AtalHind
राजनीति हरियाणा

अनिल विज और मनोहर लाल खटर को बता दिया की जनता राज हरियाणा में आ रहा है जिसके चलते  भाजपा हरियाणा में अपने लिए सबसे “बड़ी” चुनौती आप को मान रही है?

 

अनिल विज और मनोहर लाल खटर को बता दिया की जनता राज हरियाणा में आ रहा है जिसके चलते  भाजपा हरियाणा में अपने लिए सबसे “बड़ी” चुनौती आप को मान रही है?

आप के “खतरे” का “थर्मामीटर” लगाने को “मजबूर” हुआ भाजपा हाईकमान

Advertisement

हरियाणा में आप की “बड़ी” चर्चाओं ने भाजपा हाईकमान के “कान” खड़े किए


=राजकुमार अग्रवाल ==
चंडीगढ़।  आम आदमी पार्टी की पंजाब में आई “सुनामी” ने हरियाणा के सियासी माहौल में “खलबली” मचा दी है? जिसके चलते पंजाब के पड़ोसी राज्य जहाँ यू टर्न लेने वाली जेजेपी -बीजेपी गठबंधन सरकार सत्ता में है  को “सकते” में डाल दिया है? यही नहीं हरियाणा का प्रधान चौकीदार पंजाब चुनाव परिणाम आते ही मोदी दरबार पहुंचा और हरियाणा में बीजेपी  हाईकमान अपनी कमिया छुपाते हुए आकाओं का गुणगान शुरू है  भाजपा हाईकमान के कान “खड़े” कर दिए हैं?

एका -एक पंजाब में बीजेपी को लगे इस जोर के झटके ने मोदी का बड़बोले और ओछे पण को सामने ला खड़ा किया। हमेशा दूसरों के मामले में टांग अड़ाने वाले हरियाणा बीजेपी के अनिल विज और मनोहर लाल खटर को बता दिया की जनता राज हरियाणा में आ रहा है जिसके चलते  भाजपा हरियाणा में अपने लिए सबसे “बड़ी” चुनौती आप को मान रही है?

Advertisement

यही वजह है की  आप पार्टी को लेकर भाजपा हाईकमान किसी तरह का “रिस्क” लेने के मूड में नहीं है? हरियाणा में बीजेपी को गिरती साख को ध्यान में रख कर बीजेपी हाईकमान कभी भी बड़ा फैंसला लेकर किसी को भी हरियाणा से नो-दो-ग्यारह कर सकता है ? और खतरे का “थर्मामीटर” लगाने को भाजपा हाईकमान “मजबूर” हो सकता है ? जी हाँ

10 मार्च से पहले जिस आम आदमी पार्टी को हरियाणा में “बेहद” कमजोर पार्टी मना जा रहा था वही आम आदमी पार्टी पंजाब में सियासी “सुनामी” लाने के बाद हरियाणा में भी एकदम “बड़ी” ताकत के तौर पर उभरती हुई नजर आ रही है।

आम आदमी पार्टी की हरियाणा के गली-कूचों में छिड़ी बड़ी चर्चाओं ने भाजपा हाईकमान के कान “खड़े” कर दिए हैं और समय रहते आम आदमी पार्टी का “इलाज” करने के लिए भाजपा हाईकमान तैयारियों में जुट गया है।

Advertisement

भाजपा हाईकमान ने पंजाब में आम आदमी पार्टी के सत्ता पर काबिज होने के बाद हरियाणा में पड़े सियासी “असर” का जायजा लेने के लिए 2 अप्रैल को चंडीगढ़ में बैठकर बुला ली है।

भाजपा के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बी एल संतोष 2 अप्रैल को चंडीगढ़ में हरियाणा पर पड़ने वाले आम आदमी पार्टी के संभावित “इफैक्ट” को लेकर हरियाणा के तमाम बड़े नेताओं से चर्चा करेंगे और उसके बाद आप से “निपटने” के लिए रणनीति को तैयार किया जाएगा।

Told Anil Vij and Manohar Lal Khattar that Janata Raj is coming to Haryana, due to which the BJP is considering you as the biggest challenge for itself in Haryana?

Advertisement

आम आदमी पार्टी को भाजपा हाईकमान “हल्के” में नहीं ले रहा है। दिल्ली और पंजाब में सत्ता हासिल करने के बाद हरियाणा में आम आदमी पार्टी के “उभरने” की बड़ी संभावनाओं को देखते हुए भाजपा हाईकमान अभी से “चौकस” हो गया है और इसलिए 2024 की प्लानिंग को लेकर भाजपा हाईकमान ने चंडीगढ़ में “मंथन” करने का फैसला लिया है।

खरी खरी बात यह है कि भाजपा हाईकमान यह बखूबी “समझ” चुका है कि दिल्ली और पंजाब के बाद आम आदमी पार्टी का सबसे ज्यादा “असर” हरियाणा में पड़ सकता है।
हरियाणा में आम आदमी पार्टी के बढ़ रहे असर को दिल्ली तक महसूस किया जा रहा है। इसलिए समय रहते आम आदमी पार्टी की “काट” को तलाशने के लिए भाजपा हाईकमान सक्रिय हो गया है।

बीएल संतोष का चंडीगढ़ में 2 अप्रैल को भाजपा के नेताओं के साथ हरियाणा के सियासी माहौल को लेकर मंथन करने के लिए आना यह बता गया है कि आम आदमी पार्टी को भाजपा हाईकमान “हल्के” में नहीं ले रहा है और इसीलिए समय रहते उसका मुकाबला करने के लिए भाजपा हाईकमान तैयार हो गया है।

Advertisement

भाजपा हाईकमान की आम आदमी पार्टी को लेकर चिंता “जायज” भी है; क्योंकि जिस गैर जाट वोट बैंक के बलबूते पर भाजपा हरियाणा में सत्ता में आई थी वही वोटबैंक आम आदमी पार्टी को पंजाब में सत्ता में लेकर आया है।

भाजपा गैर जाट वोटबैंक पॉलिटिक्स करती है और आम आदमी पार्टी भी इसी वोट बैंक की पॉलिटिक्स करती है।
7 साल से हरियाणा की सत्ता पर “काबिज” भाजपा से “नाराज” और “निराश” गैर जाट वोटरों को अपने पाले में करना आम आदमी पार्टी के लिए “आसान” टारगेट हो सकता है।

भाजपा हाईकमान आम आदमी पार्टी की “ताकत” और “प्लानिंग” को पहचान रहा है।
इसलिए समय रहते भाजपा हाईकमान “सचेत” हो गया है और इसलिए 2 अप्रैल को चंडीगढ़ में हरियाणा के सभी नेताओं के साथ बीएल संतोष की बैठक का कार्यक्रम बनाया गया है।
भाजपा हाईकमान यह “बखूबी” जानता है कि जिस तरह से पंजाब में आम आदमी पार्टी के सभी पार्टियों का “सफाया” कर दिया है उसी तरह आप की सुनामी भाजपा को हरियाणा में “साफ” कर सकती है। पंजाब पंजाब चुनाव परिणाम को भाजपा हाईकमान ने बड़ी “चुनौती” मान लिया है इसलिए हरियाणा में उसे रोकने के लिए बीएल संतोष को भेजने का फैसला लेकर भाजपा हाईकमान ने “समझदारी” भरा फैसला लिया है।
अब देखना यह है कि बी एल संतोष को हरियाणा के नेता क्या “फीडबैक”  देते हैं और बी एल संतोष आम आदमी पार्टी से निपटने के लिए हरियाणा के नेताओं को क्या “गुरु मंत्र” देकर जाते हैं?

Advertisement
Advertisement

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

मनोहर की पोलिस ने क्यों दबोचा इस युवक का मुँह

admin

भूपेंद्र हुड्डा को 16 साल में सबसे बड़ा  झटका   भूपेंद्र हुड्डा ने दूसरे प्रदेश अध्यक्षों और नेताओं की सूचियों को रुकवाकर हमेशा अपनी “मनमानी” करने का काम किया। 

atalhind

गुहला-चीका(कैथल) में 9.80 लाख रुपये से भरा बैग छीन ले गए बाइक सवार बदमाश

admin

Leave a Comment

%d bloggers like this:
URL