AtalHind
क्राइमटॉप न्यूज़हरियाणा

नरवाना में फिल्मी अंदाज में नकली पुलिस कर्मी बनकर आए गिरोह के सदस्य ,7 काबू

नरवाना में पुलिस की वर्दी पहन कर लूटपाट करने वाले गिरोह के 7 सदस्य काबू,पुलिस टीम पर की फायरिंग, बाल-बाल बचे पुलिस कर्मी,लाल नीली बत्ती लगी हुई एक इनोवा व 2 कार बरामद,1 पिस्तौल व 2 जिंदा कारतूस भी बरामद,नोट दोगुना करने का झांसा देकर लूटते थे लोगों को

नरवाना 3 सी.आई.ए.पुलिस नरवाना की टीम के साथ पकड़े गए गिरोह के सदस्य। (राजीव)
नरवाना 3 सी.आई.ए.पुलिस नरवाना की टीम के साथ पकड़े गए गिरोह के सदस्य। (राजीव)

नरवाना, 3 नवम्बर (अटल हिन्द /राजीव गर्ग )

 सी.आई.ए. नरवाना टीम ने पुलिस अधीक्षक जींद नरेंद्र बिजारनिया के दिशा निर्देशानुसार व ए.एस.पी. नरवाना  कु लदीप सिंह के नेतृत्व में अपराधियों के खिलाफ चलाए जा रहे विशेष अभियान के तहत बड़ी कामयाबी हासिल की है।

सी.आई.ए.नरवाना इंचार्ज सुखदेव सिंह की टीम ने बड़ी कार्रवाई करते हुए दनौदा गांव के पास पुलिस की वर्दी पहनकर नकली पुलिस बनकर लोगों के साथ ठगी व लूटपाट करने वाले गिरोह के 7 सदस्यों को काबू करने में कामयाबी हासिल की है।

पकड़े गए आरोपियों की पहचान रामसिंह वासी कासिमपुर जिला फतेहाबाद ,वीरेंद्र उर्फ बलविंद्र वासी जमालपुर शेखां, अजय वासी हसनगढ़ जिला हिसार, अशोक कु मार वासी बोबुआ जिला हिसार, प्रवीण उर्फ    डिंपल वासी आगोंद जिला कैथल तथा सत्यवान व अशोक वासी सच्चाखेड़ा के रूप में हुई है।

गिरोह के सदस्य के कब्जे से बरामद की गई अवैध पिस्तौल। (राजीव)
गिरोह के सदस्य के कब्जे से बरामद की गई अवैध पिस्तौल। (राजीव)

ए.एस.पी. नरवाना कुलदीप सिंह ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए बताया कि सी.आई.ए. नरवाना की एक टीम ए.एस.आई. अवतार सिंह के नेतृत्व में पंचायत चुनाव के संबंध में पैट्रोलिंग ड्यूटी पर दनौदा बाईपास पर थी कि सी.आई.ए. टीम को खुफिया सूचना मिली कि दो गाड़ी इनोवा व रिट्ज में कु छ बदमाश व्यक्ति सवार हैं जिनमें से 2 बदमाश पुलिस की वर्दी में हैं तथा उनके पास अवैध असला भी है तथा  इनोवा गाड़ी पर नीली बत्ती लगी हुई है, जो गांव दनौदा से सैंथली रोड़ पर किसी लूटपाट व ठगी की वारदात को अंजाम देने वाले हैं।

सूचना मिलने पर ए.एस.आई. अवतार सिंह ने सैंथली दनौदा रोड नहर पुल पर ट्रैप लगाया। थोड़ी देर बाद गांव सैंथली की तरफ से रिट्ज कार व गांव दनौदा की तरफ से एस्प्रेसो कार आई तथा दोनों में से आदमी उतर कर आपस में बातें करने लगे, इसी दौरान एक इनोवा गाड़ी जिसके ऊपर नीली वा लाल बत्ती लगी हुई थी में से चार आदमी उतरे जो दो व्यक्ति पुलिस की वर्दी में थे और आते ही एस्प्रेसो गाड़ी में उतरे व्यक्तियों से पैसे छीनने लगे।

पुलिस पार्टी ने इनोवा व एस्प्रेसो गाड़ी में बैठे व्यक्तियों को काबू किया। इस दौरान रिट्ज गाड़ी से उतरे सत्यवान व अशोक अपनी गाड़ी की तरफ भागने लगे, जब पुलिस पार्टी ने उन्हें पकड़ने की कोशिश की तो सत्यवान वासी सच्चाखेड़ा ने ए.एस.आई. अवतार सिंह व पुलिस पार्टी पर सीधा फायर किया जिस पर ए.एस.आई. अवतार सिंह बाल-बाल बच गए।

उसके बाद रिट्ज कार में बैठे व्यक्ति  अपनी गाड़ी को तेज रफ्तार व लापरवाही से भगाते हुए सैंथली की तरफ भागने लगे तो सामने से आ रही एक महिंद्रा गाड़ी को सीधी टक्कर मार दी, जिस पर दोनों गाड़ी क्षतिग्रस्त हो गई।

 गिरोह के सदस्यों से बरामद हुई लाल नीली बत्ती व इनोवा गाड़ी व एक अन्य कार। (राजीव)
गिरोह के सदस्यों से बरामद हुई लाल नीली बत्ती व इनोवा गाड़ी व एक अन्य कार। (राजीव)

इस दुर्घटना में रिट्ज कार में बैठे सत्यवान व अशोक तथा महिंद्रा गाड़ी के चालक कृ ष्ण वासी सींसर घायल हो गए। तीनों घायलों को तुरंत नागरिक अस्पताल नरवाना में दाखिल करवाया गया। ए.एस.पी. कुलदीप सिंह ने बताया कि आरोपी सत्यवान के कब्जे से एक नाजायज पिस्तौल 315 बोर, दो जिंदा कारतूस व एक खाली खोल तथा 40 नोटों की गड्डियां जिनमें ऊपर व नीचे एक एक 100-100 के असली नोट व बीच में उसी साइज के कागज काट कर नकली गड्डियां तैयार की हुई है, बरामद की गई।

इसके अलावा इनोवा गाड़ी में 6 अलग-अलग नंबरों की नकली नंबर प्लेटें, पुलिस की वर्दी, एस्प्रेसो   कार में व्यक्तियों से कु ल 4 लाख के असली करेंसी नोट बरामद किए गए हैं। उन्होंने बताया कि पुलिस पूछताछ में पता चला है कि सत्यवान व अशोक वासी सच्चाखेड़ा पर पहले भी 10/10 केस , रामसिंह पर 5 केस, वीरेंद्र उर्फ  बलविंद्र पर 3 केस, अशोक वासी बोबुआ पर 2 केस, प्रवीण पर 3 केस, लूटपाट, धोखाधड़ी, चोरी, एन.डी.पी.एस. एक्ट के तहत फतेहाबाद, जाखल, टोहाना, राजस्थान, कुरूक्षेत्र, चीका, नरवाना व पंजाब में दर्ज हैं। बाद में सदर थाना पुलिस ने पकड़े गए सभी आरोपियों के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू की है।

 ए.एस.पी. नरवाना कुलदीप सिंह व सी.आई.ए. इंचार्ज सुखदेव सिंह जानकारी देते हुए। (राजीव)
ए.एस.पी. नरवाना कुलदीप सिंह व सी.आई.ए. इंचार्ज सुखदेव सिंह जानकारी देते हुए। (राजीव)

बाक्स
लोगों को नोट दोगुने करने का झांसा देकर लूटते थे गिरोह के सदस्य
सी.आई.ए. नरवाना ने जिस गिरोह के 7 सदस्यों को काबू किया है, इस गिरोह के सदस्य लोगों को नोट दोगुने करने का झांसा देकर पूरी योजना बना कर लूटते थे। गत दिवस भी कैथल जिले के करौदा गांव के एक व्यक्ति तथा करनाल जिले के चोचड़ा गांव निवासी व हाल निवासी मुक्तसर (पंजाब) के एक व्यक्ति को नोट दोगुना करने के बहाने से यहां बुलाया गया था। इन दोनों व्यक्तियों के पास कुल 4 लाख रुपए की करंसी थी। इन दोनों व्यक्तियों को कैथल जिले के अगोदा गांव का रहने वाला प्रवीण अपने झांसे में फंसा कर यहां लाया था लेकिन जब गिरोह के सदस्य दनौदा से सैंथली रोड़ पर इस लूट की वारदात को अंजाम देने वाले थे तभी सी.आई.ए. पुलिस टीम ने इन्हें धर दबोचा।
बाक्स
फिल्मी अंदाज में नकली पुलिस कर्मी बनकर आए थे गिरोह के सदस्य
नोट दोगुना करने का लालच देकर लूट की योजना बनाने वाले गिरोह के शातिर सदस्यों को पुलिस प्रशासन का भी खौफ नहीं रहा बल्कि लोगों क ा् आंखों में धूल झोंकने के लिए फिल्मी अंदाज में पुलिस की गाड़ी की तरह इनोवा गाड़ी पर लाल नीली बत्ती लगा कर व पुलिस की वर्दी पहन कर वारदात वाली जगह पर पहुंचे थे। गिरोह के एक सदस्य अजय वासी हसनगढ़ जिला हिसार ने पुलिस की सब इंस्पैक्टर रैंक की वर्दी पहनी हुई थी जबकि बोबुआ गांव निवासी अशोक ने हैड कांस्टेबल की वर्दी पहनी हुई थी। पुलिस ने दोनों के कब्जे से पुलिस की नकली वर्दी भी अपने कब्जे में ले ली है।
बाक्स
गिरोह के सदस्य रामसिंह को हुई थी 10 साल की सजा
कुछ दिन पहले की जेल से आया था बाहर
सी.आई.ए. इंचार्ज सुखदेव सिंह ने बताया कि पकड़े गए गिरोह के सदस्यों में शामिल फतेहाबाद जिले के कासिमपुर गांव के रहने वाले रामसिंह पर 3 मामले पहले ही दर्ज हैं। उन्होंने बताया कि रामसिंह को 2014 में एन.डी.पी.एस. के एक मामले में 10 साल की सजा हुई थी और कुछ समय पहले की जेल से बाहर आया था और अब इस गिरोह में शामिल होकर लूटपाट की घटना को अंजाम दे रहा था। उन्होंने बताया कि इस वारदात के मास्टर माइंड सच्चाखेड़ा गांव निवासी अशोक व सत्यवान पर भी अलग-अलग धाराओं के तहत विभिन्न थानों में कई मामले दर्ज हैं।
बाक्स
कई वारदातों का खुलासा होने की पुलिस को उम्मीद
ए.एस.पी. कुलदीप सिंह ने बताया कि पकड़े गए गिरोह के सदस्यों को अदालत में पेश कर पुलिस रिमांड पर लिया जाएगा और उन्हें उम्मीद है कि गिरोह के सदस्यों से पूछताछ के दौरान कई वारदातों का खुलासा होने की उम्मीद है। उन्होंने बताया कि पुलिस पूछताछ के दौरान गिरोह के सदस्यों ने उझाना गांव के नजदीक गत 25 मई को एक व्यक्ति से गाड़ी छीनने की वारदात को अंजाम देने की वारदात भी कबूल की है। उन्होंने बताया कि फिलहाल पुलिस गिरोह के सदस्यों से गहनता से पूछताछ कर रही है।

Advertisement

Related posts

पहुंचा जींद विधानसभा अध्यक्ष द्वारा गठित विधायकों की सब्जैक्ट कमेटी का शिष्ट मण्डल पहुंचा जींद

admin

शराब तस्करी के 4 मामलों में 5 काबु,

admin

भारत में नागरिकों के  ‘मौलिक अधिकार का उल्लंघन’ हुआ: केरल हाईकोर्ट

admin

Leave a Comment

%d bloggers like this:
URL