AtalHind
कैथलक्राइमटॉप न्यूज़हरियाणा

कैथल में नकली  पुलिस सब इंस्पेक्टर  गिरफ्तार,

कैथल में नकली  पुलिस सब इंस्पेक्टर  गिरफ्तार, 4 दिन के पुलिस रिमांड पर

Fake Police Sub Inspector arrested in Kaithal on 4 days police remand
Fake Police Sub Inspector arrested in Kaithal on 4 days police remand

कैथल 14 अक्तूबर (अटल हिन्द ब्यूरो ) सीआईए-1 प्रभारी एसआई बीर भान ने दोपहर के समय प्रेस वार्ता दौरान जानकारी दी कि वीरवार की शाम सीआईए-1 पुलिस के एएसआई राज बीर सिंह की टीम पेट्रोलिंग दौरान कुरुक्षेत्र बाईपास चौक पर मौजूद थी, जहां पर पुलिस पार्टी को गुप्त सूत्रों से विश्वसनीय सूचना प्राप्त हुई कि एक लड़का एक्सयूवी-300 गाड़ी में हरियाणा पुलिस के सब इंस्पेक्टर की वर्दी पहन कर सैक्टरो को जाने वाली सड़क पर टाउन एंड कंट्री प्लानिंग कार्यालय के पास गाड़ी में बैठा है तथा उसके पास हरियाणा पुलिस(haryana police) के जाली पहचान पत्र वगैरह है। अगर तुरंत रेड की जाए तो उस नकली पुलिस वाले को काबू किया जा सकता है। सूचना विश्वसनीय होने के कारण पुलिस द्वारा तत्परता व मुस्तैदी से सूझबूझ का परिचय देते हुए उक्त स्थान पर दबिश देकर सब इंस्पेक्टर की वर्दी पहनकर गाड़ी में बैठे आरोपी जिला जींद के सिंसर गांव निवासी विक्रम उर्फ विक्की को काबू कर लिया गया। पुलिस द्वारा गाडी के कब्जा में लेकर गहनता से जांच की गई। जांच दौरान गाडी से एक बटन वाला चाकू तथा 12 बोर के 4 जिंदा कारतूस बरामद हुए। आरोपी के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत थाना सिविल लाईन में मामला दर्ज करके सीआईए-1 से मौके पर पहुंचे एएसआई वीरेंद्र सिंह द्वारा आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया तथा गाडी व अन्य सामान वर्दी, बैल्ट , लाल जूते व नेम प्लेट वगैरह बरामद सामान को कब्जा पुलिस में लिया गया। एसआई ने बताया कि प्रारंभिक पूछताछ में सामने आया कि आरोपी विक्रम अपने अन्य साथियों के साथ मिल कर हरियाणा पुलिस के आई कार्ड तैयार करके वर्ष 2016 से पुलिस पार्टी का गठन करके हरियाणा व अन्य राज्यों में जाकर एसटीएफ की टीम बता कर लोगों पर दबाव बना कर पैसे ऐंठने का काम कर रहा था। आरोपी विक्रम उपरोक्त शुक्रवार को न्यायालय में पेश किया गया। मामले की तह तक जाने, आरोपियों के अन्य साथियों का पता लगाने आदि की जांच के लिए माननीय न्यायालय से आरोपी का 4 दिन पुलिस रिमांड हासिल किया गया है।

Advertisement

Related posts

कैप्टन यादव ने इंद्रजीत को घेरा पूर्व मंत्री अजय का सवाल… इससे बड़ा थाली में छेद क्या होगा !

admin

जल नही बचाएंगे तो भविष्य में आएगी परेशानियां :  प्रदीप दहिया  

admin

किसान आंदोलन की खबर चलाने पर यूट्यूब चैनल बंद करने को लेकर भारत सरकार के इलैक्ट्रोनिक और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय व गूगल को नोटिस*: सुप्रीम कोर्ट ऐडवोकेट प्रदीप रापड़िया ने भेजा नोटिस!

atalhind

Leave a Comment

%d bloggers like this:
URL