Atal hind
कैथल टॉप न्यूज़ हरियाणा

पेंडिंग फाईलों का करें निपटारा :  प्रदीप दहिया

आमजन को पहुंचाए समय पर योजनाओं का लाभ, पेंडिंग फाईलों का करें निपटारा :  प्रदीप दहिया
सरल, ई-ऑफिस, सक्षम व अप्रेंटिसशिप को लेकर की गई समीक्षा बैठक, दिए आवश्यक दिशा-निर्देश
कैथल, 14 सितंबर (अटल हिन्द/राजकुमार अग्रवाल )

उपायुक्त प्रदीप दहिया ने कहा कि सरल पोर्टल के माध्यम से विभिन्न सरकारी सेवाओं का लाभ आमजन तक समय सीमा में प्रदान करें, ताकि लोगों को किसी भी प्रकार की समस्या से जूझना नहीं पड़े। सेवा का अधिकार अधिनियम के अंतर्गत सभी विभाग अपने कार्यालयों के बाहर 10 अक्टूबर तक योजनाओं का फलैक्स लगाएं तथा मुख्य विभाग फ्लैक्स के साथ-साथ टच स्क्रीन भी लगाए। उच्च अधिकारियों द्वारा भविष्य में चैकिंग भी करवाई जाएगी। सभी अधिकारी सकारात्मकता से लोगों की समस्याएं सुने।

उपायुक्त प्रदीप दहिया मंगलवार को लघु सचिवालय स्थित ईवीएम वेयरहाउस में सरल, ई-ऑफिस, सक्षम व अप्रेंटिसशिप की समीक्षा बैठक के दौरान अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दे रहे थे। उन्होंने प्रथम सरल पोर्टल की समीक्षा के दौरान कहा कि आमजन को सभी योजनाओं के बारे में पूर्ण जानकारी होनी चाहिए और इसमें सबसे ज्यादा भूमिका फ्लैक्स की होगी, जिससे उन्हें स्कीम के बारे में जानकारी मिल सकेगी। समय-समय पर विभागों द्वारा जागरूकता शिविर भी जाएं। कोई भी व्यक्ति फाइल निकालने के दौरान नकारात्मक विचार नहीं रखें और सकारात्मकता से लंबित फाइलों का निपटान करें।
अधिकारी समय पर ही सेवाओं का लाभ प्रदान कर दें तो उन्हें कहीं शिकायत के लिए नही जाना पड़ेगा। यदि किसी भी अधिकारी को तकनीकी समस्याएं आ रही है तो वे सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग से संपर्क कर सकता है। इसके अलावा कॉमन सर्विस सैंटर संचालकों का जल्द प्रशिक्षण करवाया जाएगा।

इस मौके पर उपमंडलाधीश संजय कुमार, नवीन कुमार, वीरेंद्र ढुल, नगराधीश अमित कुमार, आरटीए सत्यवान सिंह मान, डीएमसी कुलधीर सिंह, डीएसपी कुलवंत सिंह, अधीक्षक अभियंता बीएस रंगा, सीएमजीजीए शिवांगी तिवारी, जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी जसविंदर सिंह, सिविल सर्जन जयंत आहूजा, जिला शिक्षा अधिकारी अनिल शर्मा, डीआईओ दीपक खुराना के अलावा अन्य विभागों के अधिकारी भी मौजूद रहे।

बॉक्स- ई-ऑफिस के अंतर्गत फाईलों का करें ऑनलाईन मूवमेंट, भविष्य में आनी चाहिए प्रगति : डीसी प्रदीप दहिया
उपायुक्त प्रदीप दहिया ने ई-ऑफिस की समीक्षा बैठक के दौरान कहा कि सभी अधिकारी अपने-अपने विभागों में फाईलों की मूवमेंट ऑनलाईन करना सुनिश्चित करें और इस कार्य में कोई भी अधिकारी व कर्मचारी ढिलाई नहीं बरतें। जिन विभागों की तरफ से अच्छा कार्य नहीं किया जा रहा है, उन्हें रेड जोन में रखा गया है। ऐसे विभागाध्यक्षों को उपायुक्त प्रदीप दहिया ने कहा कि अपने कार्य में सुधार करें, नहीं तो लिखित में जवाब मांगा जाएगा। हालांकि राज्य स्तर पर ई-ऑफिस स्कोर में ंकैथल 12वें नंबर पर है। कैथल का स्कोर 4.1 है। इसमें सुधार करते हुए बेहत्तर कार्य करें।

Advertisement

बॉक्स: अक्टूबर में आने वाले शेड्यूल के तहत विभाग लगाएं प्रशिक्षु  : डीसी प्रदीप दहिया
डीसी प्रदीप दहिया अप्रेंटिसशिप योजना की समीक्षा करते हुए कहा कि अक्टूबर माह में आईटीआई पास युवाओं को अप्रेंटिस पर रखें। इस योजना के अंतर्गत टेक्निकल युवाओं को प्रशिक्षण पर रखा जा सकता है, जिससे विभागों में स्टाफ की कमी भी पूरी हो जाती है। ये प्रशिक्षु एक वर्ष के लिए रखे जाते हैं और कार्यालय के कार्य में काफी सहयोग मिलता है। सभी अधिकारी अपने-अपने विभागों में कार्यरत सभी कर्मचारियों के अंतर्गत 10 प्रतिशत प्रशिक्षु लगा सकते हैं। यह सरकार की महत्वाकांक्षी योजना है, जो विभाग इसकी अनदेखी करेगा, वह स्वयं इसका जिम्मेदार होगा। इस स्कीम का पालन नियमानुसार अति जरूरी है।

बॉक्स: सक्षम योजनाओं के तहत बच्चों की शिक्षा में लाएं सुधार : डीसी प्रदीप दहिया
डीसी प्रदीया दहिया ने शिक्षा विभाग की सक्षम योजना की समीक्षा करते हुए कहा कि इस योजना के तहत बच्चों के लर्निंग लेवल में सुधार लाने की कोशिश करें। सक्षम हरियाणा योजना के अंतर्गत बच्चों को उनकी कक्षा के अनुसार उनके ज्ञान में वृद्धि करने के कार्य में अपना अपेक्षित सहयोग दें। जिला में 604 स्कूलों के 1 लाख 25 हजार विद्यार्थियों के बेसिक लेवल सुधारने हेतू योजना के अंतर्गत कार्य किया जा रहा है। अभी सक्षम योजना में जिला राज्य स्तर पर 4 स्थान पर है। बैठक में ई-विद्यालय के तहत एजुसेट, अवसर एप, दीक्षा व समीक्षा एप, रजिस्ट्रेशन के अलावा ई-पीटीएम, मेगा सर्वे आदि पर फीड बैक ली और संबंधित अधिकारी को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

डीआईपीआरओ कार्यालय के टीएएस लखबीर सिंह हुए सेवानिवृत

admin

मणिपुर: ‘गोबर से कोविड का इलाज न होने’ की बात कहने के चलते जेल में डाले गए पत्रकार रिहा

admin

शीर्ष अदालत ने कहा कि वह प्रेस की स्वतंत्रता को कुचलना नहीं चाहती है.द वायर को अंतरिम सुरक्षा प्रदान की

atalhind

Leave a Comment

%d bloggers like this:
URL