AtalHind
कैथल (Kaithal)

महिलाएं हर क्षेत्र में आगे -बेटियां लक्ष्य का निर्धारण करके करें पढ़ाई :-प्रदीप   दहिया

महिलाएं हर क्षेत्र में आगे -बेटियां लक्ष्य का निर्धारण करके करें पढ़ाई :-प्रदीप   दहिया

कैथल, 8 मार्च  (राजकुमार अग्रवाल /अटल हिन्द )
उपायुक्त प्रदीप दहिया ने कहा कि वर्तमान समय में महिलाएं हर क्षेत्र में आगे आकर नए आयाम स्थापित कर रही है। अपने कार्य क्षेत्र के साथ-साथ घर को भी संभालने का कार्य महिलाओं द्वारा बखूबी किया जाता है। आज खेल, चिकित्सा, शिक्षा, विज्ञान, न्यायिक व्यवस्था, सेना, पुलिस आदि क्षेत्रों में महिलाओं ने अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया है। बेटियां अपने लक्ष्य का निर्धारण करके नियमित तौर पर पढ़ाई करें तो संभवत: जीवन का हर लक्ष्य मिलेगा।

Women should go ahead in every field – daughters should study by setting goals :- Pradeep Dahiya

उपायुक्त प्रदीप दहिया आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर लघु सचिवालय के सभागार में आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे। इस मौके पर डीसी ने जिला की विभिन्न लड़कियों को सम्मानित किया, जिन्होंने खेल के क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि हमारे देश के संविधान में महिलाओं को बराबर का दर्जा देते हुए वोट का अधिकार मिला है।

पूर्व में समाज में सती प्रथा, विधवा विवाह आदि कुरीतियां फैली हुई थी। उन सब कुरीतियों को दूर किया है। आज महिलाएं हर कार्य क्षेत्र में आगे आ रही हैं। उन्होंने कहा कि अच्छे संस्कार घर से ही मिलते हैं। सुसंस्कृत परिवार हो तो कहीं भी जाने की जरूरत नहीं होती है। जो बेटियां मेहनत करती हैं, उसका फल जरूर मिलता है। घर में बहू व बेटी को समान समझना चाहिए। सामाजिक व्यवस्था में जिस घर में बड़ी बेटी होती है, तो वह अपने छोटे भाई को भी संभालती है।

उन्होंने कहा कि महिला अधिकारी प्राय: अच्छा कार्य करती है, जो भी ड्यूटी उन्हें मिलती है, उसका निर्वहन वह पूरी ईमानदारी व जिम्मेदारी से करती है। उन्होंने कार्यक्रम में मौजूद बेटियों से संवाद करते हुए कहा कि सभी नियमित तौर पर पढ़ाई पर ध्यान दें। इसके साथ-साथ जिस बेटी की खेल में रूचि है तो वह भी निरंतर अभ्यास करती रहें। निरंतर पढ़ाई व अभ्यास से सफलता जरूर मिलती है। समय का प्रबंधन व सदुपयोग करते हुए कार्य करें। सरकार द्वारा बेटियों के लिए अनेक योजनाएं चलाई जा रही हैं। बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान के सकारात्मक परिणाम भी हम सबके सामने आ रहे हैं। उन्होंने सभी को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की बधाई भी दी।

महिलाओं ने हर क्षेत्र में आगे आकर तोड़ी है पुरानी धारणाएं : बीडीपीओ रोजी
अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के जिला स्तरीय कार्यक्रम में बीडीपीओ रोजी ने कहा कि महिलाओं ने हर क्षेत्र में आगे आकर पुरानी धारणाएं तोड़ी हैं। आज महिलाएं ट्रक से लेकर जहाज तक उड़ा रही हैं। पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर महिलाएं चल रही हैं। आज बेटियों को मार्गदर्शन की जरूरत है। सही मार्गदर्शन से बेटियां ऊंचे से ऊंचे पद को पा सकती है। जिला प्रशासन द्वारा बेटियों की काउंसलिंग करने का जो फैसला लिया गया है, वह सराहनीय है।

महिलाएं जो ठान लें उसे करती हैं पूरा : एडीए संगीता
अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर जिला स्तरीय कार्यक्रम में एडीए संगीता ने कहा कि महिलाएं जो ठान लेती हैं, उसे जरूर पूरा करती हैं। पढ़ाई के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करके महिलाओं ने जिन्दगी में ऊंचे मुकाम को छूने का कार्य किया है। हमारे संविधान में महिलाओं को बराबर के अधिकार मिले हैं और जो कानून महिलाओं की सुरक्षा के लिए बनाए गए हैं, हम सभी को उसके बारे में पता होना चाहिए।

नारी का सर्वांगीण विकास करना है जरूरी :- सुदेश सिवाच
अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर जिला स्तरीय कार्यक्रम में डाईट की प्रिंसीपल सुदेश सिवाच ने कहा कि नारी का सर्वांगीण विकास करना जरूरी है। हमारे देश की आधी आबादी महिलाओं की है। आज कोई भी क्षेत्र ऐसा नहीं है, जहां पर महिलाओं की उपस्थिति दर्ज ना हो। हर दिन महिला दिवस है। महिलाओं को दिल और दिमाग से कार्य करके आगे बढ़ना चाहिए। नकारात्मकता को छोड़कर सकारात्मकता की ओर बढऩा है और किसी भी प्रकार विषम परिस्थिति से नहीं घबराना है। इस मौके पर महिला संरक्षण अधिकारी सुनीता ने भी अपने विचार रखे और महिलाओं के अधिकारों के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दी।

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस है महिलाओं को समर्पित : सीएमजीजीए कुणाल चौहान
अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर जिला स्तरीय कार्यक्रम में मुख्यमंत्री सुशासन सहयोगी कुनाल चौहान ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस महिलाओं को समर्पित है। ये दिवस महिलाओं की आर्थिक, सांस्कृतिक, राजनीतिक, सामाजिक तमाम उपलब्धियों के उत्सव के तौर पर मनाया जाता है। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस सबसे पहले 1909 में मनाया गया था। इसे आधिकारिक मान्यता तब दी गई जब 1975 में संयुक्त राष्ट्र ने थीम के साथ इसे मनाना शुरू किया। आज महिलाएं आर्थिक, सामाजिक, सांस्कृतिक, खेल हर क्षेत्र में अग्रणीय है।


बॉक्स : इन महिला खिलाड़ियों व अन्य महिलाओं को किया गया सम्मानित
अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर जिला स्तरीय कार्यक्रम में उपायुक्त प्रदीप दहिया ने जिला उत्कृष्ट महिला खिलाड़ियों को सम्मानित किया गया। मास्को स्टार वुशू चैम्पियनशिप 2022 में कांस्य-2 पदक लेकर आने वाली रजनी, मास्को स्टार वुशू चैम्पियनशिप 2022 में सिल्वर पदक विजेता जीवन विजेता, एशियन बॉक्सिंग चैंपियनशिप 2021 में गोल्ड पदक लेकर आने वाली कीर्ति, एशियन बॉक्सिंग चैंपियनशिप 2021 में सिल्वर पदक लेकर आने वाली संजना, एशियन बॉक्सिंग चैंपियनशिप 2021 में कांस्य पदक लेकर आने वाली लाशू यादव, सब जूनियर  नैशनल चैंपियनशिप 2022 में गोल्ड पदक लेकर आने वाली खुशी तथा प्रशिक्षिका रीटा रानी व गुहला खंड के गांव भून्ना के स्वयं सहायता समूह की प्रधान सुनीता रानी व उनके सदस्यों को सम्मानित किया।

बॉक्स : प्रोजेक्ट एचआर 08 का किया शुभारंभ
अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर जिला स्तरीय कार्यक्रम में उपायुक्त प्रदीप दहिया ने एचआर 08 प्रोजैक्ट का शुभारंभ किया। इस प्रोजैक्ट के तहत जिला के 26 गल्र्स स्कूल को चयनित किया गया है। इन सभी स्कूलों में प्रत्येक माह की 8 तारीख को  विशेषज्ञों द्वारा लड़कियों की कैरियर से संबंधित काउंसलिंग की जाएगी ताकि सभी लड़कियां अपनी रूचि अनुसार भविष्य में अपना कैरियर बना सके।

बॉक्स : कैप्टन डॉ. पायल छाबड़ा की उपलब्धि पर उनकी माता डॉ. वीना छाबड़ा को किया गया सम्मानित
अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर जिला स्तरीय कार्यक्रम में उपायुक्त प्रदीप दहिया ने जिला के खंड कलायत की कैप्टन बनी डॉ. पायल छाबड़ा को उनकी उपलब्धि प्राप्त करने पर उनकी तरफ से आई उनकी माता डॉ. वीना छाबड़ा को सम्मानित किया। बता दें कि वर्तमान में डॉ. पायल छाबड़ा लेह लद्दाख के भारतीय सेना अस्पताल में बतौर सर्जन अपनी सेवाएं दे रही हैं। डॉ. पायल गत 13 जनवरी 2021 को 18वें रैंक के साथ सेना में चिकित्सा कोर में चयनित हुई थी और पहली ज्वाइनिंग अम्बाला में थी। इससे पहले करनाल स्थित कल्पना चावला मैडिकल कॉलेज में सीनियर रेजिडेंट के तौर पर तैनात रही थी। इस मौके पर डॉ. वीना छाबड़ा ने कहा कि हम सभी को बेटियों को आगे बढ़ने के अवसर देने चाहिए। नगर पार्षद रणवीर धानिया ने कहा कि डॉ. पायल बचपन से ही मेधावी छात्रा रही हैं। अपनी योग्यता से डॉ. पायल ने पूरे देश में क्षेत्र का नाम रोशन किया है।फोटो : 1 व 2 

बॉक्स : ये रहे मौजूद
अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर जिला स्तरीय कार्यक्रम में सीटीएम गुलजार अहमद, सीईओ जिला परिषद सुरेश राविश, अतिरिक्त सीईओ अमित कुमार, सीएमओ डॉ. जयंत आहुजा, डीडीपीओ कंवर दमन, बीडीपीओ रोजी, एडीए संगीता, सुदेश सिवाच, जिला शिक्षा अधिकारी अनिल शर्मा, जिला बाल कल्याण अधिकारी बलबीर चौहान, जिला कल्याण अधिकारी विनोद चावला,  सीडीपीओ कमलेश गर्ग, अनिता नैन, गुरजीत, सुमन, शशी, सुनीता, बलवान सिंह, खेम लता, गौरव कौशिक, मुकेश कुमार आदि मौजूद रहे।

Advertisement

Related posts

करें प्लाज्मा दान, व रेडक्रॉस सोसायटी की ले सहायता : सुजान सिंह

admin

कैथल के दंपती तरसेम गर्ग, सुशील गर्ग, अंजू गर्ग व रिंकू  मित्तल सहित चार पर  धोखाधड़ी का  केस

atalhind

कैथल में शनिवार सायं 6 बजे से सोमवार सुबह 5 बजे तक जनता कफ्र्यू लागू

admin

Leave a Comment

URL