AtalHind
गुरुग्रामटॉप न्यूज़हरियाणा

चाइनीस कंपनी इकोग्रीन की दादागिरी कूड़े करकट से भरे ट्रक खाली करने को भेजे हेली मंडी डंपिंग यार्ड

Heli Mandi dumping yard sent to evacuate trucks full of garbage
Heli Mandi dumping yard sent to evacuate trucks full of garbage
चाइनीस कंपनी इकोग्रीन की दादागिरी कूड़े करकट से भरे ट्रक खाली करने को भेजे हेली मंडी डंपिंग यार्ड
बड़ा सवाल किसके कहने और किसके इशारे पर यह ट्रक भेजे गए
इकोग्रीन के पास गुरुग्राम निगम क्षेत्र का कूड़ा एकत्रित करने का ठेका
क्या अब ठेका गुरुग्राम शहर का कूड़ा करकट हेली मंडी में डालने का
एमएलए एडवोकेट सत्य प्रकाश जरावता के संज्ञान में लाया गया मामला
लोकल बॉडी कमिश्नर चंडीगढ़ से बात कर बैरंग लौटाए गए सभी ट्रक

 

AtalHind/फतह सिंह उजाला
गुरुग्राम/पटौदी । हरियाणा (haryana)के खजाने में सबसे अधिक राजस्व देने वाले शहर गुरुग्राम नगर निगम(Gurugram Municipal Corporation) के द्वारा कूड़ा करकट उठाने और कूड़ा करकट को बधवाडी या अन्य डंपिंग यार्ड साइट पर डालने का ठेका दिया हुआ है ।
चाइनीस कंपनी इकोग्रीन(Chinese company Ecogreen) कूड़ा करकट उठाने और डालने के मामले को लेकर हमेशा से विवादों में रही है। कुछ दिन पहले भी एनजीटी सहित अन्य पर्यावरण विभाग के अधिकारियों के द्वारा गुरुग्राम में डंपिंग यार्ड साइट का दौरा सहित मुआयना किया गया था।

 

लेकिन अचानक नवगठित पटौदी मंडी नगर परिषद के हेली मंडी (Heli Mandi)नगर पालिका इलाके के मिर्जापुर रोड पर मौजूद डंपिंग यार्ड में मंगलवार दिन ढले अचानक कूड़ा करकट से लोड कई ट्रक गुरुग्राम नगर निगम के हेली मंडी डंपिंग यार्ड में कूड़ा करकट डालने के लिए पहुंच गए ।
जैसे ही स्थानीय निवासियों में ओमप्रकाश ,सतीश कुमार, दीपक , राहुल , सिद्धू , आकाश सहित अन्य ने यह देखा कि गुरुग्राम नगर निगम लिखे इकोग्रीन कंपनी के कूड़े करकट से लोड ट्रक हेली मंडी डंपिंग यार्ड में कूड़ा करकट डालने के लिए पहुंचे हैं । तो बिना देरी किए यह बात आसपास के लोगों सहित कॉलोनी में रहने वाले बाशिंदों के बीच भी पहुंच गई ।

 

Advertisement
सबसे पहले इस मामले की जानकारी हमारे संवाददाता को मिली और मौके पर पहुंचे गुरुग्राम नगर निगम के कूड़े करकट से लोड ट्रक के फोटो इत्यादि कैमरे में कैद कर सभी ट्रकों के नंबर भी नोट किए गए।
कूड़े करकट से भरे ट्रक खाली करने को भेजे हेली मंडी डंपिंग यार्ड
कूड़े करकट से भरे ट्रक खाली करने को भेजे हेली मंडी डंपिंग यार्ड
स्थानीय लोगों के मुताबिक ट्रक चालकों के द्वारा बार-बार पूछने पर भी यह नहीं बताया गया कि आखिर गुरुग्राम नगर निगम के इको ग्रीन कंपनी वाले कूड़े करकट से भरे हुए यह ट्रक अचानक हेलीमंडी डंपिंग यार्ड किसके इशारे या फिर किसके कहने पर लाए गए हैं ?
इसके बाद इस घटनाक्रम की पूरी जानकारी पटोदी क्षेत्र के एमएलए एडवोकेट सत्य प्रकाश जरावता के संज्ञान में लाई गई तथा मौके पर मौजूद गुरुग्राम नगर निगम के इको ग्रीन कंपनी वाले कूड़े करकट से लोड ट्रकों के फोटो उन तक पहुंचाए गए ।
इसके बाद में बिना देरी किए पटौदी के एमएलए एडवोकेट सत्य प्रकाश जरावता के द्वारा स्थानीय निकाय विभाग के निदेशक से चंडीगढ़ बात की गई और हेली मंडी में चोरी-छिपे कूड़ा करकट इस प्रकार डालने के विषय में जानकारी देते हुए क्षेत्र की जनता की तरफ से विरोध जाहिर किया गया ।
इसके साथ ही उन्होंने स्थानीय विभाग के उच्च अधिकारियों से यह भी कहा कि हेली मंडी डंपिंग यार्ड में जितने भी ट्रक गुरुग्राम नगर निगम के इको ग्रीन कंपनी वाले हेली मंडी में कूड़ा करकट खाली करने के लिए पहुंचे हैं , इन सभी ट्रकों को बिना देरी किए वापस लौटाया जाए ।

 

गौरतलब है कि पटौदी मंडी नगर परिषद के हेलीमंडी नगर पालिका क्षेत्र में बने हुए डंपिंग यार्ड साइट का तथा यहां डाले जा रहे कूड़े करकट को जलाने के अलावा फैलने वाली बदबू के कारण बीमारियों को जन्म देने वाले जीवाणुओं और कीटाणुओं को देखते हुए स्थानीय अनुसूचित वर्ग के लोगों को सबसे अधिक समस्या का सामना करना पड़ रहा है ।
वहीं आसपास बनी कॉलोनी के लोग भी कूड़े करकट की बदबू सहित यहां पनप रहे मक्खी मच्छरों के द्वारा विभिन्न प्रकार की बीमारियां फैलाने से आतंकित हैं ।
मंगलवार को गुरुग्राम नगर निगम के लिए इको ग्रीन कंपनी के द्वारा कूड़ा करकट एकत्रित करने वाले ट्रक एचआर 55 एच एल 6391, एचआर 55 ए जे 9709, एचआर 55 एजे 2864 पहुंचे थे । स्थानीय निवासियों के मुताबिक इन तीन ट्रकों के अतिरिक्त एक ट्रक एच आर 55 आर 1782 बीते करीब 1 सप्ताह से कूड़े करकट से भरा हुआ , यहां हेलीमंडी डंपिंग यार्ड परिसर में खाली किया जाने के लिए खड़ा हुआ है ।

 

मंगलवार को जैसे ही हेली मंडी डंपिंग यार्ड (dumping yard)के आसपास के रहने वाले नागरिकों को इस बात का पता लगा कि गुरुग्राम नगर निगम के लिए कूड़ा करकट एकत्रित कर बंधवाड़ी या अन्य डंपिंग यार्ड साइट पर डालने का ही ठेका दिया गया है और इको ग्रीन कंपनी के ट्रक अचानक चोरी-छिपे हेली मंडी डंपिंग यार्ड में कूड़ा डालने के लिए लाए गए ।
यह सब जानकारी मिलते ही सीजनल बीमारियां फैलने को देखते हुए स्थानीय निवासियों में गुरुग्राम नगर निगम सहित गुरुग्राम नगर निगम के अधिकारियों के खिलाफ जबरदस्त नाराजगी और गुस्सा भी बना देखा गया।
अनेक स्थानीय निवासियों ने सवाल किया आखिर किस अधिकारी और किस नेता के कहने पर या फिर जवाब में गुरुग्राम नगर निगम के लिए एकत्रित किए जाने वाले कूड़ा करकट से लोड इको ग्रीन कंपनी के यह ट्रक हेली मंडी डंपिंग यार्ड में भेजे गए हैं ।
इस बात की हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री, हरियाणा के मुख्यमंत्री, स्थानीय स्वशासन मंत्री, गुरुग्राम के डीसी , मेयर , पटौदी के एसडीएम तथा पटौदी के एमएलए एडवोकेट सत्य प्रकाश जरावता को जनता के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ करने का दुस्साहस करने वालों के इस दबंग पने की जांच अवश्य करवानी चाहिए ।
स्वच्छ माहौल में रहना और स्वस्थ रहना यह आम नागरिक का मूलभूत सहित मौलिक अधिकार भी है फिर आखिर ऐसे क्या कारण और किस प्रकार का प्रशासनिक या राजनीतिक जवाब रहा ? जो गुरुग्राम नगर निगम क्षेत्र के कूड़ा करकट से इको ग्रीन कंपनी के लोड ट्रक हेली मंडी डंपिंग यार्ड में खाली करने के लिए भेजे गए।

 

Advertisement
इस पूरे घटनाक्रम पर पटौदी के एमएलए एडवोकेट सत्य प्रकाश जरावता ने पत्रकार का आभार सहित धन्यवाद व्यक्त करते हुए कहा जितना जल्दी यह मामला उनके संज्ञान में लाया गया , बिना देरी किए स्थानीय स्वशासन विभाग के निदेशक सहित अन्य अधिकारियों से बात कर गुरुग्राम नगर निगम क्षेत्र से एकत्रित कूड़ा करकट से यार्ड इको ग्रीन कंपनी के ट्रकों को हेली मंडी से बैरंग वापस भेजने का काम किया गया ।
उन्होंने कहा आम लोगों का स्वास्थ्य और स्वच्छ माहौल सहित शुद्ध पर्यावरण में रहना मूलभूत और मौलिक अधिकार है गुरुग्राम नगर निगम के पास कूड़ा करकट डालने के लिए पर्याप्त स्थान उपलब्ध है । गुरुग्राम नगर निगम का कूड़ा करकट गुरुग्राम नगर निगम के कमिश्नर नगर निगम मेयर को पहले से निर्धारित डंपिंग यार्ड में ही डलवाना चाहिए ।

 

उन्होंने कहा पटौदी क्षेत्र में इस प्रकार से दूसरे किसी नगर निगम या अन्य स्थानीय स्वशासन विभाग के कूड़ा करकट को डाला जाना बिल्कुल भी स्वीकार नहीं । इतना ही नहीं हेली मंडी क्षेत्र के पर्यावरण को कूड़ा करकट इत्यादि डालकर दूषित करने का भी प्रयास को बिल्कुल भी कामयाब नहीं होने दिया जाएगा ।
गुरुग्राम नगर निगम और इको ग्रीन कंपनी के कूड़ा करकट से लोड ट्रक हेलीमंडी डंपिंग यार्ड से वापस जाने के बाद ही स्थानीय निवासियों के द्वारा राहत की सांस ली गई । इसके साथ ही साफ शब्दों में चेतावनी दी गई है , यदि भविष्य में इस प्रकार का दुस्साहस किया गया तो उसके फिर बेहद गंभीर परिणाम भी हो सकते हैं । इस प्रकार के कार्य के लिए जवाबदेही गुरुग्राम नगर निगम सहित निगम के अधिकारियों और जिला प्रशासन की भी रहेगी।
Advertisement

Related posts

हरियाणा के ‘जुगाड़ी कर्मचारी’ मुख्यमंत्री के ‘राडार’ पर हैं, अगर कहीं गड़बड़ी मिली तो बख्शने के मूड में भी नहीं हैं।

admin

हरियाणा में 82888 ट्यूबवेल कनेक्शन फाइलें बिजली विभाग में पेंडिग

atalhind

2022 में नहीं बना, 2047 में बनेगा भारत महान, ट्रिलियन ट्रिलियन की रेवड़ियों से सावधान

atalhind

Leave a Comment

%d bloggers like this:
URL