह उससे नफरत करती थी, क्योंकि पति उसे प्यार नहीं करता था। शुरू में सब ठीक था, लेकिन सूचना के मुताबिक, बेटे के जन्म के बाद पति वेंकट रमन का व्यवहार बदल गया था। वह अलग कमरे में सोने लगा था। साथ सोने की जिद करने पर भी वह कोई न कोई बहाना बनाकर टाल देता था। वह बेटे की जिम्मेदारी नहीं उठाता था। इसी वजह से उनकी लड़ाई होती थी, जो कोर्ट तक पहुंच गई।

‘मैं बर्दाश्त नहीं कर सकती…’, ‘कातिल’ मां के घर से मिला खत, बेटे को क्यों मारा? साफ-साफ लिखा है कारण
Suchana Seth News: गोवा के होटल में अपने चार साल के बेटे की हत्या करने वाली आरोपी मां सूचना सेठ को लेकर एक और बड़ा खुलासा हुआ है. जिस अपार्टमेंट में अपने बेटे के साथ बेंगलुरु बेस्ड कंपनी की सीईओ सूचना सेठ रहती थीं, वहां से पुलिस को एक हाथ से लिखा लेटर मिला है. इस लेटर से ही हत्या का कारण पता चल जा रहा है. गोवा पुलिस ने कहा कि उन्हें उस सर्विस अपार्टमेंट से एक खत मिला है, जहां सुचना सेठ रहती थीं. खत में लिखा है- मैं अपने पति को बेटे से मिलने वाले कोर्ट का आदेश बर्दाश्त नहीं कर सकती.’
इंडिया टुडे की खबर के मुताबिक, गोवा पुलिस ने हाथ से लिखे खत को सील कर हैंडराइटिंग एक्सपर्ट से जांच के लिए फोरेंसिक साइंस लेबोरेटरी (एफएसएल) भेज दिया है. इसके बाद पुलिस हत्या की गुत्थी सुलझाने में जुट गई है. बता दें कि सूचना सेठ पर आरोप है कि उन्होंने ही अपने चार साल के बेटे की हत्या की है. इससे पहले सूत्रों ने बताया था कि सुचना सेठ ने अपने बेटे की इसलिए हत्या कर दी, क्योंकि वह नहीं चाहती थीं कि कोर्ट के आदेश के बाद उनका पति बेटे से मिले. इतना ही नहीं, सूत्रों ने यह भी दावा किया कि बेटे की शक्ल सूचना को उनके पति संग संग रिश्ते की याद दिलाती थी, इसलिए उन्होंने बेटे की हत्या कर दी.

Advertisement

Suchana Seth News: सूचना सेठ, शव वाला बैग और वो तीसरा शख्स… रास्ते में कब-क्या हुआ, ‘कातिल’ मां की कहानी, ड्राइवर की जुबानी

गोवा में अपने चार साल के बेटे की हत्या करने वाली आरोपी मां सूचना सेठ के उस कैब ड्राइवर का पता चल गया है, जिसकी गाड़ी से वह गोवा से कर्नाटक जा रही थी और उसी दौरान उसे गिरफ्तार किया गया था. गोवा से जिस ट्रैक्सी को किराए पर लिया था, उसके ड्राइवर ने पुलिस को दिए अपने बयान में कहा कि सूचना सेठ गोवा से कर्नाटक के चित्रदुर्ग तक की पूरी सड़क यात्रा के दौरान शांत रही, जहां उसे अपने चार साल के बेटे की कथित तौर पर हत्या करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया. जिस गाड़ी से सूचना सेठ ट्रैवल कर रही थी, उसी में बैग में बच्चे का शव था और ड्राइवर के साथ उसका दोस्त भी था.
अपने बयान में ड्राइवर रेजॉन डिसूजा ने कहा कि जब बेंगलुरु जाते समय पुलिस स्टेशन में उनकी गाड़ी रुकी थी या फिर जब पुलिस को सूचना सेठ के बेटे का शव मिला था, तब भी सूचना सेठ ने कोई रिएक्ट नहीं किया था. बता दें कि बेंगलुरु में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस स्टार्ट-अप की सीईओ सूचना सेठ ने 6 जनवरी को गोवा के कैंडोलिम में एक होटल में चेक इन किया था और 8 जनवरी तक वहां रुकी थी. उसने कथित तौर पर अपार्टमेंट में अपने बेटे की हत्या कर दी और शव को एक बैग में भर दिया और सड़क मार्ग से बेंगलुरु ले जाने की योजना बना रही थी. तभी उसे गिरफ्तार कर लिया गया.

Advertisement

किराए पर टैक्सी
आरोपी सूचना सेठ ने 8 जनवरी की रात को होटल से एक टैक्सी किराए पर ली. जबकि होटल के कर्मचारियों ने उसे समझाया था कि रोड की बजाय उसे फ्लाइट का विकल्प सस्ता पड़ेगा. पुलिस को दिए अपने बयान में ड्राइवर डिसूजा ने कहा कि उन्हें आधी रात के आसपास सूचना सेठ की बुकिंग मिली. रात होने की वजह से डिसूजा ने कहा कि उन्होंने अधिक किराया बताया और सूचना सेठ 10 मिनट के भीतर ही इसके लिए तैयार हो गई.

बैग भारी होने पर ड्राइवर को हुआ था शक
डिसूजा ने कहा कि वह यात्रा के लिए एक और ड्राइवर को साथ ले गए क्योंकि यह लंबी यात्रा थी. वह ड्राइवर उनका दोस्त ही था. एक घंटे के अंदर डिसूजा सूचना सेठ को लेने होटल सोल बनयान गार्डन पहुंच गए. उन्होंने बयान में कहा कि इस दौरान आरोपी मां का आचरण शांत और संयमित था. डिसूजा ने कहा कि सूचना सेठ का सामान कार में लोड करते समय उन्होंने पाया कि लाल बैग अपेक्षाकृत भारी था और उन्होंने उससे इसका जिक्र किया. इस पर सूचना सेठ ने जवाब दिया कि लाल बैग में कुछ प्राचीन वस्तुएं और कांच हैं, इसलिए यह भारी है.

जब जाम में फंस गई थी कार
डिसूजा ने कहा कि वे कुछ घंटों बाद चोरला घाट पहुंचे और पास में एक सड़क हादसे की वजह से भारी ट्रैफिक जाम में फंस गए. ड्राइवर ने कहा, ‘मैंने सुझाव दिया कि मैं आपको एयरपोर्ट पर छोड़ दूंगा क्योंकि वह करीब था और कहा कि जाम चार घंटे के बाद ही खुल पाएगा. मगर उन्होंने मेरी बात नहीं मानी और कार में ही रहने की जिद की.’ डिसूजा ने बयान में कहा, ‘इस दौरान वह शांत रही.’ उन्होंने कहा कि वे सुबह करीब सात बजे गोवा-कर्नाटक सीमा पर नाश्ते के लिए रुके, लेकिन सुचना सेठ कार से बाहर नहीं निकली और उसी स्थान पर बैठी रही.

Advertisement

सूचना ने पुलिस को गुमराह किया
तब तक उधर गोवा में होटल के कर्मचारियों को सूचना सेठ द्वारा चेक आउट किए गए कमरे में खून के धब्बे मिल चुके थे और उन्होंने इसकी जानकारी पुलिस को दे दी थी. सुबह 11 बजे गोवा पुलिस के एक कांस्टेबल ने सूचना सेठ से बात करने के लिए डिसूजा को फोन किया. ड्राइवर ने कहा कि पुलिस ने सूचना सेठ से उसके बेटे के बारे में पूछा और महिला ने शांति से पुलिस को एक लोकल अड्रेस बताया और दावा किया कि चार साल का बच्चा वहीं है.
ड्राइवर ने दिखाई चालाकी
जब पता फर्जी निकला तो एक पुलिस इंस्पेक्टर ने डिसूजा को फोन किया और उससे कोंकणी में बात की ताकि सूचना सेठ को भनक न लगे कि क्या बात हो रही है. डिसूजा को तुरंत अगले पुलिस स्टेशन जाने के लिए कहा गया. पुलिस से बातचीत के बाद नजदीकी पुलिस स्टेशन के बारे में जानने के लिए समय निकालने के लिए डिसूजा रास्ते में एक रेस्तरां में रुके और अपने दोस्त ड्राइवर से, जिसे वह अपने साथ लाए थे, सूचना सेठ पर नजर रखने के लिए कहा. डिसूजा ने नजदीकी पुलिस स्टेशन की जानकारी के लिए गूगल सर्च किया और रेस्तरां के गार्ड से नजदीकी पुलिस स्टेशन का रास्ता भी पूछा. बयान में कहा गया है कि उन्होंने गार्ड से हिंदी में बात की.

कैसे पुलिस स्टेशन तक पहुंचा ड्राइवर
इसके बाद गार्ड ने डिसूजा को पता बताया और पुलिस स्टेशन के लिए 500 मीटर और गाड़ी चलाने को कहा. तभी सूचना सेठ ने ड्राइवर के दोस्त से पूछा कि वह कहां है. इसके बाद डिसूजा के दोस्त ने बताया गया कि वह अभी बाथरूम गया है. इसके बाद डिसूजा वापस लौटे और फोन पर पुलिस इंस्पेक्टर से बातचीत के दौरान वह पुलिस स्टेशन में दाखिल हो गए. पुलिस स्टेशन में कार की एंट्री होते ही सूचना सेठ ने डिसूजा से पूछा कि वह पुलिस स्टेशन में क्यों रुका और डिसूजा ने जवाब दिया कि एक मसला हो गया है. यह जवाब सुनकर भी सूचना सेठ ने कोई रिएक्शन नहीं दिया.

Advertisement
Advertisement

Related posts

कैथल में गुंडागर्दी का आलम, दिनदहाड़े आढ़ती व उनकी पत्नी की चाकूओं से गोदकर हत्या।

atalhind

सीएम खट्टर ने एमएलए जरावता की पुत्री और दामाद को दिया आशीर्वाद

atalhind

कैथल जिले के कई गांवों में सफाई के नाम पर करोड़ों का फर्जीवाड़ा-लीला राम 

admin

Leave a Comment

URL