AtalHind
टॉप न्यूज़साहित्य/संस्कृतिहरियाणा

हेलीमंडी में धूमधाम से मनाया गया महाराजा अग्रसेन जयंती महोत्सव

महाराजा अग्रसेन ने मजबूत सामाजिक संरचना की नींव रखी

हेलीमंडी में धूमधाम से मनाया गया महाराजा अग्रसेन जयंती महोत्सव

महाराजा अग्रसेन की प्रतिमा की कराई गई हेलीमंडी में नगर परिक्रमा

अग्रवाल सम्मेलन हेली मंडी के तत्वाधान में कार्यक्रम का आयोजन हुआ

अग्र समाज को अनंत काल तक प्रेरणा देते रहेंगे महाराजा अग्रसेन

विभिन्न प्रतिभाशाली युवाओं को किया गया विशेष रूप से सम्मानित

Maharaja Agrasen Jayanti Festival celebrated with pomp in Helimandi
Maharaja Agrasen Jayanti Festival celebrated with pomp in Helimandi

अटल हिन्द ब्यूरो /फतह सिंह उजाला
पटौदी । अग्रसेन महाराज कौन थे जिनकी  पटौदी मंडी नगर परिषद के हेलीमंडी में महाराजा अग्रसेन के 5187 वें जन्मोत्सव के उपलक्ष पर अग्रवाल सम्मेलन हेलीमंडी के तत्वाधान में अग्र  समागम के मौके पर धूमधाम और उत्साह के साथ महाराजा अग्रसेन की प्रतिमा की नगर परिक्रमा कराई गई । महाराजा अग्रसेन की प्रतिमा को शानदार तरीके से सजाए गए रथ पर विराजमान कर फूल बरसाते हुए तथा ढोल नगाड़े के साथ हेलीमंडी के विभिन्न प्रमुख बाजार और मार्ग से परिक्रमा करवाते हुए मुख्य आयोजन स्थल गोपी कृष्ण वाटिका में ले जाकर सम्मान सहित विराजमान किया गया।
महाराजा अग्रसेन जी का जन्म कब और कहां हुआ था? महाराजा अग्रसेन अग्रवाल जाति के पितामह थे। धार्मिक मान्यतानुसार इनका जन्म आश्विन शुक्ल प्रतिपदा को मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम की 34वीं पीढ़ी में सूर्यवंशी क्षत्रिय कुल के प्रतापनगर के महाराजा वल्लभ सेन के घर में द्धापर  के अंतिम काल और कलियुग के प्रारंभ में आज से लगभग 5,187 वर्ष पूर्व हुआ था।

अग्र बंधुओं के पितृपुरुष महाराजा अग्रसेन भगवान राम के वंशज और भगवान श्रीकृष्ण के समकालीन थे। वे राजा राम के पुत्र कुश की 34वीं पीढ़ी की संतान थे। महाभारत के युद्ध में 15 साल की आयु में पिता के साथ शामिल भी हुए थे। महाराजा अग्रसेन के जीवन में राम-कृष्ण और महालक्ष्मी का काफी प्रभाव था।

Maharaja Agrasen Jayanti Festival celebrated with pomp in Helimandi
Maharaja Agrasen Jayanti Festival celebrated with pomp in Helimandi

यहां मुख्य कार्यक्रम का आयोजन महाराजा अग्रसेन की प्रतिमा के समक्ष अग्रवाल समाज के विभिन्न प्रबुद्ध नागरिकों के द्वारा दीप प्रज्वलित करने और पुष्प अर्पित करने के साथ आरंभ हुआ । इस मौके पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पूर्व पार्षद आनंद भूषण गोयल, श्रीमती मधु गोयल , सुभाष जिंदल , अग्रवाल सम्मेलन हेली मंडी के संरक्षक डॉ त्रिलोक चंद गुप्ता, प्रधान अजय मंगला , अमित मित्तल, मनोज जी मनोज सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे ।

इस मौके पर विभिन्न वक्ताओं के द्वारा महाराजा अग्रसेन के द्वारा समाज के सभी वर्गों के और 36 बिरादरी के लिए किए गए कार्यों की विस्तार से जानकारी देते हुए महाराजा अग्रसेन के दिखाए गए मार्ग पर चलने और अमल करने का आह्वान किया गया। वक्ताओं के द्वारा कहा गया कि महाराजा अग्रसेन नें समाज के प्रत्येक व्यक्ति को एक बराबर अथवा एक समान बनाने के लिए ही एक रुपया और एक ईट देने की परंपरा की नींव रखी थी । आज भी समस्त अग्र समाज यथा सामर्थ सामाजिक कार्यों में ,प्रदेश के कार्यों में, राष्ट्रहित में अपना यथासंभव आर्थिक सहयोग सबसे अधिक प्रदान करता आ रहा है । महाराजा अग्रसेन के द्वारा दान देने के दिखाए गए मार्ग पर आज भी अग्र समाज के प्रत्येक व्यक्ति के द्वारा यथा समर्थ सहयोग किया जाता आ रहा है । फिर चाहे देश में किसी भी प्रकार की आपदा हो या अन्य कोई जरूरत या संस्थान का निर्माण, शिक्षण संस्थान का निर्माण, धर्मशाला का निर्माण, गरीब और जरूरतमंद लोगों की आर्थिक मदद सहित विभिन्न प्रकार के कार्यों में अग्र बंधु हमेशा सबसे आगे अपना सहयोग देने के लिए तत्पर मिलते हैं ।

Maharaja Agrasen Jayanti Festival celebrated with pomp in Helimandi
Maharaja Agrasen Jayanti Festival celebrated with pomp in Helimandi

इस मौके पर विशेष रुप से रमेश गर्ग सेठी, शिव कुमार गुप्ता, दिनेश गोयल, नीरज अग्रवाल ,कुसुम गुप्ता, बुलबुल जैन, नवीन बिट्टू मित्तल, हेलीमंडी पालिका के पूर्व चेयरमैन सुरेश यादव, पूर्व वाइस चेयरमैन विक्रांत विक्की चौहान, कमल गोयल? अमित गोयल , हैप्पी जैन, लोकेश जैन, सुभाष गोयल , शालिनी गर्ग, स्नेहा गुप्ता, शीतल गुप्ता , बबीता अग्रवाल, पूजा गोयल, श्रीमती कमल गुप्ता सहित अनेक गणमान्य व्यक्ति तथा अन्य जिलों से आए हुए अग्र समाज के प्रबुद्ध नागरिक और परिजन इस भव्य कार्यक्रम में उपस्थित रहे ।

इसी मौके पर अग्रवाल समाज के विभिन्न क्षेत्रों में श्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले युवाओं में शामिल ईशान गुप्ता, आकाश ,साहिल, पुलकित ,कीर्ति को विशेष रूप से पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया । महाराजा अग्रसेन की स्मृति में आयोजित इस कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण रात्रि कालीन कवि सम्मेलन रहा । इस कवि सम्मेलन में देश के जाने माने कवि दिनेश रघुवंशी , अरुण जैमिनी ,युसूफ भारद्वाज, प्रीति अग्रवाल, धीरज हरियाणवी के द्वारा अपनी रचनाओं के माध्यम से भारतीय प्राचीन सनातन संस्कृति से लेकर मौजूदा हालात पर अपनी अपनी रचनाओं के माध्यम से संदेश देते हुए बहुत गहरी और अनुकरणीय बातें समाज के बीच में प्रस्तुत की गई । कवियों के द्वारा मुख्य रूप से यही संदेश दिया गया कि बुजुर्गों के दिखाए गए और बताए मार्ग और अनुभव से हम सभी को आजीवन प्रेरणा लेते रहना चाहिए । हमारे पूर्वजों के द्वारा जो भी परंपरा की नींव रखी गई , उसका मकसद यही था कि हमारा अपना सामाजिक ताना-बाना तथा राष्ट्र की एकता और अखंडता हमेशा बनी रहे । इसी मौके पर कार्यक्रम में पहुंचे विभिन्न लोगों के नाम दर्ज करके लकी ड्रा के माध्यम से पुरस्कार भी प्रदान किए गए।

Advertisement

Related posts

कैथल पोलिस का आप्रेशन नाईट डोमिनेशन 7  मामलों में 3 नाबालिगों सहित 10 आरोपी काबु,

admin

HARYANA NEWS-मनोहर लाल खटटर खुद तो डूबे ही साथ में अपनी पार्टी बीजेपी और सहयोगी पार्टी जेजेपी को भी जनता के बीच जाने लायक नहीं छोड़ा।?

editor

मनोहर सरकार के लिए सिरदर्द बनी   देहात की  सरकार बोली  पहले पहले बनाया जाए अंडरपास,अधिकारी दे लिखित आश्वासन तब खुलेगा रोड जाम

atalhind

Leave a Comment

URL