AtalHind
टॉप न्यूज़ हरियाणा

हरियाणा के निजी स्कूल RTI के दायरे में आए : हाईकोर्ट के आदेश, देनी होगी मांगी गई जानकारी

हरियाणा के निजी स्कूल RTI के दायरे में आए : हाईकोर्ट के आदेश, देनी होगी मांगी गई जानकारी
गुडग़ांव(ATAL HIND)हरियाणा प्रदेश के सभी निजी स्कूलों पर अब जन सूचना अधिकार कानून लागू होगा। शिक्षा अधिनियम 134-ए के तहत गरीब वर्ग के छात्रों को निजी स्कूलों में दाखिला दिलाने के मिशन में जुटे वरिष्ठ अधिवक्ता कैलाश चंद का कहना है कि पहले कोई भी आमजन निजी स्कूलों पर आरटीआई एक्ट के तहत कोई सूचना मांगते थे तो निजी स्कूल यह जवाब देते थे कि वे आरटीआई एक्ट के अधीन नहीं है। इसलिए सूचना देने से मना कर देते थे।
यह मामला राज्य जन सूचना आयुक्त के समक्ष उठाया गया तो आयुक्त ने स्पष्ट किया है कि प्रदेश के सभी निजी स्कूल जन सूचना अधिकार कानून के तहत सूचना देने के लिए बाध्य हैं और ऐसा ही एक मामला वर्ष 2019 में पंजाब एंड हरियाणा उच्च न्यायालय पहुंचा था जिस पर न्यायालय ने आदेश दिया था कि प्रदेश की सभी सोसाइटी जन सूचना अधिकार के दायरे में आती हैं और सभी निजी स्कूल सोसाइटियों के अधीन चल रहे हैं और उसी आधार पर निजी स्कूल भी जन सूचना अधिकार के तहत सूचना देने के लिए बाध्य हैं।
निजी स्कूलों ने उच्च न्यायालय के इस आदेश को चुनौती दी थी। उनका कहना है कि जिस पर लगभग 6 माह पहले उच्च न्यायालय ने राज्य सरकार को निर्देशित किया था कि ऐसे मामलों में निजी स्कूलों पर सख्त कार्रवाई न की जाए। इस मामले में गत दिवस उच्च न्यायालय में सुनवाई हुई। अधिवक्ता का कहना है कि उच्च न्यायालय ने निजी स्कूलों की याचिका को डिस्पोज ऑफ कर दिया जिस पर निजी स्कूलों ने अपनी याचिका वापस ले ली और उसी आधार पर अब निजी स्कूल आरटीआई के दायरे में शामिल हो गए हैं। अब कोई भी व्यक्ति किसी भी निजी स्कूल से संबंधित सूचना आरटीआई एक्ट-2005 के तहत ले सकता है। निजी स्कूल सूचना देने से मना नहीं कर सकते।
Advertisement

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

गुहला-चीका के 487 लाभार्थी को 10 करोड़ 70 लाख रुपए की राशि खुद के मकान बनाने के लिए दी गई 

admin

हरियाणा में 21 व पंजाब में 163 वर्तमान और पूर्व सांसद-विधायकों पर चल रहे है केस

admin

मणिपुर: ‘गोबर से कोविड का इलाज न होने’ की बात कहने के चलते जेल में डाले गए पत्रकार रिहा

admin

Leave a Comment

%d bloggers like this:
URL