AtalHind
मनोरंजन हेल्थ

वियाग्रा कोई सेक्स टॉनिक नहीं

वियाग्रा कोई सेक्स टॉनिक नहीं

BY—-वीरेंद्र बहादुर सिंह
3 जुलाई को नागपुर में एक 25 साल के युवक की हार्टअटैक से मौत हो गई थी। पुलिस जांच में युवक की जेब से वियाग्रा की गोलियां मिली थीं। पुलिस को शक है कि होटल में गर्लफ्रेंड के साथ संबंध बनाते समय वियाग्रा का ओवरडोज लेने के कारण उस युवक की हार्टअटैक आने से मौत हुई है।4 जून को उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में वियाग्रा के ओवरडोज के कारण घंटों तक इरेक्शन यानी यौन उत्तेजना यानी दर्द से हैरान एक 28 साल के युवक की दो सर्जरी की गई। कुछ महीने पहले शादी करने वाले इस युवक ने दोस्तों की सलाह पर वियाग्रा कि ओवरडोज लेना शुरू किया था।
ये दोनों घटनाएं आसमानी रंग की टेबलेट यानी वियाग्रा को ले कर लोगों में ज्यादा जानकारी न होने की बात दर्शाती हैं। सामान्य रूप से वियाग्रा को सेक्स पावर बढ़ाने की दवा माना जाता है। जबकि यह पूर्ण सत्य नहीं है। तो आइए जानते हैं यह दवा शरीर में क्या करती है? इसके साथ जुड़ी गलत जानकारियों को तथा इसके मजेदार खोज के बारे में भी।
फाइजर बना रही थी हार्ट की दवा, गलती से बन गई नपुंसकता मिटाने वाली दवा
1989 में अमेरिका की दवा बनाने वाली कंपनी फाइजर की टीम एंजाइना यानी कि हार्ट की बीमारी के इलाज के लिए दवा बनाने पर काम कर रही थी। एंजाइना ऐसी कंडीशन है, जिसमें हार्ट को रक्त पहुंचाने वाली नसें सिकुड़ जाती हैं, जिसकी वजह से सीने में दर्द और सांस लेने में तकलीफ होने लगती है।फाइजर ने एक नया कंपाउंड सिल्डेनाफिल बनाया और उसका परीक्षण कई पुरुषों पर किया। क्लिनिकल ट्रायल में सिल्डेनाफिल हार्ट के दर्द से राहत दिलाने में असफल रहा। ऐसे में फाइजर ने इस प्रोजेक्ट को बंद करने का निर्णय लिया। जबकि तमाम ट्रायल में शामिल पुरुषों पर कुछ अलग ही असर देखने को मिला।
ट्रायल में शामिल ज्यादातर पुरुषों को इस दवा से यौन उत्तेजना का अनुभव हुआ इसकी वजह से उनकी सेक्स लाइफ में सुधार हुआ। यानी कि फाइजर जिस दवा को हार्ट में रक्त का फ्लो सही ढ़ंग से होने के लिए बना रही थी, उसने वह काम पेनिस की नसों के लिए किया।इस परिणाम के बाद फाइजर इरेक्टाइल डिस्फंक्शन यानी कि पुरुषों को नपुंसकता की समस्या से निकालने के लिए एक्सपेरिमेंट शुरू कर दिया। 1996 में कंपनी को इस दवा के लिए पेटेंट मिला। 1997 में उसने लाइसेंस के लिए यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन यानी कि एफडीए में अप्लाई किया।
एफडीए ने 27 मार्च, 1998 को सिल्डेनाफिल नामक दवा को मेडिकल यूज के लिए मंजूरी दे दी। सिल्डेनाफिल का ही ब्रांड नाम वियाग्रा है। अप्रैल,1998 में पुरुषों की नपुंसकता मिटाने वाली दवा वियाग्रा अमेरिका के मेडिकल स्टोरों में पहुंच गई।
यौन क्षमता को बढ़ाने के काम आती है वियाग्रा
दरअसल, वियाग्रा के उपयोग से पेनिस में ब्लड फ्लो बढ़ जाता है। जिसकी वजह से उसमें इरेक्शन यानी कि उत्तेजना होती है। सही बात तो यह है कि 70-80 प्रतिशत पुरुषों की यौन समस्या मानसिक होती है। ऐसे लोगों को वियाग्रा नहीं लेना चाहिए। जिन्हें गंभीर समस्या हो, उन्हीं को वियाग्रा लेना उचित है। नागपुर में वियाग्रा लेने से एक आदमी की मौत हो गई और प्रयागराज में एक आदमी घंटों उत्तेजना के दर्द से परेशान रहा। डाक्टरों के अनुसार ऐसे मामलों के लिए मेडिकल स्टोर या ब्लैक मार्केट से वियाग्रा की 100द्वद्द का ओवरडोज लेना जिम्मेदार होता है। सामान्य रूप से डाक्टर वियाग्रा की 20-25द्वद्द लेने की सलाह देते हैं।
वियाग्रा लेने से पुरुषों में उत्तेजना कैसे आती है
वियाग्रा बनाने के पीछे सोच थी कि नाइट्रिक आक्साइड को रिलीज कर के हार्ट के मसल्स में खून के फ्लो को बढ़ा दिया जाए। नाइट्रिक आक्साइड शरीर में मसल्स को रिलैक्स करता है। मसल्स के रिलैक्स होने से खून का फ्लो बढ़ जाता है। शरीर में यह केमिकल सेक्सुअल उत्तेजना के दौरान नेचुरली रिलीज होता है, जो पिनाइल मसल्स को और खून के फ्लो को बढ़ा देता है। इसी से यौन उत्तेजना यानी इरेक्शन होता है। वियाग्रा खाने से शरीर में नाइट्रिक आक्साइड बढ़ता है। जबकि यह हार्ट से अधिक पिनाइल मसल्स पर असर करता है। इस वजह से वियाग्रा लेने से पुरुषों की यौन उत्तेजना बढ़ती है।
वियाग्रा को ज्यादातर लोग टानिक समझते हैं, इसे ले कर लोगों के मन में तमाम भ्रम हैं
मेडिकल एक्सपर्ट के बताए अनुसार, वियाग्रा कोई टानिक नहीं है। वियाग्रा किसी व्यक्ति की सेक्स की इच्छा भी नहीं बढ़ाती। इसे लेने से सेक्स की इच्छा हो, ऐसा भी नहीं है। यह नपुंसकता पर भी कोई असर नहीं करती। यह बात भी गलत है कि वियाग़ा शिथिल पेनिस में उत्तेजना पैदा करती है। वियाग्रा मात्र उन लोगों की मदद करती है, जिन्हें यौन उत्तेजना तो होती है, पर लंबे समय तक यथावत नहीं रहती, जो एक संतोषजनक सेक्सुअल इंटरकोर्स के लिए जरूरी है। वियाग्रा से प्रेग्नेंसी नहीं रुकती। इससे एचआईवी जैसी सेक्सुअल ट्रांसमिटेड बीमारियां फैलने से भी नहीं रुकतीं। एक्सपर्ट का मानना है कि लोग वियाग्रा को पार्टी वाली दवा समझते हैं। जबकि यह सोच पूरी तरह गलत है। सामान्य रूप षे डाक्टर 25 से 30द्वद्द की डोज लेने की सलाह देते हैं। एक दिन में वियाग्रा की एक से अधिक टेबलेट नहीं लेनी चाहिए। प्रयागराज वाले युवक ने वियाग्रा की एक ही दिन में 250द्वद्द की डोज ले ली थी। यह सामान्य डोज की अपेक्षा 8 गुनी अधिक है। वियाग्रा का ओवरडोज लेने से प्रयागराज वाले युवक को क्कह्द्बड्डश्चद्बह्यद्व नामक समस्या हो गई थी। इस स्थिति में काफी समय तक पेनिस में इरेक्शन रहता है, जिससे काफी दर्द होता है। इसका इलाज करने के बाद आदमी हमेशा के लिए नपुंसक हो सकता है। एक्सपर्ट का मानना है कि वियाग्रा को बेचने को ले कर सरकार को सख्त नियम बनाना चाहिए, साथ ही केमिस्ट को भी इसे बेचने पर जिम्मेदार बनाना चाहिए।
लांच होते ही वियाग्रा ने तोड़ दिए थे सारे रिकार्ड। दो सालों में की थी एक अरब डालर से अधिक की कमाई
यौन उत्तेजना को बढ़ाने वाली दवा वियाग्रा को आने के साथ ही खूब सफलता मिली। लांच होने के पहले तीन महीने में ही अमेरिका में तीस लाख लोगों को डाक्टरों ने वियाग्रा लेने की सलाह दी थी। वियाग्रा की लोकप्रियता ऐसी थी कि इसकी पूरी दुनिया में बिक्री शुरू होने से पहले ही यह ब्लैक मार्केट द्वारा इजरायल, पोलैंड, साऊदी अरब में दवा की वास्तविक कीमत की अपेक्षा पांच गुना से अधिक कीमत पर बिक रही थी। उस समय वियाग्रा की कीमत लगभग दस डालर थी।
यूरोप में यह दवा आफिसियल रूप से सितंबर,1998 में लांच हुई थी। लांच होने के बाद दो साल के अंदर ही वियाग्रा की वार्षिक कमाई एक अरब डालर के ऊपर निकल गई थी। एक अनुमान के अनुसार लांच होने के दस सालों के अंदर 2008 तक में पूरी दुनिया में लगभग साढ़े तीन करोड़ से अधिक पुरुषों ने इसका उपयोग कर लिया था।
viagra no sex tonic
Virendra Bahadur Singh
On July 3, a 25-year-old youth died of a heart attack in Nagpur. In the police investigation, Viagra pills were found from the pocket of the youth. Police suspect that the young man died of a heart attack due to an overdose of Viagra while having a relationship with a girlfriend in a hotel. On June 4, due to an overdose of Viagra in Prayagraj, Uttar Pradesh, erection ie sexual arousal ie pain for hours. A 28-year-old young man was shocked by two surgeries. This young man, who got married a few months ago, started taking Viagra overdose on the advice of friends.
Both these incidents show that people do not know much about the sky colored tablet i.e. Viagra. In general, Viagra is considered a drug to increase sex power. While this is not the absolute truth. So let’s know what does this medicine do in the body? About the misinformation associated with it and also about its fun discovery.
Pfizer was making heart medicine, accidentally made impotence medicine
In 1989, the team of American pharmaceutical company Pfizer was working on making a drug to treat angina ie heart disease. Angina is a condition in which the veins that supply blood to the heart constrict, causing chest pain and shortness of breath. Pfizer developed a new compound called sildenafil and tested it on several men. Sildenafil failed to relieve heart pain in clinical trials. In such a situation, Pfizer decided to close the project. Whereas in all the trials a different effect was seen on the men involved.
Most of the men in the trial experienced sexual arousal from this drug, which improved their sex life. That is, the drug that Pfizer was making for the proper flow of blood in the heart, did that work for the veins of the penis. Started. The company got a patent for this drug in 1996. In 1997, he applied for a license to the US Food and Drug Administration (FDA).
On March 27, 1998, the FDA approved a drug called sildenafil for medical use. The brand name of Sildenafil is Viagra. In April 1998, the drug Viagra, which cures male impotence, reached medical stores in America.
Viagra is used to increase sexual ability
Actually, the use of Viagra increases blood flow in the penis. Because of which there is an erection, that is, excitement in it. The truth is that 70-80 percent of men’s sexual problems are mental. Such people should not take Viagra. Those who have serious problems, it is advisable to take Viagra. A man died after taking Viagra in Nagpur and a man in Prayagraj suffered from excruciating pain for hours. According to doctors, taking an overdose of 100 dw of Viagra from the medical store or black market is responsible for such cases. Normally doctors recommend taking 20-25 doses of Viagra.
how to get arousal in men by taking viagra
The idea behind making Viagra was to increase the flow of blood to the heart muscles by releasing nitric oxide. Nitric oxide relaxes the muscles in the body. By relaxing the muscles, the flow of blood increases. This chemical is released naturally in the body during sexual stimulation, which increases the flow of blood to the pineal muscles. This leads to sexual arousal ie erection. Eating Viagra increases nitric oxide in the body. While it affects the pineal muscles more than the heart. Because of this, taking Viagra increases the sexual arousal of men.
Most people consider Viagra to be a tonic, there are many confusions in the minds of people about it.
According to medical experts, Viagra is not a tonic. Viagra also does not increase a person’s desire for sex. There is no desire to have sex by taking it. It also does not affect impotence. It is also wrong that Viaga produces stimulation in a loose penis. Viagra only helps those who have a sexual arousal, but it does not last long, which is necessary for a satisfactory sexual intercourse. Viagra does not stop pregnancy. It also does not stop the spread of sexually transmitted diseases like HIV. Experts believe that people think of Viagra as a party drug. While this thinking is completely wrong. In general, doctors recommend taking a dosage of 25 to 30 dw. Do not take more than one tablet of Viagra in a day. The young man from Prayagraj had taken 250 doses of Viagra in a single day. This is 8 times more than the normal dosage. Due to overdose of Viagra, a young man from Prayagraj had a problem called khddbdschbhdv. In this condition, the erection remains in the penis for a long time, due to which there is a lot of pain. Once treated, a man can become impotent forever. Experts believe that the government should make strict rules regarding the sale of Viagra, as well as make the chemist responsible for selling it.
Viagra broke all records as soon as it was launched. Earned more than one billion dollars in two years
Viagra, a drug that enhances sexual arousal, had a lot of success with the advent. In the first three months of its launch, 3 million people in the US were advised by doctors to take Viagra. Such was the popularity of Viagra that even before it went on sale worldwide, it was sold through the black market in Israel, Poland, Saudi Arabia for more than five times the actual price of the drug. At that time the cost of Viagra was about ten dollars.
This drug was officially launched in Europe in September 1998. Within two years of its launch, Viagra’s annual earnings exceeded one billion dollars. According to an estimate, by 2008, within ten years of its launch, more than 35 million men all over the world had used it.

Advertisement

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

कल वे कहेंगे कि देश में कोविड-19 से कोई मौत नहीं हुई-सत्येंद्र जैन

admin

कैथल वासियों को ऑक्सीजन मिलेगी स्थानीय अस्पताल  में 1 मिनट में 1000 लीटर

atalhind

वी ऑल आर लाइक ए फैमिली मेंबर्स: एसएमओ डॉ नीरू

admin

Leave a Comment

%d bloggers like this:
URL