AtalHind
क्राइम टॉप न्यूज़

Hariyana में 682 गिरफ्तार, 494 एफआईआर दर्ज

एक्शन में दिखी हरियाणा पुलिस

बदमाशों व अवैध गतिविधियों के खिलाफ चला ’ऑपरेशन आक्रमण‘

विशेष अभियान के तहत 

हरियाणा में 682 गिरफ्तार, 494 एफआईआर दर्ज

अवैध हथियार और नशा भी बरामद

चंडीगढ़, 19 जुलाई(atalhind) हरियाणा पुलिस द्वारा विशेष अभियान ‘ऑपरेशन आक्रमण‘ के तहत बदमाशों, उद्घोषित अपराधियों, बेल जंपर्स को काबू करने सहित अवैध हथियारों एवं शराब की धरपकड़ सहित मादक पदार्थों की तस्करी पर शिकंजा कसने के लिए समस्त प्रदेश में व्यापक स्तर पर छापेमारी की गई।

सभी जिलों में एक साथ चले इस विशेष अभियान में आईपीसी, एनडीपीएस और आर्म्स एक्ट की संबंधित धाराओं के तहत 494 एफआईआर दर्ज कर 682 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। यह एक दिवसीय अभियान अवैध हथियारों पर रोक लगाने, अपराधियों और असामाजिक तत्वों को सलाखों के पीछे डालने और राज्य से नशीली दवाओं के खतरे को खत्म करने के उदेश्य से चलाया गया।

हरियाणा के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी)  प्रशांत कुमार अग्रवाल ने जानकारी देते हुए बताया कि विभिन्न जिलों से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार लगभग 5000 पुलिस कर्मियों की 616 टीमों ने प्रदेश में कई स्थानों पर रेड की। इन छापेमारी के दौरान 6 मोस्ट वांटेड अपराधी और 10 अन्य बदमाश पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए। इसके अतिरिक्त, रेडिंग टीमों ने 58 उद्घोषित अपराधियों और 28 बेल जंपर्स को काबू करने में भी कामयाबी हासिल की। काबू किए गए ये बदमाश या तो फरार चल रहे थे या दर्ज कई मामलों में वांछित थे।

इसी प्रकार आर्म्स एक्ट के तहत गिरफ्तार आरोपियों के कब्जे से 42 अवैध हथियार और 39 कारतूस बरामद किए गए। साथ ही पुलिस टीमों ने 380 ग्राम अफीम, 75.58 ग्राम स्मैक, 47.8 ग्राम हेरोइन, 31.618 किलो चूरा पोस्त, 60.42 किलो गांजा और 194 ग्राम चरस भी बरामद की।

शराब तस्करों पर नकेल कसते हुए पुलिस ने 1884 बोतल देशी शराब, 123 बोतल अंग्रेजी शराब, 112 बोतल बीयर और 1029 लीटर लाहन जब्त किया।

डीजीपी ने बताया कि पुलिस टीमों द्वारा अवैध गतिविधियों, उपकरणों और अन्य पदार्थों की जांच के लिए प्रदेश के जेल परिसरों में भी छापेमारी की गई। विशेष अभियान का आंकलन करते हुए, हरियाणा के डीजीपी ने इसे अपराधियों के खिलाफ पुलिस की कड़ी कार्रवाई और आम जनता के बीच कानून के शासन में विश्वास पैदा करने की दिशा में एक कदम बताया। उन्होंने कहा कि भविष्य में भी इस तरह के विशेष अभियान जारी रहेंगे।

682 arrested, 494 FIRs registered as part of special drive against illegal activities by Haryana Police
Haryana Police has conducted a series of coordinated raids as a part of special drive ‘Operation Akraman’ to arrest criminals, proclaimed offenders, bail jumpers and to unearth illicit arms and liquor as well as narcotic substances throughout the state.
In this special drive, 494 FIRs were registered and 682 accused were arrested under relevant sections of IPC, NDPS and Arms Act. The drive was carried out to put a check on illegal weapons, put the criminals and anti-social elements behind bars and eradicate the drug menace from the state.
Disclosing the information, Director General of Police (DGP) Haryana Sh. P.K. Agrawal informed that according to the reports received from different districts, approx. 5000 police personnel in 616 teams raided a number of locations. During these raids, police teams arrested 6 most wanted criminals and 10 other offenders. In addition, the raiding teams have also managed to nab 58 proclaimed offenders and 28 bail jumpers. They were either absconding or wanted in several offenses registered against them across the state.
Similarly, 42 illegal firearms and 39 cartridges also seized from the possession of accused arrested under the Arms Act. The raiding teams have also recovered 380 gram opium, 75.58 gram smack, 47.8 gram heroin, 31.618 kg poppy husk, 60.042 kg ganja and 194 gram charas seized.
Cracking down on bootleggers, the teams confiscated 1884 bottles of country-made liquor, 123 bottles of Indian Made Foreign Liquor, 112 bottles of beer and 1029 litres of lahan.
The DGP said that Police had also conducted raids in jail premises across the state to check unlawful activities, devices and other substances. Assessing the special drive, DGP Haryana found it to be of great deterrent value for criminals and a step towards instilling confidence in the rule of law amongst the general public. He added that such special drives will continue in the future as well.

Advertisement

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

पेहवा के एकमात्र हार्ट अस्पताल के स्टाफ का कारनामा,

admin

हरियाणा के निजी स्कूल RTI के दायरे में आए : हाईकोर्ट के आदेश, देनी होगी मांगी गई जानकारी

atalhind

DAP के लिए अपराधियों की तरह हुई किसानों की वैरिफिकेशन

admin

Leave a Comment

%d bloggers like this:
URL