Atal hind
टॉप न्यूज़ दिल्ली राष्ट्रीय

जानबूझकर चुना था खास दिन,दिया गया 50 लाख रुपए का लालच , दीप सिद्धू ने भीड़ को उकसाया

जानबूझकर चुना था खास दिन,दिया गया 50 लाख रुपए का लालच , दीप सिद्धू ने भीड़ को उकसाया

लाल किले को नया प्रोटेस्ट पॉइंट बनाना था मकसद, ट्रैक्टर रैली के लिए बड़ी संख्या में खरीदे गए थे ट्रैक्टर- दिल्ली पुलिस
दिल्ली (एजेंसी ) दिल्ली पुलिस ने हाल ही में लाल किले पर हुई हिंसा (Red Fort Violence) के संबंध में चार्जशीट दाखिल की है. दिल्ली पुलिस की चार्जशीट के मुताबिक, 26 जनवरी को लाल किले पर भीड़ ने न केवल ऐतिहासिक स्मारक पर कब्जा करने और निशान साहिब और ‘किसान’ झंडा फहराने की कोशिश की, बल्कि वो इसे नए कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन के लिए नया प्रोटेस्ट पॉइंट बनाना चाहते थे. हिंसा की साजिश के बारे में बताते हुए साल 2019 के मुकाबले 2020 के दौरान हरियाणा और पंजाब में ट्रैक्टर्स की खरीद के आंकड़ों का जिक्र किया गया है. कहा गया है कि जब दिसंबर 2020 में आंदोलन चरम पर था उस वक्त पिछले साल के मुकाबले 95 फीसदी ट्रैक्टर्स की ज्यादा खरीद हुई.

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, 3,232 पन्नों की चार्जशीट में इस बात का विस्तार से जिक्र किया गया है कि लाल किले में हिंसा के लिए किस तरह से साजिश रची गई. दिल्ली पुलिस ने 22 मई को दाखिल की गई इस चार्जशीट में कहा कि हिंसा कृषि कानूनों के विरोध की आड़ में (विरोध) रची गई एक बड़ी साजिश थी. दिल्ली में एंट्री करने वाली अनियंत्रित भीड़ का मुख्य इरादा लाल किले को नया प्रोटेस्ट पॉइंट बनाना था. गणतंत्र दिवस को हुई इस हिंसा में 500 के करीब पुलिसकर्मी घायल हुए.

जानबूझकर चुना था खास दिन
चार्जशीट के मुताबिक गिरफ्तार आरोपियों ने जानबूझकर इसके लिए गणतंत्र दिवस जैसा दिन चुना था. उनका मकसद लाल किले पर निशान साहिब का झंठा फहराकर राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर देश को शर्मिंदा करने का था. पुलिस ने दावा किया है कि उनकी जांच में पता चला है कि ट्रैक्टरों की खरीद एक सुनियोजित साजिश के इरादे से की गई. इनको दिल्ली की ट्रैक्टर परेड में ले जाने के लिए खासतौर पर खरीदा गया था.

कब खरीदे गए ट्रैक्टर
पुलिस ने ट्रैक्टरों की बिक्री के लिए राज्य-वार और महीने-वार डेटा उपलब्ध कराने के लिए ट्रैक्टर और मशीनीकरण संघ को लिखा था. पंजाब में 2019 की तुलना में नवंबर 2020 में ट्रैक्टर की बिक्री में 43.53 फीसदी ज्यादा हुई. वहीं जनवरी 2021 (जब हिंसा हुई) में, जनवरी 2020 की तुलना में बिक्री 85.13% ज्यादा हुई. हरियाणा में नवंबर और दिसंबर 2020 के महीनों की तुलना में बिक्री 31.81% और 50.32% ज्यादा हुई. जनवरी 2021 में, जनवरी 2020 की तुलना में हरियाणा में ट्रैक्टर की बिक्री 48% ज्यादा हुई. चार्जशीट में यह भी आरोप लगाया गया है कि इस साजिश को अंजाम देने में पैसा एक महत्वपूर्ण कारक था.

50 लाख रुपए का लालच
इकबाल सिंह नाम के एक आरोपी ने पूछताछ के दौरान खुलासा किया था कि लाल किले की प्राचीर पर निशान साहिब फहराने में सफल होने पर सिख फॉर जस्टिस ग्रुप ने उसे नकद इनाम देने का वादा किया था. पुलिस ने एक बातचीत के ऑडियो का हवाला दिया है, जिसमें इकबाल सिंह की बेटी कथित तौर पर अपने एक रिश्तेदार से बात कर रही है और बता रही है कि उन्हें 50 लाख रुपए मिलेंगे. पुलिस का दावा है कि इकबाल सिंह 19 जनवरी को एक बैठक के लिए पंजाब के तरनतारन गया था.

दीप सिद्धू ने भीड़ को उकसाया
पुलिस ने कहा कि आरोपी दीप सिद्धू ने एक प्रभावशाली भड़काने वाले की तरह काम किया. पुलिस के मुताबिक कई वीडियोज में सिद्धू ये कहते हुए नजर आ रहा था कि भीड़ तय मार्ग नहीं लेगी बल्कि लालकिले में एंट्री करेगी. पुलिस ने कहा गिरफ्तार आरोपियों और अन्य सदस्यों ने एक सामान्य इरादे से दंगे, सार्वजनिक संपत्ति में तोड़फोड़, सरकारी कर्मचारियों पर हमला और लूटपाट और स्मारक को नुकसान पहुंचाया, जिससे सरकार को भारी नुकसान हुआ.

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

डॉ हर्षवर्धन व  बाबा रामदेव की मिलीभगत ? ,   IMA क्या देगा इन सवालों का जवाब?

admin

‘थप्पड़’ लोकतंत्र की ज़मींदारी है!

admin

बंगाल के चुनाव परिणाम ने भाजपा को ‘एक देश, एक संस्कृति’ की सीमा बता दी है

admin

Leave a Comment

URL