AtalHind
कैथलक्राइमटॉप न्यूज़

कलायत  में बदमाशों ने शोरूम में की ताबड़तोड़ फायरिंग,

कलायत  में बदमाशों ने शोरूम में की ताबड़तोड़ फायरिंग,
जबाबी फायरिंग से बदमाश भागने को मजबूर हुए
कलायत(अटल हिन्द )
कलायत रेलवे रोड पर स्थित शेखर रेडिमेड शोरूम पर मंगलवार सुबह 11 बजकर 22 मिनट पर दो नकाबपोशों ने करीब एक दर्जन ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। शोरूम मालिक  शेखर शर्मा ने साहस का परिचय देते हुए स्वयं, दुकान में तैनात 10-12 कर्मियों व ग्राहकों की रक्षा के लिए जब जवाबी 6 फायर किए तो हमलावर भाग खड़े हुए। शेखर शर्मा और उनके कर्मियों ने शोरूम से कुछ दूरी तक हमलावरों का पीछा किया। लेकिन वे पहले से स्टार्ट खड़े वाहन पर श्री कपिल मुनि रोड से होते हुए फुर्र हो गए। बताया जाता है कि शोरूम में प्रवेश करते ही सबसे पहले हमलावरों ने तैनात सुरक्षा कर्मी को घेर लिया इसलिए वह त्वरित तौर से संभल नहीं पाया। जैसे ही आमने-सामने से ताबड़ तोड़ फायरिंग हुई शोरूम कर्मी और ग्राहक जमीन पर लेट-बैठ गए।
कलायत थाना प्रभारी इंस्पेक्टर बलदेव सिंह वारदात की सूचना मिलने ही तुरंत प्रभाव से पुलिस टीम के साथ मौका स्थल पर पहुंच गए। उपरांत थाना प्रभारी द्वारा दी गई अपडेट पर कैथल मुख्यालय डीएसपी कुलवंत सिंह, डीएसपी रवींद्र सांगवान, सीआईए टीमें और एक्सपर्ट टीम मौके पर एक्टिव हो गई। सुरक्षा की दृष्टि से शोरूम में स्थापित सीसीटीवी फूटेज में पूरी वारदात कैद हो गई। पुलिस की जांच टीमों को मौके पर 10 बुलेट खोल और एक लोडिड मैगजीन मिली है। बाकी गोलियां कहां-कहां चली इनके सबूत में भी जुटाने में पुलिस लगी है। जबकि सीढ़ियों और अन्य स्थानों पर फायरिंग के निशान भी तहकीकात में सामने आए।
पहले 15 लाख रुपए की फिरौती न देने पर व्यापारी पर हुआ था कातिलाना हमला
कलायत में रेडिमेड शोरूम पर पहले भी 16 फरवरी 2021 को महेंद्रा गाड़ी में सवार होकर आए युवकों ने फायरिंग कर दी थी। उस समय भी सुबह करीब 10 बजे वारदात हुई थी। इस जानलेवा हमला में शोरूम संचालक शेखर शर्मा बाल-बाल बचे थे। क्योंकि घटना के समय व्यापारी शो-रूम के बाहर खड़ा था। इस दौरान व्यापारी ने 15 लाख रुपए फिरौती की मांग पूरी न करने पर हमला करने के आरोप लगाए थे। इस संबंध में जेल में बंद बिन्नी, सोनू भिवानी, राजू बात्ता व अन्य के खिलाफ भादसा की 307, 387, 120 बी व आमर्ज एक्ट 25/54/59 के तहत आपराधिक मामला दर्ज किया गया था।
इस तरह स्वयं और कर्मियों को सुरक्षा देने में सफल रहे शेखर शर्मा
कलायत के तत्कालीन डीएसपी सुनील कुमार द्वारा फास्ट ट्रैक पर कार्रवाई करते हुए 16 फरवरी 2021 की घटना को लेकर व्यापारी को सुरक्षा के साथ-साथ आत्मरक्षा के लिए रिवाल्वर के लाइसेंस की सुविधा मुहैया करवाई थी। इस रिवाल्वर के कारण ही 3 मई 2022 की वारदात में शोरूम संचालक शेखर शर्मा स्वयं और अपने कर्मियों की सुरक्षा करने में सफल रहा। यदि वह इस प्रकार के साहस का परिचय नहीं देता तो खून खराबा हो सकता था।
वारदात की गुत्थी सुलझाने के लिए चार टीमें गठित : डीएसपी
डीएसपी रवींद्र सांगवान ने बताया कि वारदात की सूचना मिलते ही एसपी मकसूद अहमद के निर्देश पर डीएसपी मुख्यालय, सीआईए सहित चार टीमों को गतिशील किया है। वारदात से जुड़े हर पहलु पर प्रभावी ढंग से जांच तेज कर दी गई है। जल्दी ही मामले को ट्रैस किया जाएगा। निश्चित रूप से शोरूम संचालक शेखर शर्मा ने साहस का परिचय दिया है। परिणामस्वरूप नकाबपोश हमलावर भाग खड़े हुए। हमलावरों को काबू करने के लिए जिला कैथल में नाकाबंदी करते हुए पड़ोसी जिलों को घटना से अवगत करवाया गया है।
Advertisement

Related posts

मनोहर लाल की सुरक्षा में चूक को लेकर  9 अफसरों और कर्मचारियों  को ठहराया जिम्मेवार 

admin

गगनचुंबी इमारतों के शहर गुरुग्राम में  मजदूर,  बेमौत  मरते मजदूर  !

atalhind

 नौकरी अथवा लोन दिलवाने के नाम पर आर्थिक शोषण करने वाले अंतरराज्यीय जालसाज गिरोह का पर्दाफाश,

admin

Leave a Comment

%d bloggers like this:
URL