AtalHind
कैथल (Kaithal)क्राइम (crime)टॉप न्यूज़

KAITHAL NEWS-फर्जी कस्टमर केयर नंबर से फ्रॉड करके आमजन की राशि हड़प रहे ठगः एसपी कैथल

फर्जी कस्टमर केयर नंबर से फ्रॉड करके आमजन की राशि हड़प रहे ठगः एसपी कैथल

साइबर जालसाजों से रहे सावधान,
कैथल,30 अप्रैल (ATAL HIND  ) तकनीकि के इस युग में साइबर अपराधी भी अपराध करने के नये नये तरीके अपना रहे हैं। जिसमें एक तरीका फर्जी कस्टमर केयर बनकर लोगों के रुपए ठगना है। साइबर अपराधी फर्जी कस्टमर केयर नंबरों के जरिये आम लोगों को अपने जाल में फंसा रहे हैं। आम लोग किसी भी कंपनी के कस्टमर केयर का नंबर पाने के लिए गूगल का सहारा लेते हैं। ऐसा करते समय कुछ सावधानियां बरतने की जरूरत है, क्योंकि साइबर अपराधी आपकी एक चूक की ताक में बैठे हुए हैं। फेसबुक और ट्विटर से लेकर गूगल तक ये अपराधी फेक कस्टमर केयर नम्बर डालकर रखते हैं। आपने जरा सी गलती की और आप साइबर अपराधियों के जाल में फस जाते हैं। साइबर अपराधी किसी बैंक, कंपनी या संस्था की वेबसाइट से मिलती जुलती वेबसाइट बनाने से लेकर सोशल साइटों व गूगल मैप आदि पर गलत नम्बर डालकर रखते हैं। जिस कारण लोग असल और फेक वेबसाइटों में अंतर नही कर पाते है और इन नम्बरों को ही अधिकारिक नम्बर समझ लेते हैं व ऐसे लोगों के झांसे में आकर धोखाधडी का शिकार हो जाते हैं।
एसपी उपासना ने कहा कि जरूरी सावधानियां अपनाकर आमजन गूगल पर फर्जी कस्टमर केयर नंबरों की पहचान कर सकते है और ठगी होने से बच सकते हैं। गूगल पर कुछ भी सर्च करते समय रिजल्ट में सबसे ऊपर दिख रही वेबसाइट को ही सही नहीं मानें। सर्च में सबसे ऊपर के रिजल्ट के साथ यदि एड/स्पोंसर्ड लिखा दिख रहा है तो उस पर क्लिक करने से परहेज करें। यदि कोई सरकारी वेबसाइट है तो उसके अंत में जीओवी.इन या एनआईसी.इन जरूर होगा। यदि ऐसा है तो वह वेबसाइट ठीक है। कोई भी वेबसाइट खोलें तो यह अवश्य जांच लें कि वह सिक्योर है या नहीं। जिस वेबसाइट की शुरुआत में एचटीटीपीएस है तो वह सुरक्षित है। गूगल मैप के रिजल्ट पर कभी भरोसा नहीं करें। इसे कोई भी एडिट कर सकता है। ट्विटर और फेसबुक पर ब्लूटिक जरूर चेक करें। अगर ये वैरिफाइड है तो सुरक्षित हैं। सोशल मीडिया पर अपराधी, लोगों की शिकायतों पर नजर रखते हैं। आपके शिकायत करते ही इनबॉक्स में कस्टमर केयर बनकर वे अपना नम्बर दे सकते हैं। ध्यान रखें कि कोई भी संस्थान सीधे इनबॉक्स में नहीं आता है। सबसे महत्वपूर्ण है कि लोभ ना करें। आज के समय में अपराधी सस्ता लोन ऑफर करने की वेबसाइट बनाकर ठगी कर रहे हैं। अंतिम और जरूरी बात कि किसी से भी कार्ड नम्बर, सीवीवी, कार्ड का पिन, नेट बैंकिंग का पासवर्ड व ओटीपी आदि शेयर ना करें।
Advertisement
Advertisement

Related posts

मोदी सरकार ने किसानों के प्रदर्शन से जुड़े खाते, पोस्ट ‘ब्लॉक’ पर रोक लगाने का आदेश दिया-एक्स

editor

कैथल जिले के गांव फतेहपुर में    सल्फास की गोलियां खाने से 13 गोवंश की मौत

atalhind

बदमाशों का हरियाणा में कहीं पे निगाहे कहीं पे निशाना तो नहीं ,जनप्रतिनिधियों को धमकी की आड़ में 

atalhind

Leave a Comment

URL