AtalHind
क्राइम (crime)गुरुग्राम (Gurugram)टॉप न्यूज़राजनीतिहरियाणा

GURUGRAM NEWS-गुरुग्राम में लोकसभा चुनाव के बीच दो पक्षों के बीच खूनी संघर्ष!पक्ष और विपक्ष के कुल 11 आरोपियों को किया गया गिरफ्तार

गुरुग्राम में लोकसभा चुनाव के बीच दो पक्षों के बीच खूनी संघर्ष!पक्ष और विपक्ष के कुल 11 आरोपियों को किया गया गिरफ्तार
Bloody conflict in Dhanwapur
गुरुग्राम(अटल हिन्द ब्यूरो/फतह सिंह उजाला )
 धनवापुर गांव में गैंगस्टर सुनील उर्फ तोता व पड़ोसी दिनेश दहिया पक्ष के बीच शुक्रवार रात को हुए पथराव व हवाई फायरिंग में कई कारण सामने आ रहे हैं. जिसमें एरिया में पानी के टैंकर सप्लाई, चुनावी रंजिश, प्रॉपर्टी विवाद की बातें शामिल है. लेकिन पुलिस फिलहाल इसे पानी सप्लाई को लेकर रंजिश का कारण मानकर जांच कर रही है. दोनों पक्षों की ओर से पुलिस को शिकायत दी गई है. जिस पर राजेंद्रा पार्क थाना में क्रॉस एफआईआर दर्ज की गई है. थाना पुलिस के साथ ही क्राइम ब्रांच की टीमें भी मामले में जांच कर रही है.Bloody conflict between two parties during Lok Sabha elections in Gurugram! A total of 11 accused from party and opposition were arrested.
Advertisement
धनवापुर में हुई खुनी संघर्ष (Bloody conflict in Dhanwapur)मामले में दो गुटों के बीच झड़प में सूचना पाकर थाना राजेंद्रा पार्क, गुरुग्राम की पुलिस टीम गांव धनवापुर पहुंची जहां पर ज्ञात हुआ कि दो पक्षों में लड़ाई-झगड़ा व लाठी डंडों से मारपीट हुई है तथा इस दौरान गोली भी चली है। दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर मारपीट करने, गोली चलाने तथा जान से मारने की धमकी देने के संबंध में पुलिस टीम को शिकायत दी। उपरोक्त वारदात के संबंध में क्रमश: हिमांशु दहिया व मोनिका की शिकायत पर थाना राजेंद्रा पार्क, गुरुग्राम में शस्त्र अधिनियम व संबंधित धाराओं के तहत अलग-अलग 02 अभियोग अंकित किए गए।
Bloody conflict in Gurugram
जिला पुलिस प्रवक्ता ने जानकारी देते हुए बताया उपरोक्त वारदात में आरोपियों की धरपकड़ के लिए थाना व अपराध शाखाओं की विभिन्न पुलिस टीमें गठित की गई है। पुलिस द्वारा इस मामले में त्वरित कार्यवाही करते हुए सीसीटीवी फुटेज तथा अन्य सबूतों के आधार पर झगड़ा करने वाले एक पक्ष के 9 आरोपियों तथा दूसरे पक्ष के 2 आरोपियों सहित कुल 11 आरोपियों को गिरफतार किया जा चुका हैतथा जिन भी आरोपियान के खिलाफ साक्ष्य/सबूत सामने आयेंगे, उनको भी अभियोग में गिरफ्तार किया जायेगा।
ग्रामीणों व क्राइम ब्रांच के सूत्रों से बातचीत में दोनों पक्षों के बीच रंजिश के कई कारण सामने आए हैं. सुनील उर्फ तोता पक्ष एरिया में पानी के टैंकर सप्लाई का कारोबार करता है. इस कारोबार पर अपना वर्चस्व जमाने के लिए सुनील उर्फ तोता ने कई झगड़े भी दूसरे लोगों पर किए और उनमें बीते कुछ समय के दौरान एफआईआर भी दर्ज हुई. कुछ समय से दिनेश पक्ष भी पानी के टैंकर सप्लाई के कारोबार से जुड़ रहा था.
Advertisement
सुनील पक्ष की ओर से आरोप लगाया है कि इसे लेकर गैंगस्टर कौशल से उन्हें धमकी भी दिलाई गई. 3 दिन पहले दिल्ली पुलिस ने भी इनसे संपर्क कर बुलाया. कारण पूछने पर बताया गया कि अवैध हथियार के साथ बदमाशों को अरेस्ट किया है और उन्होंने पूछताछ में कबूला है कि दिनेश पक्ष की ओर से सुनील व इसके निवर्तमान पार्षद भाई नवीन दहिया को मारने की सुपारी दी गई है. दोनों पक्षों का ट्रांसपोर्ट का बिजनेस भी बताया जा रहा है.
वहीं कुछ ग्रामीणों का कहना है कि साल 2017-18 में नगर निगम के चुनाव के दौरान नवीन व दिनेश दोनों ही चुनाव लड़ने के इच्छुक थे. तब आपसी सहमति से फैसला हुआ था कि नवीन अब चुनाव लड़ लेगा और अगली बार वो दिनेश को चुनाव लड़ने का मौका देगा. लेकिन अब नवीन इस बात से मुकर गया तो दिनेश अपने स्तर पर प्रयास करने लगा और इनमें रंजिश होने लगी. सूरत नगर कॉलोनी में एक प्लॉट को लेकर भी विवाद की बात सामने आई है. 200 गज के प्लॉट में से कुछ हिस्सा दिनेश ने खरीदा है और कुछ हिस्सा सुनील ने खरीदा है. यहां रास्ते या प्लॉट बंटवारे को लेकर भी विवाद बताया जा रहा है.
Advertisement
Advertisement

Related posts

स्वीडन के इंग्का सेंटर्स के आइकिया प्रोजेक्ट निर्माण का शुभारंभ

atalhind

भारत में अपहरण के 294 से अधिक मामले दर्ज हुए, उत्तर प्रदेश टॉप पर

editor

पूर्व सीएम भूपेंद्र हुड्डा को दलितों में आती है बदबू: एमएलए जरावता

admin

Leave a Comment

URL