AtalHind
धर्म

और खा लो कुट्टू का आटा ,,,,, यमुनानगर व  घरौंडा में   में कुट्टू का आटा खाने से दर्जनों  श्रद्धालु   महिलाएं  बीमार,

और खा लो कुट्टू का आटा ,,,,,

यमुनानगर व  घरौंडा में   में कुट्टू का आटा खाने से दर्जनों  श्रद्धालु   महिलाएं  बीमार,


यमुनानगर (aTAL hIND)नवरात्रि पर्व पर कुट्टू का आटा खाने से पंद्रह श्रद्धालु बीमार हो गए। गंभीर हालत में उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया। वहीं, प्रशासन द्वारा दर्जन भर दुकानों से कुट्टू के आटे के सैंपल लिए हैं और मामले में कार्रवाई की जा रही है। शहर के छोटे मॉडल टाउन निवासी दीपक ने बताया कि उन्होंने कॉलोनी स्थित दुकान से कुट्टू की आटा लिया था। शनिवार शाम को उन्होंने परिवार के साथ कुट्टू के आटे की रोटी से व्रत खोला था। मगर देर रात उन्हें पेट दर्द व उल्टियां की शिकायत हो गई। गंभीर हालत में उसे, उसकी बहन नेहा, जीजा अंकित स्याल, सानिया व दक्ष की तबियत बिगड़ गई। गंभीर हालत में उन्हें निजी अस्पताल में भरती करवाया गया। उन्होंने बताया कि कुट्टू का आटा खाने से उनके परिवार के दस लोगों समेत पंद्रह लोग बीमार हो गए। सभी को आजाद नगर स्थित निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया। कुट्टू के आटे से लोगों के बीमार होने की सूचना मिलते ही रविवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने दुकानों पर पहुंचकर आटे के सैंपल लिए। साथ ही दुकानदारों को नवरात्र के अवसर पर पुराना हो चुका कुट्टू का आटा नहीं बेचने के निर्देश दिए।

And eat buckwheat flour,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,, dozens of devotees, women, sick after eating buckwheat flour in Yamunanagar, Vagharaunda,

15 लोग हुए दाखिल
जिला सिविल सर्जन डॉ. पूनम दहिया ने बताया कि अभी तक कुट्टू का आटा खाने बीमार हुए पंद्रह लोग अस्पताल में दाखिल हुए हैं। जिनकी हालत में सुधार है। उन्होंने बताया कि कुट्टू का आटा खाने से पेट में दर्द, तीव्र दर्द ,उल्टी व दस्त की शिकायत हो जाती है। उन्होंने दुकानदारों को हिदायत दी कि पुराना हो चुका कुट्टू का आटा यदि दुकानों पर पाया गया तो कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने व्रतियों को भी उपवास के दौरान खानपान में एहतियात बरतने की सलाह दी।

 

घरौंडा में कुट्टू का आटा बना उपवास धारियों की जान का आफत, दो दर्जन से अधिक लोगों की तबीयत बिगड़ी

नवरात्रि पर फलाहार के रूप में खाए जाने वाला कुट्टू का आटा व्रतधारियों की जान का आफत बन गया। कुटटू के आटे के पकवान खाने से शहर व ग्रामीण क्षेत्रों में दो दर्जन से ज्यादा लोगों की तबीयत बिगड़ गई। आनन-फानन में सभी घरौंडा के सरकारी अस्पताल में भर्ती करवाया। अस्पताल में अफरा तफरी का माहौल देखने को मिला। कुछ मरीजों को तो प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी, जबकि अधिकतर को अस्पताल में भर्ती कर लिया और दो की हालत गंभीर देखते हुए करनाल के कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज में रेफर कर दिया। लोगों का आरोप है कि मार्केट में कुट्टू का खराब और पुराना आटा सप्लाई हो रहा है और यहीं कारण है कि इतनी भारी संख्या में लोगों की तबीयत बिगड़ गई। लोगों ने प्रशासन पर लापरवाही के आरोप लगाए है।
शनिवार को पहला नवरात्रि शुरू हुआ। श्रद्धालुओं ने दुर्गा मां की उपासना कर संध्या समय कुट्टू व शामक के आटे से बने पकवान खाए। जिसके बाद उपवास धारियों की हालत खराब होनी शुरू हो गई। तबीयत बिगड़ी तो लोगों के घरों में हाहाकार मच गया। किसी को कंपकंपी महसूस होने लगी तो किसी को उल्टी और दस्त शुरू हो गए। किसी का बेटा-बहू बीमार हुआ तो किसी का बच्चा और किसी का पति। कुछ बुजुर्ग भी अस्पतालों में उपचाराधीन है। शनिवार की आधी रात को ही सरकारी अस्पताल में मरीज आना शुरू हो गए थे। जिसके बाद डॉक्टरों ने उपचार शुरू किया।

रविवार की सुबह तक अस्पताल के सभी बैड मरीजों से भरे हुए थे। एक-एक बेड पर दो-दो मरीजों को लेटाया हुआ था। अराईपुरा के कुलबीर सिंह, रीटा, बाला, निशांत, अजय, विनोद व अन्य का आरोप है कि जो आटा दुकानों पर बिक रहा है, वह आउटडेटिड है। मुनाफाखोर लोगों की आस्था और स्वास्थ्य दोनों से खिलवाड़ कर रहे है। जिसका नतीजा है कि आज घरौंडा व ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों की हालत खराब हुई है, लेकिन ऐसे मुनाफाखोरों के खिलाफ प्रशासन कोई एक्शन नहीं लेता।

आधी रात को ही अस्पताल में मरीज आने शुरू हो गए थे। सभी को फूड पॉइजनिंग की ही समस्या थी। किसी को घबराहट हो रही थी तो किसी को उल्टी दस्त आ रहे थे। मरीजो से बात करने पर पता चला है कि इन्होंने कुट्टू के आटे से बने पकवान खाए थे। जिसकी वजह से हालत खराब हुई। मरीजों को उपचार दिया जा रहा है। दो को करनाल रेफर भी किया गया है। -डॉ. अजय, सीएचसी घरौंडा।

सरकारी अस्पताल में इन इलाकों से भर्ती हुए मरीज
सरकारी अस्पताल में वार्ड छह की प्रिया (23 वर्ष) पुत्री राजसिंह, घरौंडा की शिमला (65 वर्ष) पत्नी रामपाल, कमल (38 वर्ष) पुत्र कृष्ण वार्ड-17, ज्योति (34 वर्ष) पत्नी कमल वासी वार्ड 17, चेतन (38 वर्ष) पुत्र सुरेश वासी वार्ड-13, वेदपाल (37 वर्ष) पुत्र सतपाल वार्ड-17, ममता (43 वर्ष) पत्नी विनोद वार्ड-17, मंजू (8 वर्ष) पुत्री सोनू वार्ड-6, ममता (42 वर्ष) पत्नी नवीन कुमार घरौंडा, मुस्कान (18 वर्ष) पुत्री नवीन कुमार घरौंडा, सुभाष (64 वर्ष) पुत्र प्रेम नाथ वार्ड-17, गूंजन (8 वर्ष) पुत्री वेदपाल वार्ड-17, संतोष (63 वर्ष) पत्नी सुभाष घरौंडा, रीटा (56 वर्ष) पत्नी प्रमोद घरौंडा, बाला देवी (70 वर्ष) पत्नी राकेश वार्ड-14, रवि (35 वर्ष) पुत्र राजू वार्ड-15, कुलबीर सिंह (50 वर्ष) पुत्र जिले सिंह अराईपुरा, विशाल (18 वर्ष) पुत्र पुष्पेंद्र अराईपुरा, अजय (20 वर्ष) पुत्र रामभूल अराईपुरा, विनोद (36 वर्ष) पुत्र ओमप्रकाश वार्ड-17, बाला देवी (62 वर्ष) पत्नी राकेश घरौंडा, रवि (35 वर्ष) पुत्र राजू वार्ड-15, सरोज (30 वर्ष) पत्नी रवि वार्ड नंबर 15 घरौंडा भर्ती हुए।

Advertisement
Advertisement

Related posts

इस मंदिर में तीनों पहर बदलता है माता का स्वरुप, दूर-दूर से चमत्कार देखने आते हैं भक्त

atalhind

कुंडली में बन रहा श्री अग्रसेन धाम माता महालक्ष्मी का सिद्ध पीठ होगा

atalhind

AshaTha Gupt Navratri : 30 जून से शुरू होंगे गुप्त नवरात्र, जानिए पूजन विधि और महत्व

atalhind

Leave a Comment

%d bloggers like this:
URL