AtalHind
जींदटॉप न्यूज़हरियाणा

चेयरमैन को वित्तीय शक्तियां नहीं दी गई तो सामूहिक रूप से इस्तीफा देंगे

चेयरमैन को वित्तीय शक्तियां नहीं दी गई तो सामूहिक रूप से इस्तीफा देंगे- डॉक्टर राज सैनी
जींद में अपनी ही पार्टी के खिलाफ बगावत पर उतरे जींद भाजपा नेता
चेयरमैन को वित्तीय शक्तियां नहीं दी गई तो सामूहिक रूप से इस्तीफा देंगे
चेयरमैन को वित्तीय शक्तियां नहीं दी गई तो सामूहिक रूप से इस्तीफा देंगे
जींद, 25 सितंबर 2022(अटल हिन्द ब्यूरो )
भ्राजपा सरकार द्वारा नगर परिषद व पालिका चेयरमैन की शक्तियां कम करने पर चेयरमैन के साथ जींद के पार्षदों में भी रोष है। शनिवार को जींद नगर परिषद की चेयरपर्सन डॉ अनुराधा सैनी के निवास पर पार्षदों की बैठक हुई। इसमें 31 से 25 से अधिक पार्षदों का या उनके प्रतिनिधियों का हिस्सा लेने का दावा किया गया। इन सभी ने एक सुर में फैसला लिया कि यदि सरकार ने चेयरमैन की शक्तियां वापस नहीं दी तो वह चेयरमैन के साथ सामूहिक रूप से इस्तीफा दे देंगे। चेयरपर्सन डॉ अनुराधा सैनी के प्रतिनिधि व उनके ससुर भाजपा जिला महामंत्री डॉ राज सैनी की अध्यक्षता में हुई बैठक में इसमें जजपा नेता व पार्षद प्रतिनिधि मुकेश चहल ने कहा कि सरकार ने शहर की सरकार को बर्बाद करने का जो फैसला लिया है। इससे सभी पार्षदों में रोष है इससे पार्षदों को भी अधिकारी नजरअंदाज करने लगे हैं। उनके कोई काम नहीं हो रहे हैं । वह लोग वार्ड के लोगों के काम लेकर आते हैं लेकिन जब वह काम करवाने के लिए नगर परिषद में जाते हैं तो काम नहीं किए जाते। ऐसे में लोगों के बीच में जो जवाब उनको देना होता है। डॉक्टर राज सैनी ने कहा कि सरकार द्वारा लिए गए फैसले से सभी पार्षदों में रोष है। सभी ने फैसला लिया कि यदि चेयरमैन को वित्तीय शक्तियां नहीं दी जाती है तो सामूहिक रुप से इस्तीफा दे दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि बैठक में 25 से अधिक पार्षद व उन्के प्रतिनिधि शामिल हुए हैं और कुछ पार्षदों ने बाहर होने की बात कहकर भी अपना समर्थन दिया है। दरअसल पिछले दिनों सरकार ने नगर परिषद व नगर पालिकाओं के चेयरमैन की चेक पॉवर छीन ली थी, जिसको लेकर जीद में नगर पालिका व नगर परिषद के चेयरमैनों की सरकार के इस फैसले के खिलाफ बैठक हुई थी और निर्णय हुआ था अगर सरकार ने उन्हें वापिस पॉवर नहीं दी तो वह इस्तीफा दे देगे।
बाक्स-
एक लाख 70 हजार करोड़ का बजट पेश करता हूं, मेरे पास भी नहीं है चेक साइन की पावर-सीएम
नगर परिषद व नगर पालिका के चेयरमैन को नहीं मिलेगी चेक साइन करने की पावर
नगर परिषद व नगर पालिका चेयरमैन को अब चेक साइन करने की पावर नहीं मिलेगी। इस बाबत मुख्यमंत्री ने स्पष्ट कर दिया है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने तो यहां तक कह दिया कि प्रदेश के वितमंत्री होने के नाते वे एक लाख 70 हजार करोड का बजट पारित करते है, लेकिन चेक साइन करने की पॉवर तो उनके पास भी नहीं है। उन्होंने कहा कि सांसद व विधायक भी चैक साइन करने की पॉवर नही है। उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधियों के यह काम नहीं होते,उन्हें विकास कार्यो पर फोकस करना चाहिए। अधिकारी सही या गलत कार्य करेंगे तो वह जिम्मेवार होंगे। अगर अधिकारी गलत कार्य करेंगे तो उनके खिलाफ भी कारवाई होगी। मुख्यमंत्री ने साफ कह दिया कि जनप्रतिनिधि विकास कार्यो पर ध्यान दे। सीएम ने कहा कि जनप्रतिनिधि विकास कार्यो को लेकर प्रस्ताव तैयार कर हाऊस की बैठक में पारित करे और गुणवता के साथ विकास कार्य करवाए।
बाक्स-
सरकार के विरोध में उतरे जींद भाजपा के ही पदाधिकारी
जींद भाजपा के जिला महामंत्री डॉ राज सैनी,जींद भाजपा जिला उपाध्यक्ष व पार्षद सियाराम गोयल व एससी मोर्चा के जिला अध्यक्ष बलवंत सिंहमार ने अपनी ही सरकार को सीधा-सीधा चैलेंज देने के बाद जींद भाजपा पदाधिकारियों ने इस्तीफे देने की भी धमकी दी। अब देखना यह होगा की भाजपा संगठन इन पार्षदों व पदाधिकारियों पर कोई कार्रवाई करेगा यह तो देखने वाली बात होगी।
Advertisement

Related posts

पुलिस -पुलिस खेल रहे थे ,कोर्ट ने करनाल एसपी को क्या तलब किया आरोपी पुलिसकर्मी गिरफ्तार होते ही रिमांड पर 

atalhind

2 गाडिय़ों की हुई भिड़ंत, एक ट्रक-ट्राला भी हुआ दुर्घटनाग्रस्त

admin

नरेंद्र मोदी और बीजेपी के राज में नकली नोटों की भरमार ,ईडी ,सीबीआई ,आप के पीछे पड़ी है ,अदालत धर्म में उलझा दी ,भारत विश्व गुरु बन रहा है ,नकली नोटों के दम  पर 

atalhind

Leave a Comment

%d bloggers like this:
URL