AtalHind
गुरुग्राम टॉप न्यूज़

सड़क पर सरकार और बेरोजगार ! बिलासपुर चौराहा, दिल्ली जयपुर नेशनल हाईवे पर 8 घंटे जाम

सड़क पर सरकार और बेरोजगार !

बिलासपुर चौराहा, दिल्ली जयपुर नेशनल हाईवे पर 8 घंटे जाम

अग्नीपथ सेना भर्ती योजना को लेकर युवाओं में फूट पड़ा गुस्सा

सेना में भर्ती के मुद्दे पर पीएम मोदी तथा भाजपा के खिलाफ नारे

आक्रोशित युवा गर्मी में सड़क के बीचो बीच बैठे रहे धरना देकर

बिलासपुर चौराहे के दोनों तरफ करीब 16 किलोमीटर लगा जाम

मौके पर पहुंचे एडीसी विश्राम कुमार ने 21 दिन का मांगा समय

फतह सिंह उजाला
गुरुग्राम / पटौदी । बीते काफी दिनों से दिल्ली जयपुर नेशनल हाईवे के खेड़की दौला में अहीर रेजिमेंट बनाने की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन चल रहा है । इसी बीच केंद्र में पीएम मोदी के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार के द्वारा सेना में युवाओं की भर्ती के लिए नई योजना अग्नीपथ की घोषणा कर दी गई। अग्नीपथ योजना को लेकर सैनिकों की खान कहे जाने वाले अहीरवाल क्षेत्र में बीते 2 वर्षों से सेना में भर्ती का सपना पाले युवाओं का गुस्सा गुरूवार को फूट गया।

पीएम मोदी की अग्नीपथ योजना पर गुरुवार को एक प्रकार से सरकार और बेरोजगार आमने-सामने दिखाई दिए । गुरुवार को देखते ही देखते दिल्ली जयपुर नेशनल हाईवे पर रेवाड़ी और गुरूग्राम के बीच बिलासपुर चौक पर आसपास के गांवों के युवाओं का पहुंचना आरंभ हो गया । अचानक युवाओं का पहुंचना कोई समझ पता कि इसी दौरान युवाओं के द्वारा बिलासपुर चौराहे पर वाहनों को रोककर विरोध आरंभ कर दिया गया ।

प्रदर्शन में शामिल युवाओं के साथ साथ अन्य लोगों का तर्क था कि कोरोना का हाल के बाद से सेना में सरकार के द्वारा भर्ती नहीं की जा रही है । जिन युवकों के द्वारा मेडिकल पास किया जा चुका है उनके रिटन टेस्ट नहीं हो रहे । वहीं अनेक युवाओं ने यह भी बताया कि फिजिकल टेस्ट और रिटन टेस्ट यह भी परिणाम घोषित नहीं किए जा रहे । सैनिकों की खान कहे जाने वाले अहिरवार क्षेत्र में गुरुवार को रेवाड़ी शहर में भी आक्रोशित युवाओं के द्वारा बस अड्डा और राव तुलाराम चौक पर जबरदस्त विरोध प्रदर्शन किया गया । हालांकि इस दौरान आक्रोशित युवाओं को काबू में करने के लिए कथित रूप से पुलिस को बल प्रयोग भी करना पड़ा।

विरोध प्रदर्शन के दौरान युवाओं के द्वारा सेना में अग्नीपथ योजना के तहत 4 वर्ष की भर्ती को लेकर केंद्र सरकार, पीएम मोदी, केंद्रीय रक्षा मंत्री से मांग करते हुए कहा गया कि नियमित और स्थाई भर्ती सेना में की जाए। बीते दो-तीन वर्षों से अनगिनत युवक सेना में भर्ती होने के लिए अपने आप को फिट रखने के लिए रात दिन पसीना बहाते हुए विभिन्न एकेडमी में प्रशिक्षण भी ले रहे हैं ।

प्रदर्शनकारी युवा अपने हाथों में तिरंगा झंडा लिए सड़क के बीचो-बीच धरना देकर बैठे रहे । दिल्ली जयपुर नेशनल हाईवे पर बिलासपुर चौक पर गुरुवार को सुबह लगभग 9 बजे से लेकर शाम को 4. 30 बजे तक सड़क मार्ग को जाम किए रखा गया । सड़क मार्ग जाम होने की वजह से बिलासपुर से गुरुग्राम और रेवाड़ी की तरफ करीब 16 किलोमीटर की दूरी तक वाहनों की लंबी कतार लग गई । गर्मी के मौसम में वाहनों में बैठे सवार और अन्य लोग परेशान होते रहे । युवाओं के द्वारा हैवी वहीकल को सड़क के बीच में आड़े तिरछे खड़े कर इन वाहनों पर चढ़कर अपनी मांगों के समर्थन में भी नारेबाजी की गई । सड़क मार्ग जान किया जाने सहित युवाओं के विरोध प्रदर्शन को देखते हुए मौके पर एसीपी पटौदी हरिंदर शर्मा , एसीपी यशवंत सिंह , बिलासपुर थाना एसएचओ अजय कुमार दलबल सहित युवाओं को बार-बार समझाने का प्रयास करते हुए सड़क मार्ग खोलने का अनुरोध भी किया गया । आंदोलनकारी युवा इस मांग पर अड़े रहे कोई भी वरिष्ठ सक्षम अधिकारी आकर उनकी मांगों को सुनें और मांगों को सरकार तक पहुंचाने का आश्वासन भी दें ।

दिल्ली जयपुर नेशनल हाईवे पर बिलासपुर चौक पर अग्नीपथ सेना में भर्ती योजना के विरोध में आंदोलनकारी युवाओं के बीच गुरुग्राम के एडीसी विश्राम कुमार मीणा पहुंचे । यहां पहुंच कर उन्होंने प्रदर्शनकारी युवाओं की बातों और मांगों को सुनते हुए कहां की सेना की यह नई भर्ती योजना केंद्र सरकार के द्वारा घोषित की गई है । मौके पर मौजूद पुलिस और नागरिक प्रशासन के लिए सबसे बड़ी चुनौती 8 घंटे से जाम सड़क मार्ग को खुलवाना बना हुआ था । सारे हालात पर गंभीरता से चिंतन मंथन करने के उपरांत एडीसी गुरुग्राम विश्राम कुमार मीणा ने आंदोलनकारी युवाओं को भरोसा दिलाया कि 21 दिन का समय जिला प्रशासन को दिया जाए, जिससे कि इस संबंधित मामले की पूरी जानकारी और रिपोर्ट केंद्र सरकार तक पहुंचा कर युवाओं की बात को सरकार के समक्ष रखा जा सके । इसके बाद गुरुवार शाम को लगभग 4. 30 बजे के बाद बिलासपुर चौक से अग्नीपथ सेना भर्ती योजना के विरोध में बैठे और प्रदर्शन कर रहे युवाओं के द्वारा अपना आंदोलन स्थगित किया गया । इसके बाद ही पुलिस और नागरिक प्रशासन ने भी राहत की सांस ली।

Advertisement
Advertisement

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

कैथल में एंबुलेंस चालकों को पिछले 5 दिनों से नहीं मिल रही ऑक्सीजन

admin

सुप्रीम कोर्ट या हाईकोर्ट के कार्यरत जज को उसके पद से हटाना आसान नहीं है

admin

किसान आंदोलन के 300 दिन पूरे

admin

Leave a Comment

%d bloggers like this:
URL