AtalHind
टॉप न्यूज़ लाइफस्टाइल

चूड़ियां बर्बाद कर सकती हैं आपका वैवाहिक जीवन, पहनने से पहले रखें इन बातों का खास ध्यान

Vastu Shastra: चूड़ियां बर्बाद कर सकती हैं आपका वैवाहिक जीवन, पहनने से पहले रखें इन बातों का खास ध्यान

Vastu Shastra : हिन्दू धर्म में महिलाओं के लिए 16 श्रृंगार का खास महत्व होता है। तीज-त्योहार में चूड़ियां महिलाओं की खूबसूरती में चार चांद लगाती हैं। इसे सौभाग्य का प्रतीक भी माना जाता है। माना जाता है कि, चूड़ियां ना सिर्फ महिलाओं के श्रृंगार के काम आती हैं, बल्कि स्वास्थ्य और मानसिक दशा को भी ठीक रखती हैं। इस बदलते दौर में व्यक्ति अपने पहनावे से मिलती-झूलती चीजों को धारण करता है। धार्मिक मान्यता के अनुसार, महिलाओं के चूड़ी पहनने का संबंध उनके पति के स्वास्थ्य से जुड़ा होता है। एक विवाहित महिला को किस रंग की चूड़ी पहनने से बचना चाहिए, इन्हें कब और किस दिन धारण करना शुभ माना जाता है, कैसे ये हमारे जीवन पर असर डालती हैं। तो आइए जानते हैं चूड़ियों से जुड़ी इन सभी बातों के बारे में…
कोई भी नई चूड़़ी पहनने से पहले मां गौरी को जरुर समर्पित करें। ऐसा करने से आपका वैवाहिक जीवन खुशहाल रहता है और पति के जीवन से जुड़ी सभी बाधाएं दूर होती हैं। वहीं नई चूड़ियां सुबह या शाम को ही पहननी चाहिए। शास्त्रों के अनुसार, महिलाओं को मंगलवार और शनिवार के दिन चूड़ियां नहीं खरीदनी चाहिए। इस दिन चूड़ी खरीदना अशुभ होता है। ऐसा करने से इसका असर आपके पति के जीवन पर पड़ता है और उसे दुर्भाग्य को बुलावा देता है। चूड़ियां स्वयं और पति के मानसिक स्वास्थ्य और शांति को भी बढ़ाती हैं। अगर दिन की बात करें तो कांच की नई चुड़ियां पहनने के लिए सबसे अच्छा दिन रविवार और शुक्रवार को माना जाता है।
चूड़ियां गोल होने के कारण बुध और चंद्रमा का प्रतीक हैं। कांच की चूड़ियों को पवित्र और शुभ माना जाता है। कहा जाता है कि, कांच की चूड़ियां पहनने और उससे आने वाली आवाज से आसपास की नकारात्मक ऊर्जा नष्ट होती है। मान्यता है कि, कांच की चूड़ियां पहनने से बुधदेव की कृपा होती है और कुंडली में शुभता बनी रहती है। वहीं अगर आप सोने की चूड़ियां धारण करती हैं तो इसके साथ में कांच की चूड़ियां जरुर पहनें। वहीं विवाहित महिलाओं को सफेद और काले रंग की चूड़ियां नहीं पहननी चाहिए। इनके लिए इस रंग की चूड़ियां अशुभ मानी जाती हैं, क्योंकि इस रंग की चूड़ियां बुरी किस्मत लेकर आती हैं और इसका नकारात्मक असर आपके पति पर दिखायी देता है। इसे पहनने से बुरी बला को न्यौता देना होता है। अविवाहित होने पर आप किसी भी रंग की चूड़ियां पहन सकती हैं। कलाई पर जब चूड़ियां आपस में टकराती हैं तो इससे रक्त संचार में वृद्धि होती है। ब्लड प्रेशर को बढ़ने की संभावना को कम करने में मदद मिलती है।

Latest News, पॉलिटिकल, मनोरंजन, खेल, करियर, धर्म और अन्य खबरों के लिए Facebook, Youtube, Google News, से जुड़ें और Twitter पर फॉलो करें

Advertisement

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

हरियाणा के पटौदी में  बदमाशों का तांडव, एक ही रात में तीन परिवारों पर बोला हमला

admin

दीपेंद्र हुड्डा खुद की करा रहे पब्लिसिटी

atalhind

कैथल प्रशासन बताएगा क्या खबर दिखानी है क्या नहीं ,जनहित  में है या  नहीं ,सोशल मीडिया ,न्यूज पोर्टल पर भी खबर दिखाने ,चलाने पर पाबंदी 

atalhind

Leave a Comment

%d bloggers like this:
URL