Atal hind
चण्डीगढ़  टॉप न्यूज़ राजनीति हरियाणा

भूपेंद्र यादव की “सक्रियता” का हुआ “बड़ा” इफेक्ट

हरियाणा भाजपा में भूपेंद्र यादव की “सक्रियता” का हुआ “बड़ा” इफेक्ट
यादव का ख्याल रखते हुए “खासम-खास” समर्थक नेता को दी गई “बड़ी” जिम्मेदारी
केंद्रीय मंत्री की विश्वासपात्र सुमित्रा चौहान को पंचायती राज चुनाव में सौंपी गई कोऑर्डिनेटर की जिम्मेदारी

 

चंडीगढ़। हरियाणा भाजपा में केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव की सक्रियता का बड़ा “इफेक्ट” देखना आरंभ हो गया है। 4 दिन पहले दक्षिण हरियाणा में भूपेंद्र यादव द्वारा निकाली गई जन आशीर्वाद यात्रा के बाद हरियाणा भाजपा से जुड़े हुए नेता उनकी “पसंद” का “ख्याल” रखने लग गए हैं।
भूपेंद्र यादव की हरियाणा की सियासत में रुचि और केंद्रीय हाईकमान में उनके रुतबे को देखते हुए हरियाणा भाजपा में उनके समर्थकों को पहली बार खास “अहमियत” मिल गई है।
भूपेंद्र यादव की हरियाणा में सबसे बड़ी विश्वासपात्र महिला मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष सुमित्रा चौहान को आज पंचायती राज चुनाव की कमेटी में कोऑर्डिनेटर के तौर पर शामिल कर लिया गया।
सुमित्रा चौहान को मंत्री कंवरपाल गुर्जर, मंत्री कमलेश ढांडा, सांसद डीपी वत्स, विधायक महिपाल ढांडा के साथ इस कमेटी में रखा गया है।
सुमित्रा चौहान की पंचायती राज चुनाव कमेटी में एंट्री “खास” मायने रखती है। इसी साल 16 जुलाई को भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ ने जब पंचायती राज चुनाव कमेटी का गठन किया था तो उसमें सुमित्रा चौहान को जगह नहीं मिली थी।

आज उसी कमेटी को पुनर्गठित करते हुए सभी सदस्यों को कोऑर्डिनेटर के तौर पर शामिल कर लिया गया। पुनर्गठन की सूची में सुमित्रा चौहान को भी शामिल किया गया। यह भी कह सकते हैं कि सिर्फ सुमित्रा चौहान को कमेटी में शामिल करने के लिए दोबारा कमेटी बनाई गई।
सुमित्रा चौहान भाजपा में शामिल होने के 2 साल के अंदर महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष बनाने का बड़ा “मुकाम” हासिल करने में सफल रही।
आम तौर पर भाजपा में बाहर से आए हुए नेताओं को संगठन में कोई अहम जिम्मेदारी नहीं दी जाती है, लेकिन सुमित्रा चौहान ने भाजपा ज्वाइन करने के बाद डेढ़ साल के दौरान भाजपा के प्रति दिखाई “निष्ठा” और “कार्यों” के बलबूते पर भाजपा ने अपने संविधान में संशोधन करते हुए उन्हें संगठन में बेहद अहम पद देने का काम किया।
आज ओम प्रकाश धनखड़ द्वारा पंचायती राज चुनाव कमेटी को नए सिरे से सिर्फ सुमित्रा चौहान के लिए गठित करना हरियाणा भाजपा में नए दौर की शुरुआत कहा जा सकता है।
केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव के समर्थकों का ख्याल रखना हरियाणा भाजपा में बदले माहौल की कहानी कह रहा है।
महिला मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद मंत्रियों के साथ पंचायती राज चुनाव कमेटी में शामिल होने से जहां सुमित्रा चौहान का सियासी रसूख बड़ा है वही वह पहली कतार कि नेताओं में भी शामिल हो गई हैं।
भाजपा हाईकमान और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ओम प्रकाश धनखड़ द्वारा सुमित्रा चौहान को बड़ी जिम्मेदारियां देना यह बताया गया है कि भविष्य की सियासत के हिसाब से भाजपा में वर्किंग शुरू हो गई है।
भूपेंद्र यादव का हरियाणा की सियासत में इंट्री मारना और उसके बाद उनके समर्थकों को बड़ी जिम्मेदारी देना पार्टी के अंदर चल रही बड़ी हलचल का भी संकेत दे गया है।

Advertisement

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

नरवाना में  युवक की मौत से गुस्साए परिजनों ने हाईवे पर शव रखकर जींद-पटियाला नैशनल हाईवे किया जाम

atalhind

कैथल के डॉक्टर नीलम कक्कड़ और डॉक्टर बीबी कक्कड़ के खिलाफ 18 साल बाद एफआईआर दर्ज करने के आदेश

atalhind

नूरपुर एसटीपी प्लांट  शिफ्टिंग  कहीं पावर पॉलिटिक्स का गेम तो नहीं !

atalhind

Leave a Comment

%d bloggers like this:
URL