AtalHind
कैथल (Kaithal)क्राइम (crime)टॉप न्यूज़हरियाणा

कलायत के गाँव कुराड़ में 7 वर्षीय नाबालिग बच्ची  को जलाकर मारा,दुष्कर्म कर हत्या की आशंका

कलायत के गाँव कुराड़ में 7 वर्षीय नाबालिग बच्ची  को जलाकर मारा,दुष्कर्म की आशंका
शनिवार से लापता 7 वर्षीय बच्ची का रविवार घनी झाडिय़ों में मिला अधजला शव
Advertisement
आरोपी को पूछताछ के लिए लिया हिरासत में
एसपी मकसूद अहमद के कड़ी कार्रवाई के आश्वासन पर माने ग्रामीण

 

अटल हिन्द संवाददता /तरसेम सिंह
Advertisement
7-year-old minor girl burnt to death in Kurad village of Kalayat, fear of rape
7-year-old minor girl burnt to death in Kurad village of Kalayat, fear of rape
कलायत/कैथल 
खंड के गांव कुराड़ में शनिवार से लापता 7 वर्षीय मासूम बच्ची की बाबा डेरा के पास घनी झाडिय़ों मे अधजली लाश मिलने से क्षेत्र में सनसनी फैल गई। परिजनों और ग्रामीणों द्वारा शनिवार शाम से ही लडक़ी की खोजबीन की जा रही थी। मासूम बच्ची के लापता होने का पता चलते ही एसपी मकसूद अहमद के निर्देश पर गांव को पुलिस छावनी में तबदील कर दिया गया था तथा लापता बच्ची की खोजबीन के लिए ग्रामीणों व पुलिस द्वारा गांव में चप्पे चप्पे पर तलाशी अभियान चलाया गया।
रविवार दोपहर करीब 2.30 बजे ग्रामीणों द्वारा सूचना दी गई कि गांव में मौजूद  डेरा के पास झाडिय़ों में लडक़ी की अधजली लाश मिली है। सूचना मिलते ही एसपी मकसूद अहमद व डीएसपी सज्जन कुमार भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और उनके द्वारा फोरेंसिक टीम को सूचित किया गया। पुलिस द्वारा शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया।
Advertisement

 

 

इस दौरान ग्रामीणों द्वारा पुलिस प्रशासन पर समय रहते कार्रवाई न करने के आरोप लगाए। ग्रामीणों का कहना था कि समय रहते अगर पुलिस द्वारा बच्ची की खोजबीन कर नाकाबंदी की जाती तो शायद उसे बचाया जा सकता था और आरोपियों को भी पकड़ा जा सकता था।
7-year-old minor girl burnt to death in Kurad village of Kalayat, fear of rape
7-year-old minor girl burnt to death in Kurad village of Kalayat, fear of rape
बच्ची के परिजनों ने बताया कि शनिवार बाद दोपहर करीब 3 बजे उनकी मासूम बच्ची शौच जाने की कहकर घर से निकली थी। शाम 5 बजे तक वह घर नहीं पहुंची तो उनके द्वारा 112 नंबर पर डायल किया गया तथा पुलिस को सूचना दी गई। ग्रामीणों के सहयोग से परिजन द्वारा पूरी रात बच्ची की खोजबीन की गई और अलग-अलग रास्तों पर पहरे भी लगाए गए लेकिन बच्ची का रातभर तलाश के बावजूद कोई सुराग नहीं लग पाया।
Advertisement

 

 

 

 

 

 

एक घंटे तक नहीं उठाने दिया शव:
मासूम का शव झाडिय़ों में मिलने की खबर सुनते ही सैकड़ों की संख्या में परिजन व ग्रामीण मौके पर एकत्रित हो गए और पुलिस को करीब एक घंटे तक शव उठाने नहीं दिया गया और ग्रामीण और परिजन मौके पर ही आरोपी को सजा दी जाने की मांग पर अड़ गए। एसपी मकसूद अहमद द्वारा मौके पर ग्रामीणों को मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाने व हर एंगल से गहनता से जांच कर हत्या में शामिल को जल्द गिरफ्तार करने व कड़ी से कड़ी सजा का आश्वासन देने के बाद शांत किया गया तब जाकर कहीं ग्रामीणों ने मासूम बच्ची के शव को ले जाने पर सहमति जताई ।
7-year-old minor girl burnt to death in Kurad village of Kalayat, fear of rape
7-year-old minor girl burnt to death in Kurad village of Kalayat, fear of rape
बोर्ड द्वारा किया जाएगा बच्ची के शव का पोस्टमार्टम: एसपी
एसपी मकसूद अहमद ने कहा कि बच्ची को जिस प्रकार से जलाकर मारा गया है वह घिनौना कार्य है। उन्होंने बताया कि ग्रामीणों के साथ साथ डीएसपी सज्जन कुमार की अगुवाई में पुलिस के दर्जनों कर्मी भी बच्ची की तलाश में लगे हुए थे। मेडिकल बोर्ड द्वारा शव का पोस्टमार्टम करवाया जाएगा। पुलिस द्वारा दुष्कर्म सहित अन्य सभी एंगल से जांच की जाएगी। गांव में सीसीटीवी कैमरे की जांच के आधार पर पूछताछ के लिए एक युवक को भी हिरासत में लिया गया। उन्होंने कहा कि हत्या में चाहे कोई भी शामिल हो उसके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

 

 

 

 

 

आक्रोशित ग्रामीणों ने की शिव मंदिर में महापंचायत:
शनिवार से लापता बच्ची की रात भर खोजबीन के बाद कहीं कोई सुराग नहीं मिलने पर पुलिस प्रशासन से खफा ग्रामीणों द्वारा रविवार सुबह करीब 10 बजे शिव मंदिर में महापंचायत की गई। पंचायत में हाइवे को जाम करने की चेतावनी दी गई। उसके कुछ देर बाद एसपी मकसूद अहमद, तहसीलदार सुदेश रानी, डीएसपी सज्जन कुमार भारी पुलिस बल के साथ गांव कुराड पहुंचे और एसपी द्वारा परिजनों और ग्रामीणों को बच्ची का जल्द पता लगाने का आश्वासन दिया गया।
Advertisement
Advertisement

Related posts

निजी अंगों पर हुआ हमला- प्रदर्शन कर रहीं कार्यकर्ता

atalhind

कैथल नागरिक घबराएं नहीं जरूरत के सभी संसाधन खुले है ,किसी भी प्रकार की सहायता के लिए अधिकारी मौजूद ,फोन नंबर भी दिए है  -डीसी 

admin

भारत में 47 लाख लोगों की जान गई: डब्ल्यूएचओ

atalhind

Leave a Comment

URL