AtalHind
गुरुग्रामटॉप न्यूज़हरियाणा

एक ही डिमांड ट्रांसफर पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट के प्रशासनिक जज के सामने रखा पक्ष

एक ही डिमांड ट्रांसफर

पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट के प्रशासनिक जज के सामने रखा पक्ष

पटौदी बार एसोसिएशन का 21 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल पहुंचा हाई कोर्ट

गुरुग्राम, सोहना, पटौदी बार एसोसिएशन के पदाधिकारी एडवोकेट शामिल

पटौदी कोर्ट में जारी है न्यायिक अधिकारी मो सगीर की अदालत का बहिष्कार

पटौदी बार एसोसिएशन के द्वारा आंदोलन के गुरूवार को 15 दिन हुए पूरे

 

फतह सिंह उजाला

गुरुग्राम । जिला गुरुग्राम में पटौदी सबडिवीज की पटौदी ज्यूडिशल कोर्ट कंपलेक्स में न्यायिक अधिकारी मोहम्मद सगीर और पटौदी बार एसोसिएशन के बीच चल रही तनातनी का मामला पंजाब एंड हरियाणा हाई कोर्ट पहुंचा।

बुधवार देर शाम पंजाब एंड हरियाणा हाई कोर्ट के प्रशासनिक न्यायिक अधिकारी माननीय अगस्टाइन जॉर्ज मसीह के द्वारा तलब किया जाने पर पटौदी बार एसोसिएशन के 21 सदस्यों का प्रतिनिधिमंडल मजबूती के साथ अपना पक्ष रखने के लिए उनके समक्ष उपस्थित हुआ ।

इस मौके पर प्रतिनिधी मंडल के द्वारा प्रशासनिक न्यायिक अधिकारी माननीय अगस्टाइन जॉर्ज मसीह बुके भेट कर अभिनंदन सहित आभार व्यक्त किया गया।

पंजाब एंड हरियाणा हाई कोर्ट के प्रशासनिक न्यायिक अधिकारी से बातचीत के दौरान पैरंटरल बार एसोसिएशन गुरुग्राम बार एसोसिएशन, सोहना बार एसोसिएशन, पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट बार काउंसिल के सदस्य सहित अन्य एडवोकेट पदाधिकारी भी मौजूद रहे ।

गौरतलब है कि बीते 10 मार्च से पटौदी बार एसोसिएशन के द्वारा पटौदी कोर्ट में ही न्यायिक अधिकारी मोहम्मद सगीर की अदालत का पूरी तरह से बहिष्कार की घोषणा के बाद यह बहिष्कार जारी है ।

पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट के प्रशासनिक न्यायिक अधिकारी माननीय अगस्टाइन जॉर्ज मसीह के द्वारा तलब किया जाने के उपरांत उनके समक्ष प्रतिनिधि मंडल के द्वारा साक्ष्य तथ्य सहित मजबूती के साथ अपना पक्ष रखा गया ।

प्रतिनिधि मंडल के द्वारा बताया गया है कि माननीय प्रशासनिक अधिकारी ने पटौदी बार एसोसिएशन के प्रतिनिधि मंडल की बातों और तर्क को ध्यानपूर्वक और गंभीरता के साथ सुना । पटौदी कोर्ट में न्यायिक अधिकारी मोहम्मद सगीर के कथित व्यवहार से ना खुश और अप्रसन्न पटौदी बार एसोसिएशन के द्वारा कई अन्य तर्क भी प्रशासनिक न्यायिक अधिकारी के समक्ष प्रस्तुत किए गए ।

इस संदर्भ में उपलब्ध जानकारी के मुताबिक पटौदी बार एसोसिएशन को आश्वासन दिया गया है कि एक पक्ष की बातों को सुन लिया गया , अब आगामी निर्णायक फैसला और कार्रवाई से पहले प्रतिपक्ष का पक्ष जानना भी जरूरी है ।

इसके बाद पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट की कमेटी के द्वारा ही अंतिम फैसला किया जाएगा और जो भी कुछ फैसला होगा उसके विषय में पटौदी बार एसोसिएशन को अवगत करा दिया जाएगा ।

दूसरी ओर पटौदी बार एसोसिएशन तथा एडवोकेट सदस्य का साफ-साफ शब्दों में कहना है कि पटौदी बार एसोसिएशन की पहली और अंतिम मांग यही है कि न्यायिक अधिकारी मोहम्मद सगीर के ट्रांसफर किया जाने से कुछ भी कम मंजूर नहीं है ।

जब तक उनका यहां से ट्रांसफर नहीं हो जाता पटौदी बार एसोसिएशन और एडवोकेट सदस्य के द्वारा न्यायिक अधिकारी मोहम्मद सगीर की अदालत का पूरी तरह से बहिष्कार जारी रहेगा ।

गुरुवार को भी बहिष्कार 15वें दिन में प्रवेश कर गया और कोर्ट का समय समाप्त होने तक पटौदी बार एसोसिएशन के बैनर तले एडवोकेट न्यायिक अधिकारी मोहम्मद सगीर की अदालत की चौखट के बाहर ही धरने पर विरोध और बहिष्कार स्वरूप बैठे रहे ।

बुधवार देर शाम को पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट के प्रशासनिक न्यायिक अधिकारी माननीय अगस्टाइन जॉर्ज मसीह के द्वारा प्रतिनिधि मंडल अन्य एडवोकेट तथा बार काउंसिल के सदस्यों की बातें सुनने के बाद पटौदी बार एसोसिएशन की तरफ से कहा गया है कि प्रतिनिधि मंडल के द्वारा पहले ही 9 मार्च को पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट में संबंधित मामले की जानकारी भेज कर संबंधित न्यायिक अधिकारियों को अवगत करा दिया गया था ।

जिसमें साफ-साफ अवगत कराया गया कि जब तक पटोदी कोर्ट के न्यायिक अधिकारी मोहम्मद सगीर का तबादला नहीं हो जाता, उनकी अदालत का बहिष्कार जारी ही रहेगा। बुधवार को हुई मुलाकात बहुत ही सौहार्दपूर्ण माहौल के बीच पटौदी बार एसोसिएशन के द्वारा रखे गए सभी तथ्यों सहित बातों को बेहद संजीदगी और गंभीरता के साथ में सुनते हुए लिया गया ।

पटौदी बार एसोसिएशन पेरेंटल बार एसोसिएशन गुरुग्राम बार एसोसिएशन तथा सोहना बार एसोसिएशन और एडवोकेट प्रतिनिधियों के द्वारा पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट के न्यायिक प्रशासनिक अधिकारी माननीय अगस्टाइन जॉर्ज मसीही के द्वारा संबंधित विवाद को सुलझाने के लिए दिए गए समय और बार एसोसिएशन की मांग सुनने के लिए उनका आभार व्यक्त किया गया है ।

पटौदी बार एसोसिएशन का साफ-साफ कहना है कि आंदोलन पटौदी कोर्ट के न्यायिक अधिकारी मोहम्मद सगीर के यहां से ट्रांसफर होने के बाद ही स्वता समाप्त हो जाएगा। आवश्यकता अनुसार भविष्य की रणनीति और उस पर अमल करने का विकल्प भी खुला रखा गया है।

Advertisement
Advertisement

Related posts

हर बच्चे को ट्रैक कर उनका स्कूल में दाखिला कराया जाएगा- मनोहर लाल

admin

  भारत के मुख्य न्यायाधीश एनवी रमणा और उनके सहयोगियों(अदालतों) को भारत को बचाने  के लिए सरकारी दमन के ख़िलाफ़ खड़े होना चाहिए

atalhind

कैथल में बच्चों की जिंदगी दांव पर लगा कर सरकारी अधिकारियों के सामने बिना नम्बर के घूमती है स्कूली बसें।

atalhind

Leave a Comment

%d bloggers like this:
URL