AtalHind
क्राइम (crime)झज्जरटॉप न्यूज़राष्ट्रीयहरियाणा

Bahadurgarh NEWS–इनैलो के हरियाणा प्रदेश अध्यक्ष नफे सिंह राठी को गोलियों से भून डाला मोके पर ही मौत

इनैलो के हरियाणा प्रदेश अध्यक्ष नफे सिंह राठी को गोलियों से भून डाला मोके पर ही मौत
INLD’s Haryana State President Nafe Singh Rathi was shot dead on the spot
बहादुरगढ़(अटल हिन्द ब्यूरो )
इंडियन नेशनल लोक दल (INLD) के हरियाणा प्रदेश अध्यक्ष नफे सिंह राठी (Nafe Singh Rathi muder)की अज्ञात बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी. उनकी हत्या(Murder) का शक लॉरेंस बिश्नोई गैंग (Lawrence Bishnoi Gang)पर है. नफे सिंह को झज्जर जिले में योजनाबद्ध तरीके से गोली मारी गई. राठी अपनी कार में थे, जबकि अज्ञात बदमाश ह्यूंडई आई 10 में आए थे. बदमाश राठी के एसयूवी पर ताबड़तोबड़ फायरिंग करके वहां से फरार हो गए.
Advertisement
राठी को अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. पुलिस को इस हत्याकांड के पीछे लॉरेंस बिश्नोई गैंग पर शक है.नफे सिंह राठी अपनी सुरक्षा के लिए रखे गए तीन प्राइवेट गनमैन के साथ अपनी एसयूवी में यात्रा कर रहे थे.Nafe-Singh-Rathee-murder

 

 

 

अज्ञात हमलावर दूसरी कार में आए और बहादुरगढ़(Bahadurgarh) में उनकी एसयूवी पर गोलीबारी शुरू कर दी. इस फायरिंग में राठी के बॉडीगार्ड घायल हो गए. हमला शाम करीब पांच बजे बराही रेलवे क्रॉसिंग के पास हुआ. गोलियां नजदीक से मारी गईं. पुलिस को संदेह है कि हमले के पीछे गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई और उसके करीबी सहयोगी काला जठेड़ी का हाथ है.Nafe Singh Rathee murder
Advertisement
बहादुरगढ़ के बराही रेलवे फाटक के पास पहले से हमलावर घात लगाकर बैठे थे। जैसे ही वहां से पूर्व विधायक नफे सिंह राठी की फॉर्च्यूनर गुजरी, वैसे ही हुंडई आई10 में सवार हमलावरों ने उन पर फायरिंग कर दी। इस दौरान बदमाशों ने 40 से 50 राउंड फायरिंग की, जिनमें से 20 से ज्यादा गोलियां फॉर्च्यूनर को छेद कर गाड़ी में बैठे पूर्व विधायक राठी और उनके सुरक्षा कर्मियों को जा लगीं।
पुलिस घायलों के बयान ले रही
पुलिस अधिकारियों के अनुसार फिलहाल घायलों के बयान लिए जा रहे हैं, घायलों की जान बचाना पहली प्राथमिकता है। परिजनों से बयान लिए जा रहे हैं, सीसीटीवी फुटेज और जांच में जो तथ्य सामने आएंगे उसके अनुसार कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल मामले में दो घायलों का अस्पताल में इलाज चल रहा है। वारदात के बाद घटनास्थल पर बड़ी संख्या में पुलिस तैनात है।
===किस वजह से की गई नफे सिंह राठी की हत्या?====Nafe Singh Rathi was shot dead by miscreants.
बहादुरगढ़ के बाहुबली पूर्व विधायक नफे सिंह राठी(Nafe Singh Rathi) की नृशंस हत्या के पीछे क्या कारण हैं? प्राथमिक जांच में किसी जमीन विवाद को इस हत्याकांड की वजह बताया जा रहा है। यह पहली बार नहीं है जब नफे सिंह का नाम किसी जमीन विवाद से जुड़ा है। पुलिस रिकॉर्ड खंगाले तो उनकी पत्नी और बेटे पर भी जमीन को लेकर धोखाधड़ी के आरोप लग चुके हैं।
Advertisement
पत्नी व बेटे पर लगे थे जमीन विवाद में आरोप
जानकारी के अनुसार हरियाणा पुलिस ने अक्टूबर 2022 में बहादुरगढ़ में एक प्लॉट की धोखाधड़ी को लेकर नफे सिंह राठी की पत्नी शीला राठी के खिलाफ धोखाधड़ी के आरोप में एफआईआर दर्ज की थी। जानकारी के अनुसार शीला राठी पर एक डिस्प्यूट प्रॉपर्टी में बिजली कनेक्शन लगवाने के लिए कागजों में हेराफेरी करने का आरोप लगा था। इतना ही नहीं इस मामले में उनके बेटे जितेंद्र राठी को आरोपी बनाया गया था। जनवरी 2023 में जितेंद्र को इस केस में जेल भी जाना पड़ा था। वहीं, इस हत्याकांड में लॉरेंस बिश्नोई गैंग का भी नाम सामने आया है। पुलिस इस एंगल से भी जांच कर रही है।
लॉरेंस बिश्नोई गैंग पर क्यों है हत्या का शक?
कार में जिस तरफ नफे सिंह बैठे थे हमलावरों ने उधर ही एक के बाद एक कुल करीब चार दर्जन से अधिक गोलियां दागीं हैं। मानो वह केवल उनकी मौत ही सुनिश्चित करना चाहते थे। हत्यारों ने पूरी योजनाबद्ध तरीके से वारदात को अंजाम दिया है, जिससे पता चलता है कि हत्याकांड को पूरी रैकी करने के बाद अंजाम दिया गया है। इस हत्याकांड के पीछे लॉरेंस बिश्नोई गैंग का हाथ होने का शक है। सूत्रों की मानें तो लॉरेंस ने जेल के अंदर से अपने गुर्गे काला जठेड़ी के माध्यम से इस हत्याकांड की पूरी पटकथा लिखी है। सूत्रों के अनुसार इस हत्याकांड के पीछे किसी प्रॉपर्टी विवाद होने की बात सामने आ रही है।
Advertisement
इनेलो सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला के साथ नफे सिंह राठी
नफे सिंह राठी का राजनीतिक सफर
फिलहाल नफे सिंह राठी भारतीय राष्ट्रीय लोकदल (INLD) के प्रदेश अध्यक्ष थे। लेकिन इससे पहले वह बहादुरगढ़ विधानसभा से दो बार विधायक रह चुके थे। वहीं, वह बहादुरगढ़ नगर परिषद के दो बार चेयरमैन भी रहे थे। वह ऑल इंडिया इंडियन स्टाइल रेसलिंग एसोसिएशन के अध्यक्ष थे। इतना ही नहीं उन्होंने रोहतक सीट से लोकसभा चुनाव भी लड़ा था। यहां बता दें कि उन पर पूर्व मंत्री मांगेराम राठी के पुत्र जगदीश नंबरदार की खुदकुशी में मृतक को प्रताड़ित करने का आरोप लगा था, जिसमें वह अग्रिम जमानत पर थे।
धमकियों के बावजूद नहीं मिली सुरक्षा
. लोकसभा चुनाव से कुछ सप्ताह पहले हुए इस हमले पर विपक्षी दलों ने तीखी प्रतिक्रिया जताई और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) शासित राज्य में कानून-व्यवस्था खराब होने का आरोप लगाया.इनेलो नेता अभय चौटाला (Abhay Chautala) ने को बताया कि राठी और उनके साथ रहे एक पार्टी कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या कर दी गई. उन्होंने बताया कि नफे सिंह राठी (Nafe Singh Rathee) द्वारा सुरक्षा के लिए रखे गए तीन निजी बंदूकधारी भी इस हमले में घायल हो गए. चौटाला ने कहा, ‘राठी को पुलिस की कोई सुरक्षा नहीं दी गई थी.’ बहादुरगढ़ के पूर्व विधायक राठी (70) एक स्पोर्ट्स यूटिलिटी व्हीकल (एसयूवी) में जा रहे थे, रास्ते में झज्जर जिले के बहादुरगढ़ शहर में कार सवार हमलावरों ने उन पर हमला किया. चौटाला ने कहा, ‘राठी पर गोलियों की बौछार की गई.’
Advertisement
हरियाणा में कोई भी सुरक्षित महसूस नहीं कर रहा है’
लोकसभा चुनाव से कुछ सप्ताह पहले हुए इस हमले पर विपक्षी दलों ने तीखी प्रतिक्रिया जताई और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) शासित राज्य में कानून-व्यवस्था खराब होने का आरोप लगाया इनेलो नेता अभय चौटाला ने कहा, ‘यदि उन्हें सुरक्षा मुहैया करायी गई होती तो ऐसी स्थिति उत्पन्न नहीं होती.’ उन्होंने यह भी कहा कि हरियाणा में कानून व्यवस्था चरमरा गई है और आज यह फिर साबित हो गया है. राज्य की विपक्षी कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने भी इस घटना को लेकर मनोहर लाल खट्टर सरकार पर निशाना साधा. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा, ‘हरियाणा में इनेलो के प्रदेश अध्यक्ष नफे सिंह राठी की गोली मारकर हत्या किए जाने की खबर बेहद दुखद है. यह घटना राज्य की कानून-व्यवस्था को दर्शाती है…आज राज्य में कोई भी सुरक्षित महसूस नहीं कर रहा है.’ आम आदमी पार्टी (आप) के नेता सुशील गुप्ता ने कहा कि ‘हरियाणा में कानून का राज खत्म हो गया है और जंगलराज कायम है. आज हरियाणा में कोई भी सुरक्षित नहीं है.
Advertisement

Related posts

पानीपत में 9वीं की छात्रा ने दी जान, मनचलों से थी परेशान

editor

Kharkhoda में पुलिस व बदमाशों के बीच मुठभेड़

editor

कैथल एसपी ने दो एएसआई सुदेश तथा एएसआई राजकुमार को किया सस्पेंड कर  केस दर्ज करवाया

admin

Leave a Comment

URL