AtalHind
कैथल (Kaithal)टॉप न्यूज़

कैथल डीसी संगीता तेतरवाल जी आदेश देने से कुछ नहीं होता ,कभी आम नागरिक बनके ,ऑटो रिक्शा ,पैदल ,साइकिल से शहर में निकलना , असलियत पता लग जाएगी , अफसर हो आदेश दे सकते हो लेकिन ग्राउंड जीरो पर कार्यवाही करेगा कोण

कैथल डीसी डॉ. संगीता तेतरवाल जी आदेश देने से कुछ नहीं होता ,कभी आम नागरिक बनके

,ऑटो रिक्शा ,पैदल ,साइकिल से शहर में निकलना , असलियत पता लग जाएगी ,

अफसर हो आदेश दे सकते हो लेकिन ग्राउंड जीरो पर कार्यवाही करेगा कोण

शहर में कहीं भी नजर नहीं आना चाहिए कूड़ा-कर्कट
रात के समय शहर में सभी स्थानों पर लाइट जलती नजर आनी चाहिए
खराब लाइटों को तुरंत प्रभाव से ठीक करवाएं नगर परिषद के अधिकारी
आवारा पशुओं के कारण रहता है दुर्घटना घटने का अंदेशा : डीसी डॉ. संगीता तेतरवाल
डीसी डॉ. संगीता तेतरवाल ने माता गेट, डोगरा गेट, प्रताप गेट, चंदाना गेट, सीवन गेट, रेलवे गेट तथा कोठी गेट सहित शहर के विभिन्न स्थानों का किया औचक निरीक्षण
जानी लाईट व्यवस्था, कचरा प्रबंधन और सफाई व्यवस्था की स्थिति

कैथल, 9 जून (अटल हिन्द /राजकुमार अग्रवाल ): डीसी डॉ. संगीता तेतरवाल रात के समय शहर के औचक निरीक्षण पर निकली। कहीं कूड़ा-कर्कट में आवारा पशु मुंह मारते दिखे तो कहीं लाईट बंद पड़ी मिली। चंदाना गेट पर गंदगी का आलम देखते ही उपायुक्त ने तुरंत गाड़ी रूकवाई। वहां गंदगी के ढ़ेर में पशु टहलते दिखे। मौके पर उपस्थित नगर परिषद के ईओ पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि ये क्या हो रहा है। सफाई व्यवस्था का हाल बुरा है। आगामी एक सप्ताह के अंदर-अंदर शहर में कहीं भी कूड़ा-कर्कट और कचरा नजर नहीं आना चाहिए।
औचक निरीक्षण के दौरान उपायुक्त ने कई स्थानों पर स्ट्रीट लाईटें जलती नजर नहीं आई। कई स्थानों पर खंभों पर लगे बेस लटके दिखाई दिए तो उपायुक्त जब नीम साहिब गुरूद्वारा के आसपास औचक निरीक्षण कर रही थी तो वहां पर लाइट या तो खराब थी, या फिर उन पर बल्व नहीं लगे हुए थे। चारों तरफ अंधेरे का आलम था। उपायुक्त ने ईओ नगर निगम को कहा कि ये क्या हो रहा है। यदि रात को बहू-बेटियों को यहां से निकलना पड़े तो उनको परेशानी हो सकती है। लाईटें एक सप्ताह के अंदर-अंदर पूरी तरह से दुरूस्त दिखाई देनी चाहिए। पूरा शहर जगमग नजर आना चाहिए। जहां लाईट खराब है, तुरंत ठीक करवाएं और जिन स्थानों पर एलईडी नहीं लगी हुई है, तुरंत प्रभाव से लगाई जाए। किसी भी लापरवाही के लिए संबंधित अधिकारी जिम्मेदार होंगे।
उपायुक्त सबसे पहले कमेटी चौक पहुंची, वहां से माता गेट, सीवन गेट से होते हुए डोगरा गेट प्रताप गेट, चंदाना गेट पर पहुंची। वहीं पर उन्होंने देखा कि गौवंश सड़कों पर घूम रहे हैं और साथ पड़े कचरे में भी मुंह मार रहे हैं।  मौके पर ही चंदाना गेट के संदीप ने शिकायत की कि मैडम जी यहां सफाई नाम की कोई चीज नही। गौवंश आपस में लड़ते रहते हैं और कई बार तो दुकानों और घरों में अंदर चले जाते हैं। इसलिए कचरा समय पर उठवाने की व्यवस्था करवाएं। उपायुक्त ने शालीनता से जवाब देते हुए कहा कि मैं इसलिए तो औचक निरीक्षण कर रही हूं। यदि आपके इलाके में एक सप्ताह के अंदर सफाई नहीं हो तो तुरंत मुझे कार्यालय में आकर बताना।
उपायुक्त जब शहर का दौरा कर रही थी तो करीब-करीब सभी स्थानों पर गोवंश और आवारा पशु घूमते नजर आए। उपायुक्त ने नगर परिषद के ईओ कुलदीप मलिक को कहा कि आपने गौवंश प्रबंधन का कहां इंतजाम किया है और यदि किया है तो यह सड़कों पर क्यों घूम रहे हैं। ईओ ने कहा कि भैणी माजरा के पास नगर परिषद की करीब 17 एकड़ जमीन है, वहां पर नंदीशाला बनाई हुई है। खाली जगह पर चारा उगाया जाता है, लेकिन जगह कम होने के कारण पूरे गोवंश को रखने में दिक्कत आ रही है। इस पर डीसी ने कहा कि बीडीपीओ के पास पंचायती क्षेत्र में गौ चरांद की जमीनें उपलब्ध हैं, वहां पर सैड बनाकर अतिरिक्त व्यवस्था की जाए और कार्य धरातल पर नजर आना चाहिए।
बॉक्स:
डीसी डॉ. संगीता तेतरवाल ने शहर के लोगों विशेषकर दुकानदारों से अपील की कि वे दुकानों या घरों से कूड़ा कर्कट निकालकर सड़क पर न रखें, बल्कि नगर परिषद का जो वाहन कूड़ा उठाने के लिए आता है, उसमें डाल दें। सभी संबंधित लोग डस्टबीन रखें, ताकि कहीं भी बदबू न फैले और वातावरण स्वच्छ रहे। इसी विषय को लेकर ईओ को भी निर्देश दिए कि वे मुख्य स्थानों पर बड़े डस्टबिन की व्यवस्था करें और प्रतिदिन उठान के कार्य को भी अमलीजामा पहनाएं।

Advertisement

Related posts

उधर रामदेव ने ब्यान वापिस क्या लिया अनिल विज का ‘कोरोनिल किट’,के लिया जागा प्यार    

admin

राजनीतिक दलों की आय चुनावी बॉन्ड आने के बाद अज्ञात स्रोतों से बढ़कर कुल आय का 72% हुई: रिपोर्ट

editor

अमेरिकी पत्रकार को दिल्ली एयरपोर्ट से वापस भेजा गया

atalhind

Leave a Comment

URL