AtalHind
चण्डीगढ़  हरियाणा

हरियाणा विधानसभा बजट-सत्र का दूसरे चरण –  संतुष्ट मनोहर सरकार ,असंतुष्ट  रहा विपक्ष 

हरियाणा विधानसभा बजट-सत्र का दूसरे चरण –  संतुष्ट मनोहर सरकार ,असंतुष्ट  रहा विपक्ष 

चंडीगढ़ (Atal Hind)
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा वित्तमंत्री के रूप में 8 मार्च को विधानसभा में प्रस्तुत किए गए वर्ष 2022-23 के 1,77,255.99 करोड़ रुपये के बजट को 75 विधायकों की आठ तदर्थ कमेटियों ने डिमांड पर राय शुमारी कर अपनी रिपोर्ट सदन में सौंप दी है। हरियाणा गठन के बाद पहली बार ऐसा हुआ है जब लोकसभा की तर्ज पर इस प्रकार की व्यवस्था अपनाई गई है।हरियाणा विधानसभा बजट-सत्र दूसरे चरण की कार्यवाही सोमवार को एक बार फिर शुरू हुई। हरियाणा प्रदेश में अवैध खनन और पिछले दिनों हुए डाडम हादसे को लेकर विधानसभा में विपक्ष कांग्रेस की ओर से खासा हंगामा किया गया, इतना ही नहीं मंत्री मूलचंद शर्मा के जवाब से असंतुष्ट विपक्ष ने जमकर शोरगुल किया इस दौरान नेता विपक्ष भूपेंद्र हुड्डा और बाकी विधायकों ने सीबीआई जांच की मांग उठाई व एक बार वॉकआउट भी किया।इनेलो विधायक अभय चौटाला ने भी सवाल खड़े किए, इस दौरान उनकी समय को लेकर विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता से तीखी बहस व नोकझोंक भी हुई।


इस दौरान मुख्यमंत्री मनोहरलाल खुद जवाब दे रहे थे, साथ ही उन्होंने कहा कि पारदर्शी सिस्टम तैयार करने, राज्य को राजस्व ज्यादा से ज्यादा दिलाने को लेकर वे संकल्पबद्ध हैं। पूरे मामले में तीन-तीन कमेटियां जांच कर रही हैं, इसलिए फिलहाल उनकी जांच का इंतजार करना होगा।कुल मिलाकर मंत्री और सीएम के जवाब से असंतुष्ट विपक्ष ने वॉकआउट कर दिया।

The budget of Rs 1,77,255.99 crore for the year 2022-23 presented by Haryana Finance Minister Manohar Lal as Finance Minister on March 8, 2022, was presented in the House by eight ad-hoc committees of 75 MLAs. has given.

Advertisement

इसके अतिरिक्त अवैध खनन में लिप्त पाए जाने वालों के खिलाफ एफआईआर आज भी दर्ज की जा रही हैं। वित्तीय वर्ष 2019-20 में 2020 वाहन पकड़े गए, 21.65 करोड़ रुपये जुर्माना लगाया गया और 211 एफआईआर दर्ज की गई। वहीं वित्त वर्ष 2020-21 में 3515 वाहन पकड़े गए, 82.77 करोड़ रुपये जुर्माना लगाया गया और 539 एफआईआर दर्ज की गई। वित्त वर्ष 2021-22 में 2192 वाहन पकड़े गए, 29.40 करोड़ रुपये जुर्माना लगाया गया और 977 एफआईआर दर्ज की गई।
This is the first time after the formation of Haryana that such a system has been adopted on the lines of Lok Sabha.

किरण चौधरी और मंत्री जेपी दलाल के बीच में बहस तू-तू, मैं-मैं को लेकर सदन में बाकी विधायक हंसते रहे। इस दौरान किरण चौधरी को फील्ड में जाने की नसीहत देते रहे कृषि जेपी दलाल, तो किरण चौधरी ने कहा कि ये मात्र ट्विटर और सोशल मीडिया के मंत्री हैं। जेपी दलाल ने भी किरण चौधरी पर घर में बैठकर राजनीति करने का आरोप लगाया।
शुरुआत की कार्यवाही के दौरान एक घंटे तक प्रश्नकाल चला। जिसमें विधायकों ने अपने अपने इलाकों के बिजली, पानी, कृषि उपज, मंडियों स्वास्थ्य केंद्रों से जुड़े मामले उठाए व मंत्रियों ने जवाब दिए। सदन में विपक्ष की ओर से प्रदेश के अंदर अवैध खनन और डाडम हादसे को लेकर ध्यानाकर्षण लगाए गए थे। इसमें भारत भूषण बतरा, आफताब अहमद, गीता भुक्कल, सुरेंद्र पंवार, जगबीर सिंह मलिक, बिशनलाल, रेणुबाला आदि की ओर से अवैध खनन का मामला उठाया गया था। डाडम हादसे में हुई पांच मौतों और नियमों के विरुद्ध खुदाई के आरोप लगाते हुए नेता विपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा, आफताब अहमद, किरण चौधरी सभी ने अच्छा खासा शोरगुल और हंगामा किया।

Advertisement
Advertisement

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

कैथल पुलिस को इंमरजैंसी रिस्पॉस विहिक्ल के रुप में अलॉट हुई 22 ईनोवा गाडिय़ां

admin

हरियाणा में प्रेम विवाह , गर्भपात , आप्रकृतिक संबंध, धोखा,  पीड़िता ने काटा बवाल

admin

ओम प्रकाश चौटाला पर लगी  6 साल तक चुनाव ना लड़ने वाली पाबंदी कम या पूरी तरह की जाए खत्म ,चुनाव आयोग में हस्तक्षेप याचिका दायर

admin

Leave a Comment

%d bloggers like this:
URL