AtalHind
गुरुग्राम (Gurugram)हेल्थ

पोलियो उन्मूलन अभियान गुरुग्राम जिला में 501 हाई रिस्क वाले क्षेत्र चिन्हित  किए गए

तीन लाख 78 हजार 346 बच्चों को पोलियो के ड्राप्स पिलाए जाने का लक्ष्य
गुरुग्राम में दस दिसंबर से चलाया जाएगा पोलियो उन्मूलन अभियान
गुरुग्राम जिला में 501 हाई रिस्क वाले क्षेत्र चिन्हित  किए गए
अभियान की सफलता के लिए टीम वर्क के रूप में काम करें अधिकारी
फतह सिंह उजाला 
गुरूग्राम, 28 नवंबर। एडीसी हितेश कुमार मीणा ने कहा है कि जिला में 10 दिसंबर से तीन दिवसीय पोलियो उन्मूलन अभियान चलाया जाएगा।‌ इस अभियान को सफल बनाने के लिए सभी विभाग एक टीम के रूप में मिल कर काम करेंगे। 
 लघु सचिवालय के सभागार में स्वास्थ्य विभाग की जिला टास्क फोर्स की आयोजित हुई इस बैठक में एडीसी ने कहा कि पाकिस्तान, अफगानिस्तान जैसे पड़ोसी देशों में अभी भी पोलियो के केस पाए जाने के कारण राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में पोलियो उन्मूलन अभियान चलाया जाता है। इस अभियान के दौरान पांच वर्ष तक की आयु के तीन लाख 78 हजार 346 बच्चों को पोलियो के ड्राप्स पिलाए जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। जिसके लिए 1563 बूथ बनाए जाएंगे। रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड, पार्क, माॅल आदि सार्वजनिक स्थानों पर छोटे बच्चों को पोलियो की दवा पिलाने के लिए 113 मोबाइल टीमें और ईंट भट्ठों, मलिन बस्तियों आदि के लिए 37 ट्रांजिट टीमें गठित की गई हैं। एडीसी ने बताया कि हरियाणा रोडवेज, शिक्षा विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग, विकास एवं पंचायत, नगर निगम, क्षेत्रीय परिवहन प्राधिकरण आदि विभाग इस अभियान में सक्रिय योगदान देंगे। 
एडीसी हितेश कुमार मीणा ने कहा कि पोलियो उन्मूलन अभियान के लिए गुरुग्राम जिला में 501 हाई रिस्क वाले क्षेत्र चिन्हित किए गए हैं। इन सभी एरिया में अभियान को सफल बनाने के लिए विशेष फोकस किया जाए। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग इस प्रकार के अभियान में नागरिकों का डाटा प्राप्त करने के लिए मानव संसाधन विकास विभाग का सहयोग ले सकता है। बैठक में सीएमओ डॉ. वीरेंद्र यादव ने बताया कि पोलियो उन्मूलन अभियान की कामयाबी  के लिए स्वास्थ्य विभाग ने पूरी तैयारी कर ली है। उन्होंने बताया कि भारत में पोलियो का आखिरी मामला बंगाल के हावड़ा में पाया गया था। फिर भी सावधानीपूर्वक इस अभियान को भारत में पड़ोसी देशों से यात्रियों के आवागमन को देखते हुए चलाया जाता है। स्वास्थ्य विभाग के जिला टीकाकरण अधिकारी डा. जेपी राजलीवाल ने बैठक में पोलियो उन्मूलन, वरिष्ठ नागरिक की चिकित्सा सेवा आदि पर विस्तार से प्रकाश डाला। 
नए दस आयुष्मान आरोग्य केंद्र स्थापित किए 
सचिवालय सभागार में एडीसी की अध्यक्षता में जिला स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण समिति की भी बैठक आयोजित की गई। इसमें डा. प्रदीप कुमार ने बताया कि जिला में नए दस आयुष्मान आरोग्य केंद्र स्थापित किए गए हैं और 30 अन्य सैंटर स्थापित किए जाने की योजना है। प्रत्येक आयुष्मान आरोग्य केंद्र पर करीब पांच लाख रुपए की राशि खर्च की जाएगी। अतिरिक्त उपायुक्त ने कहा कि इन केंद्रों पर पर्याप्त स्टाफ की नियुक्ति के लिए स्वास्थ्य विभाग के चंडीगढ़ मुख्यालय से संपर्क किया जाए। बैठक में रोडवेज जीएम प्रदीप अहलावत, शिक्षा विभाग से अंशु सिंगला, महिला एवं बाल विकास कार्यक्रम अधिकारी नेहा दहिया, विश्व स्वास्थ्य संगठन के डा. मनु खन्ना, सोहना के एसएमओ डा. इंद्रजीत इत्यादि मौजूद रहे।
Advertisement

Related posts

जो भी कोई है जिम्मेदार, उसके खिलाफ दर्ज हो एफआईआर !हेलीमंडी आर ओ बी पर जाटोली की तरफ सड़क के बीच जानलेवा खड्डा

atalhind

सरकार जी…पटौदी बार के एडवोकेटस की भी सुन लो फरियाद

admin

हाई कोर्ट के वकील प्रदीप रापडिया ने कोरोनिल खरीद में सूचना के अधिकार के तहत सरकार के निर्णय पर खड़े किए गंभीर सवाल!

admin

Leave a Comment

URL