AtalHind
गुरुग्राम (Gurugram)टॉप न्यूज़हरियाणा

Pataudi NEWS-पटौदी लघु सचिवालय में लिफ्ट नहीं होने से परेशानी ही परेशानी

पटवारी तक आने के लिए मजबूत टांग और फेफड़े होना बहुत जरूरी
पटौदी लघु सचिवालय में लिफ्ट नहीं होने से परेशानी ही परेशानी
Advertisement
दिव्यांग और बुजुर्गों के लिए सेकंड फ्लोर तक जाना और आना चुनौती
Advertisement
पटवारी से कभी ना कभी तो प्रत्येक व्यक्ति को पड़ता है काम
फर्स्ट फ्लोर पर भी विभिन्न विभागों और अधिकारियों के कार्यालय
Advertisement
अटल हिन्द ब्यूरो /फतह सिंह उजाला
Advertisement
पटौदी । पटवारी के पास अपने किसी भी काम के लिए आने जाने के वास्ते मजबूत टांग और फेफड़ों का होना बहुत जरूरी है। प्रत्येक व्यक्ति को पटवारी से कोई ना कोई काम के लिए मिलना और उसके ऑफिस तक पहुंचाना भी जरूरी है। ऐसे में यदि किसी बीमार या फिर बुजुर्ग व्यक्ति को एक ही दिन में अपने किसी बहुत जरूरी काम के लिए पटवारी के पास दो बार आना जाना पड़ जाए, तो उसकी क्या हालत बनेगी ? यह यह तो भगत भोगी ही जानता है। बात की जा रही है पटौदी सब डिवीजन परिसर और भवन की । पटौदी सबडिवीजन बिल्डिंग में लिफ्ट नहीं होने के कारण लोगों को विशेष रूप से बीमार, दिव्यांग और बुजुर्ग को बहुत ही परेशानी का सामना करना पड़ रहा है । इस बात से इनकार नहीं की आम आदमी ही परेशान हो , । लघु सचिवालय के सेकंड फ्लोर पर विभिन्न ऑफिस में काम करने वाले कर्मचारी भी ऐसी ही परेशानी को झेलते हुए चाह कर भी नहीं बोल पा रहे होंगे।
Advertisement
Advertisement
पटौदी सबडिवीजन बिल्डिंग का केंद्र और हरियाणा में पहली बार बनी डबल इंजन सरकार के कार्यकाल में हरियाणा के पूर्व सीएम मनोहर लाल खट्टर के द्वारा लगभग एक दशक पहले किया गया। उद्घाटन के बाद यहां पर धीरे-धीरे विभिन्न कार्यालय का स्थानांतरण कर अधिकारियों का बैठना सुनिश्चित किया गया। ग्राउंड फ्लोर पर एसडीएम कार्यालय, तहसील कार्यालय और सरकार के विभिन्न कार्य ऑनलाइन किए जाने वाले काउंटर मौजूद है । फर्स्ट फ्लोर पर एसीपी ऑफिस, खंड शिक्षा अधिकारी, खाद्य एवं आपूर्ति विभाग कार्यालय, फायर ब्रिगेड ऑफिस सहित अन्य विभागों के कार्यालय भी मौजूद है ।
Advertisement
Advertisement
सबडिवीजन के सेकंड फ्लोर पर पटौदी क्षेत्र में कार्यरत विभिन्न पटवारी के बैठने की व्यवस्था की गई है । ऐसे में विभिन्न प्रकार के कार्य के लिए सेकंड फ्लोर पर पटवारी तक आवागमन के लिए 50 सीढियां चढ़ना प्रत्येक व्यक्ति के लिए जरूरी है। फर्स्ट फ्लोर पर भी बिना सीढियो की सुविधा लिए  आवागमन संभव ही नहीं है। इसके अलावा फर्स्ट फ्लोर हो या फिर सेकंड फ्लोर हो, किसी भी दिव्यांग या फिर अत्याधिक बीमार व्यक्ति के लिए वहील चेयर से जाना भी संभव ही नहीं है ।
Advertisement
Advertisement
पटौदी सबडिवीजन बिल्डिंग में लिफ्ट कि सुविधा नहीं होने की तरफ संबंधित विभाग और अधिकारियों सहित शासन प्रशासन का ध्यान आकर्षित किया जा चुका है । इतना ही नहीं जनता के चुने हुए जनप्रतिनिधियों के सामने भी पटौदी सब डिवीजन बिल्डिंग में लिफ्ट का मुद्दा उठाते हुए ध्यान आकर्षित किया जा चुका है । लेकिन हैरानी इस बात को लेकर है इस समस्या के समाधान या फिर सुविधा उपलब्ध करवाने की तरफ गंभीरता से ध्यान ही नहीं दिया जा रहा है ।
Advertisement
Advertisement
Advertisement
सूत्रों के मुताबिक जब पटौदी सबडिवीजन बिल्डिंग बनाई गई इस समय ही यहां पर इसको बनाने वाली एजेंसी या फिर विभाग के द्वारा आपस में ताल मेल कर लिफ्ट भी अवश्य लगा देनी चाहिए थी। आज भी पटौदी सब डिवीजन में जहां-जहां लिफ्ट लगाई जानी है, वह स्थान अस्थाई रूप से बंद कर छोड़ दिए गए हैं या फिर खुला हुआ भी देखा जा सकता है । अब देखना यह है कि विकास के घोड़े पर सवार सरकार पटौदी सबडिवीजन बिल्डिंग में आम जनता विशेष रूप से बीमार दिव्यांग और बुजुर्गों को ध्यान में रखते हुए यहां लिफ्ट की सुविधा उपलब्ध करवा सकेगी।
Advertisement

Related posts

गुजरात का सियासी फेरबदल क्या भाजपा की चुनाव-पूर्व असुरक्षा का सूचक है

atalhind

कोरोना वैक्सीनेशन नौकरियों पर पड़ी भारी ,हाई कोर्ट के खिलाफ : हाई कोर्ट में याचिका !

admin

पटौदी सब्जी मंडी में लाठी डंडों से लैस बदमाशों का तांडव 

editor

Leave a Comment

URL