Atal hind
जींद टॉप न्यूज़ हरियाणा

हरियाणा बीजेपी विधायक का सच बोलना की जींद के अधिकारियों से उग्रवादी अच्छे -महंगा तो नहीं पड़ जाएगा

हरियाणा बीजेपी विधायक का सच  बोलना की  जींद के अधिकारियों से उग्रवादी अच्छे -महंगा तो नहीं पड़ जाएगा
ये क्या जींद के अधिकारियों से उग्रवादी अच्छे -बीजेपी विधायक

 

जींद(अटल हिन्द संवाददाता )जींद के भाजपा विधायक डॉ. कृष्ण मिड्ढा विकास कार्यों को गति प्रदान करने के लिए लेकर लगातार प्रयास कर रहे हैं लेकिन अधिकारी हैं कि अपनी मनमानी के चलते इन विकास कार्यों को गति प्रदान नहीं कर रहे हैं। वीरवार को शहर की सड़कों की दुर्दशा को लेकर उन्होंने अधिकारियों को फटकार लगाई और कहा कि जींद के अधिकारियों से अच्छे तो उग्रवादी हैं जो कम से कम कहीं विस्फोट करने के बाद अपनी जिम्मेदारी तो ले लेते हैं
लेकिन ये अधिकारी तो उनसे भी बुरे आदमी हैं। बाकायदा यह बात उन्होंने मुख्यमंत्री मनोहर लाल से भी कही है और अब तो उन्हें खुद शर्म आ रही है की वो इन अधिकारियों के ऊपर विधायक हैं। उन्होंने स्पष्ट किया कि विकास कार्यों को लेकर अधिकारियों द्वारा लगातार बरती जा रही लापरवाही को मुख्यमंत्री के संज्ञान में लाया जाएगा।
गौरतलब है कि इस समय शहर की सड़कों का बहुत बुरा हाल है। आए दिन शहर के लोग सड़क, सीवरेज व अन्य समस्याओं को लेकर विधायक के पास पहुंच रहे हैं। शुक्रवार को इन्हीं शिकायतों के संदर्भ में विधायक डा. कृष्ण मिड्ढा शहर के दौरे पर निकले। सबसे पहले वो आस्था अस्पताल के निकट मिनी बाईपास का निरीक्षण किया। यहां सड़क धंसने को लेकर उन्होंने बीएंडआर, जनस्वास्थ्य विभाग, सिंचाई विभाग तथा शहरी निकाय के अधिकारियों से जवाब-तलबी की।
सभी अधिकारी सड़क धंसने को लेकर एक-दूसरे पर जिम्मेदारी थोपने लगे। उन्होंने अधिकारियों से पूछा कि लाखों रुपए खर्च कर बनाई गई सड़क धंसी कैसे। इसके लिए कौन जिम्मेदार है। वहीं मिनी बाइपास से स्कीम नंबर पांच, छह को जोड़ने वाले रास्ते का भी रहा।
जिसे सीवरेज पाइप लाइन डालने के लिए उखाड़ा गया है। रास्ता बाधित होने के कारण लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। आसपास के लोगों ने भी विधायक के सामने अपनी बात रखी। जिस पर विधायक ने मौके पर मौजूद अधिकारियों को फटकार लगाई और तीन दिन में जेड़ी सात पर सड़क का निर्माण करवाए जाने की बात कही।
विधायक डा. कृष्ण मिड्ढा ने कहा कि अमरूत योजना के कार्यों की जांच को लेकर विधानसभा कमेटी ने दौरा किया। जिसमें साफ  तौर पर लापरवाही सामने आई। इसकी रिपोर्ट तैयार कर विस अध्यक्ष को सौंप दी गई। रिपोर्ट में साफ  तौर पर अधिकारियों को जिम्मेदार ठहराया गया है।
जिसके चलते उन पर गाज गिरनी भी लगभग तय है। वो शहर को विकास के मामले में आगे ले जाना चाह रहे हैं लेकिन अधिकारी उनका साथ नहीं दे रहे हैं। सरकार ने जींद के विकास को लेकर कोई कोर कसर नहीं छोड़ी है लेकिन अधिकारियों की लापरवाही के चलते विकास योजनाएं सिरे नहीं चढ़ पा रही हैं। अब इस मामले की शिकायत सीएम मनोहर लाल से की जाएगी।

Advertisement

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

भूपेंद्र हुड्डा ने कांग्रेस हाईकमान को “झुकाने” के लिए फिर खेला प्रेशर पॉलिटिक्स का “दांव”

admin

महिलाओं की दो टूक प्लाट का जल्द मिले कब्जा नहीं तो बीडीपीओ ऑफिस में ही बसेरा

atalhind

खुद को सुप्रीम कोर्ट और केंद्र सरकार से ऊपर समझ रही खट्टर सरकार,परिवार पहचान पत्र पर कोर्ट में घेरे में खट्टर सरकार

admin

Leave a Comment

%d bloggers like this:
URL