AtalHind
टॉप न्यूज़राजनीतिराष्ट्रीयहरियाणा

ये फोटो आपत्तिजनक टिप्पणी की श्रेणी में आती है ? जो आपको  FIR दर्ज हो गई 

ये फोटो  आपत्तिजनक टिप्पणी की श्रेणी में आती है ? जो आपको  FIR दर्ज हो गई

इस तस्वीर को पोस्ट करने वाले के सोशल मीडिया पत्रकार के खिलाफ DGP ने दिए FIR और गिरफ्तारी के आदेश।


चंडीगढ़ (atal hind )पिछले रविवार सीएम मनोहर लाल करनाल के दौरे पर थे। उस दौरान मुख्यमंत्री अधिकारियों की बैठक ले रहे थे। उसी समय किसी ने ये तस्वीर अपने फेसबुक पर पोस्ट कर दी। वहीं से कॉपी करके ये तस्वीर बिग ब्रेकिंग न्यूज हरियाणा के नाम से बने फेसबुक पेज पर अपलोड कर दी गई और लिख दिया कि जो सोफे पर बैठे है उनकी डिग्रियों का तो पता नहीं लेकिन जो सामने खड़े है वो ईमानदार IAS और IPS अधिकारी है। इस तस्वीर में करनाल के डीसी अनीश यादव और एसपी गंगाराम पुनिया खड़े थे। उसके बाद ये तस्वीर सोशल मीडिया पर बहुत ज्यादा वायरल हो गई। जिसने भी ये तस्वीर पोस्ट की उसे ये पता नहीं है कि ये प्रोटोकॉल है जिसके तहत दोनो अधिकारी सीएम के सामने खड़े है। सोशल मीडिया पर बिना तकनीकी जानकारी के फोटो और पोस्ट डालना आम बात हो गई है। पत्रकार शब्द अपने नाम के साथ जोड़ना आसान है लेकिन अधूरी जानकरी और पत्रकारिता की समझ सभी को नहीं होती।
अब यही अधूरी जानकारी बिग ब्रेकिंग न्यूज हरियाणा के नाम से फेसबुक पेज चलाने वाले के गले की फांस बन गई है। हरियाणा सरकार ने इस पोस्ट को अब जाकर गम्भीरता से लिया है और बिग ब्रेकिंग न्यूज हरियाणा के नाम से बने फेसबुक पेज के संचालक के खिलाफ FIR और गिरफ्तारी के आदेश दिए गए है। डीजीपी हरियाणा के अनुसार ये पोस्ट आपत्तिजनक टिप्पणी की श्रेणी में आती है। हालांकि जानकारी के बाद बिग ब्रेकिंग न्यूज हरियाणा चलाने वाले शख्स का नाम मोनू सैनी बताया जा रहा है जोकि सोनीपत का रहने वाला है और फिलहाल उसकी हरियाणा पुलिस तलाश कर रही है। अखबार में FIR और गिरफ्तारी की खबर के बाद से इस पोस्ट को डिलीट कर दिया गया है। यहां सवाल है कि इस पोस्ट में ऐसा आपत्तिजनक क्या है जिसके लिए आरोपी के खिलाफ FIR और गिरफ्तारी के आदेश दिए जा रहे है। ये पोस्ट गलत डाली जरूर गई है लेकिन मंशा गलत नहीं थी ये सभी समझ रहे है। इसी पोस्ट को हरियाणा और हरियाणा से बाहर भी हजारो लोग ने शेयर, लाइक और पोस्ट किया है तो क्या सबकी गिरफ्तारी नहीं होनी चाहिए क्योंकि आरोप तो सभी पर वही लगेगा जो इस शख्स पर लगा है? पोस्ट गलत थी ये सही है लेकिन ऐसी भी नहीं है कि FIR और गिरफ्तारी के आदेश दिए जाएं। अगर ये तस्वीर पोस्ट करना सचमुच गलत है तो मैं भी कहीं किसी जुर्म का भागीदार तो नहीं बन गया ? देखते है आगे क्या होता है ?

Advertisement

Related posts

भारत में धार्मिक स्वतंत्रता संबंधी मानवाधिकार ख़तरे में हैं: अमेरिकी आयोग

atalhind

हरियाणा सरकार को खोरी गांव के एक लाख निवासियों को क्यों बेदखल नहीं करना चाहिए

admin

मुख्यमंत्री मनोहर लाल का विरोध करने पर साहब, पैरों ही क्यों, हमें छाती पर गोली मारना,बस पीठ पर गोली मत चलाना–किसान 

atalhind

Leave a Comment

%d bloggers like this:
URL