AtalHind
कैथल टॉप न्यूज़ हरियाणा

खुल कर पीना शराब जिला कैथल में नहीं रहेगी दारु की दुकानों की कमी ,बीजेपी सरकार ने शराब की दुकानें अलाट की 

खुल कर पीना शराब जिला कैथल में नहीं रहेगी दारु की दुकानों की कमी ,बीजेपी सरकार ने शराब की दुकानें अलाट की

कैथल, 20 मई ( अटल हिन्द /राजकुमार अग्रवाल ) शुक्रवार को स्थानीय लघु सचिवालय के सभागार में ई-टेंडरिंग के माध्यम से शराब की दुकानें अलाट की गई। उपायुक्त प्रदीप दहिया की उपस्थिति में ई-टैंडरिंग के माध्यम से बोली की ओपनिंग की गई, जिसमें जोन नंबर-1 में सुरेश कुमार नैन ने सबसे अधिक बोली लगाकर नए बस स्टैंड कैथल जोन क्षेत्र की दुकानें प्राप्त की। उन्होंने 9 करोड़ रुपये की बोली लगाई। जोन नंबर-2 जींद रोड कैथल क्षेत्र में आता है, इसमें अनिल चहल एंड कंपनी ने बाजी मारी। उनकी बोली की राशि 7 करोड़ 83 लाख 73 हजार 100 रुपये थी। इसी प्रकार जोन नंबर-3 के तहत जाखौली अड्डïा कैथल के लिए आरके वाईन ने 8 करोड़ 92 लाख रुपये की बोली लगाकर संबंधित दुकानों पर कब्जा किया। इसी प्रकार जोन नंबर-4 में हिंद सिनेमा कैथल क्षेत्र भी आरके वाईन ने प्राप्त की। उन्होंने 8 करोड़ 22 लाख रुपये की बोली लगाई और दुकानें प्राप्त की।

अंबाला रोड कैथल जोकि जोन नंबर-5 के तहत आता है, इसकी बोली कुरूक्षेत्र वाईन ने छुड़वाई, जो 10 करोड़ 11 लाख रुपये में छुटी। इसी प्रकार कुरूक्षेत्र वाईन ने दो बोली के माध्यम से जोन नंबर-6 के तहत बोली छुड़वाई। यह क्षेत्र ढांड टीक रोड का पड़ता है। इसकी बोली 6 करोड़ 71 लाख 70 हजार 280 रुपये में छुटी। इसके अलावा जोन नंबर 7 पूंडरी क्षेत्र के तहत आने वाली दुकानों पर अनिल चहल एंड कंपनी ने कब्जा किया। उन्होंने 7 करोड़ 51 लाख रुपये पर में बोली छुड़वाई।
जोन नंबर-8 में आने वाली दुकानों की बोली कुरूक्षेत्रा वाईन के पक्ष में गई। हाबड़ी बरसाना क्षेत्र की दुकानों के लिए 4 करोड़ 25 लाख 70 हजार 280 रुपये की बोली छुटी। जोन नंबर-9 जाखौली क्षेत्र की दुकानों के लिए मनोज कुमार के पक्ष में 4 करोड़ 15 हजार 555 रुपये की बोली छुटी। जोन नंबर-11 बालू बाता क्षेत्र की दुकानों के लिए 5 करोड़ 52 लाख रुपये तथा जोन नंबर-13 के तहत धनौरी क्षेत्र के लिए 5 करोड़ 72 लाख रुपये की बोली छुटी, जो कि दोनों आरके वाईन के पक्ष में गई। जोन नंबर-14 के तहत सीवन क्षेत्र की बोली 6 करोड़ 11 लाख 11 हजार 111 रुपये में छुटी, जिसे कुरूक्षेत्रा वाईन ने प्राप्त किया। इसी प्रकार जोन नंबर-15, जिसके तहत खरकां क्षेत्र आता है, इसकी बोली 5 करोड़ 77 लाख रुपये में छुटी, जिसे अनिल चहल एंड कंपनी ने प्राप्त किया।
इसके अलावा जोन नंबर 17 के तहत चीका क्षेत्र की बोली 8 करोड़ 70 हजार 280 रुपये में छुटी, इसे कुरूक्षेत्र वाईन ने प्राप्त किया। इसी प्रकार जोन नंबर 18 अजीमगढ़ गढ़ी नजीर क्षेत्र के लिए 9 करोड़ 42 लाख 81 हजार 625 रुपये में ई-टेंडरिंग बोली केपी वाईन के पक्ष में गई। जिला में कुल 18 जोन है, जिनमें 68 दुकानें खोली जानी हैं। जोन नंबर 10, 12 और 16 के लिए किसी ने भी बोली नहीं लगाई। यह सारी प्रक्रिया ई-टेंडरिंग के माध्यम से हुई। इस संदर्भ में जानकारी देते हुए आबकारी एवं कराधान विभाग के डीईटीसी सत्येंद्र श्योराण ने बताया कि जिनको संबंधित जोनों में शराब की दुकानें अलाट हुई है, उन्हें एक्साईज पोलिसी 2022-23 के तहत कुल बोली राशि का 5 प्रतिशत मौके पर ही जमा करवाने का प्रावधान है, जो इस प्रक्रिया को पूरा नहीं करेगा, उसकी बोली तुरंत प्रभाव से रद्ध कर दी जाएगी।
इस मौके पर डीईटीसी एक्साईज सत्येंद्र श्योराण, डीईटीसी सेल्स टैक्स कुलबीर मलिक, डीआईपीआरओ धर्मवीर सिंह, एईटीओ ओम प्रभा, अनुभाग अधिकारी परविंद्र सिंह, एक्साईज इंस्पेक्टर सुरजीत कौर आदि मौजूद रहे।

——Haryana में शराब पीने, खरीदने और बिक्री करने की उम्र घटी, 25 साल से 21 की गई—–
Haryana Lowers Legal Drinking Age: 21-02-2022 इसमें कहा गया है कि लोग अब अधिक शिक्षित हैं और जिम्मेदार तरीके से शराब का सेवन करने के मामले में तर्कसंगत निर्णय भी ले सकते हैं.हरियाणा सरकार ने बुधवार को अपने आबकारी अधिनियम में संशोधन किया, जिससे राज्य में शराब का सेवन, बिक्री और खरीद की उम्र को 25 साल के घटा कर 21 साल कर दिया गया है.

इस संबंध में हरियाणा आबकारी (संशोधन) विधेयक, 2021 (Excise (Amendment) Bill, 2021) हरियाणा राज्य विधानसभा द्वारा पारित किया गया. इस विधेयक में कहा गया कि राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली (Delhi) ने भी हाल ही में आयु सीमा (Age Limit) को घटाकर 21 साल कर दिया है. इसके अलावा, आज के दौर की सामाजिक-आर्थिक परिस्थितियों में उस समय से काफी बदलाव आया है, जब उपरोक्त प्रावधानों को आबकारी अधिनियम में शामिल किया गया था.

समाज की बदलाव का दावा

हेमंत कुमार ने बताया कि दिल्ली सहित कई प्रदेशों में आयु सीमा को पहले ही घटाया जा चुका है। इसके पीछे तर्क यह कि मौजूदा सामाजिक-आर्थिक परिस्थितियों में काफी बदलाव आ चुका है। कानून में बदलाव से न केवल शराब की अवैध खपत में कमी होगी, बल्कि उपभोक्ताओं की संख्या भी बढ़ेगी। इससे राजस्व में बढ़ोतरी होगी। प्रदेश में मौजूदा एक्साइज वर्ष 2021-22 की अवधि 19 मई तक है।

दिल्ली का दिया उदाहरण

हरियाणा आबकारी (संशोधन) विधेयक, 2021 में कहा गया कि राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली ने भी हाल ही में आयु सीमा को घटाकर 21 साल कर दिया है। इसके अलावा, आज के दौर की सामाजिक-आर्थिक परिस्थितियों में उस समय से काफी बदलाव आया है जब उपरोक्त प्रावधानों को आबकारी अधिनियम में शामिल किया गया था। इसमें कहा गया है कि लोग अब अधिक शिक्षित हैं और जिम्मेदार तरीके से शराब का सेवन करने के मामले में तर्कसंगत निर्णय भी ले सकते हैं

Advertisement

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

935 करोड़ रुपये का गबन पिछले चार वर्षों के दौरान मनरेगा में हुआ  : रिपोर्ट

admin

कट्टर हिंदुत्ववादी नेता यति नरसिंहानंद पर ग़ुंडा एक्ट लगाने की प्रक्रिया शुरू की

atalhind

हिंदुओं के लिए न तो ‘परशुराम जयंती’ और न ‘अक्षय तृतीया’ ऐसे पर्व हैं जो पूरे भारत में उस पैमाने पर मनाए जाते हों जैसे दुर्गा पूजा या होली-दीवाली मनाए जाते हैं.

atalhind

Leave a Comment

%d bloggers like this:
URL