AtalHind
क्राइम (crime)टॉप न्यूज़

 जीन्द में बडी वारदात होने से टली,पुलिस कर्मचारियों पर चलाई गोली हिरासत से अपने साथी को छुडवाने आए थे अपराधी।

 जीन्द में बडी वारदात होने से टली,पुलिस कर्मचारियों पर चलाई गोली हिरासत से अपने साथी को छुडवाने आए थे अपराधी।
सी.आई.ए स्टाफ के कर्मचारियों पर चलाई गोली, दो काबू पिस्तोल, 5 कारतूस, एक गाडी व करीब आधा किलो मिर्ची पाउडर सहित पकडे गये आरोपी।
23 सितम्बर, जींद (सन्नी मग्गू)
जीन्द पुलिस के सीआईए स्टाफ की टीम ने एक बडी वारदात को होने से बचा लिया है। जेल में बन्द एक अपराधी को उसके अन्य साथी हथियारों से लैस होकर आये थे जिसकी सूचना सीआईए स्टाफ जीन्द को मिली जिसने बिना समय गवाये मौके पर पहुंच कर आरोपियों को काबू किया। दो आरोपियों को 2 अवैध पिस्तोल सहित काबू किया गया है।पुलिस अधीक्षक जीन्द वसीम अकरम ने जानकारी देते हुए बताया कि निरीक्षक अनूप सिंह के नेतृत्व में सीआईए स्टाफ जीन्द की टीम अपराधों की रोकथाम के लिए गोहाना रोड नजदीक अदालत परिसर पर मौजूद थे एएसआई सुरेन्द्र सिहं को गुप्त सूचना मिली कि विनय वासी राजपुरा भैण जो हत्या के आरोप में जिला जेल जीन्द में बन्द है जो पुलिस की गार्द कस्टडी में लेकर सरकारी हस्पताल जीन्द में दवाई दिलवाने के लिए आयेगी। जिसे छुडवानें के लिए विनय के साथी प्रदीप वासी सिसाय, धर्मेद्र उर्फ जौन्दा वासी फरमाणा बादशाहपुर, अंकित वासी सिसाय, राहुल उर्फ बाडी वासी ब्राहम्णवास, पवित्र वासी बीबीपुर व बिटटू अपनी गाडी नम्बर स्वीफट डिजायर व कुछ अन्य साथी मोटर साईकिल पर सवार होकर सरकारी हस्पताल के पास रैकि कर रहे है। जैसे ही विनय सरकारी हस्पताल में आऐगा उसके साथी पुलिस की आंखों में मिर्ची पाउडर व असलों से हमला करके अपने साथी को छुडवाने के लिए तैयार हैं। जब सीआईए स्टाफ की टीम सरकारी हस्पताल के पास पहुची तो उन्हे एक गाडी स्वीफ्ट गेट के पास खडी दिखाई दी जिसमें कुछ लडके सवार थे। जैसे ही पुलिस की गार्द विनय को लेकर सरकारी हस्पताल में दाखिल हुई तो गाडी में बैठे तीन-चार लडके विनय को छुडवाने लिए आगे बढे तभी पुलिस ने उन्हे पकडने की कोशिश की तो गाडी में बैठे 2/3 लडके गाडी से उतर कर भागने लगे जिन्हे सीआईए की टीम ने पकडने की कोशिश की उनमें से एक लडके ने पिस्तोल से पुलिस पार्टी पर गोली चला दी गोली एएसआई अशोक के पास से निकल गई जिससे वह बाल-बाल बच गया। इस दौरान टीम ने 2 अभियुक्तों को अवैध असला सहित काबू किया है।उन्होने बताया कि इस पूरे घटना क्रम को अन्जाम देने की योजना पवीत्र, अंकित व राहुल उर्फ बोडी ने बनाई थी व हथियारों का ईंतजाम किया था। आरोपियों ने गाडी को रोहतक से किराए पर लिया था जिसमें ये घटना को अन्जाम देने के लिए आये थे। काबू किए गये आरोपियों की पहचान प्रदीप उर्फ दीपा वासी कालीरामन व धमेन्द्र उर्फ जौन्दा वासी फरमाना बादशाहपुर के रूप में हुई है आरोपियों के कब्जे से दो पिस्तोल 32 बोर 5 जिन्दा कारतूस व करीब आधा किलों मिर्ची पाउडर बरामद किए हैं। इसके अलावा आरोपियों से एक गाडी व एक मोटर साईकिल भी बरामद किया है। अन्य आरोपियों की गिरफतारी के लिए तीन टीमों का गठन किया गया है जो जल्द ही आरोपियों को गिरफतार करेंगी। राहुल उर्फ बोडी पहले से 2 मुकदमे लूट और हत्या के प्रयास के दर्ज है अन्य आरोपियों का भी रिकार्ड खंगाला जाएगा। इस मामले के मुख्य आरोपी विनय पर कुल 8 मुकदमें विभिन्न धाराओं केे खिलाफ दर्ज है। टीम के सदस्य- एएसआई सुरेन्द्र, एएसआई मनोज कुमार, एएसआई नरेश कुमार, एएसआई अशोक कुमार, एएसआई जलौरा सिहं, मुख्य सिपाही संजय, ईन्द्रपाल, सिपाही जितेन्द्र, मोहित, दिनेश, व प्रदीप।
Advertisement

Related posts

  आज नहीं तो कल पटौदी बनेगा डिस्ट्रिक्ट-जरावता

editor

Election 2024-भारत के भविष्य की लड़ाई   बेरोजगारी और महंगाई इस चुनाव में बहुत बड़े मुद्दे 

editor

ओम प्रकाश चौटाला पर लगी  6 साल तक चुनाव ना लड़ने वाली पाबंदी कम या पूरी तरह की जाए खत्म ,चुनाव आयोग में हस्तक्षेप याचिका दायर

admin

Leave a Comment

URL